होम सियासी उठापटक
50-minutes-discussion-between-scindia-and-the-prim

मप्र में जारी सियासी उठापटक के बीच सिंधिया और प्रधानमंत्री के बीच हुई 50 मिनट चर्चा, भाजपा से राज्यसभा जा सकते हैं महाराज

मध्य प्रदेश में जारी सियासी उठापटक के बीच मंगलवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। सिंधिया और मोदी के बीच करीब 50 मिनट चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि भाजपा सिंधिया को मध्य प्रदेश से राज्यसभा उम्मीदवार बना सकती है। आज माधवराव सिंधिया की 75वीं जयंती है। माना जा रहा है कि इस मौके पर ज्योतिरादित्य कोई बड़ा ऐलान कर सकते हैं। दिग्विजय सिंह ने कहा कि जब तक सिंधियाजी का कोई बयान सामने नहीं आ जाता, मैं कुछ भी नहीं कहूंगा।  आगे पढ़ें

amidst-political-turmoil-bhind-police-started-inve

सियासी उठापटक के बीच भिंड पुलिस ने अटेर विधायक की खोजबीन की शुरू, बड़े भाई से की पूछताछ

अटेर विधायक अरविंद सिंह भदौरिया पिछले कुछ समय से गायब बताए जा रहे हैं, जिससे कमलनाथ सरकार की धड़कनें बढ़ी हुई हैं। प्रदेश में चल रहे सियासी ड्रामे के बीच बताया जा रहा है कि अटेर विधायक भदौरिया कांग्रेस के कुछ विधायकों को अपने साथ लिए हुए हैं। ऐसे में उनकी सही लोकेशन पता करने के लिए भिंड पुलिस ने अचानक शनिवार की शाम मीरा कॉलोनी स्थित उनके आवास पर दबिश दी। जहां विधायक और उनके भाई देवेंद्र नहीं मिले। ऐसे में सीएसपी आनंद राय ने उन्हें फोन लगाया। देवेंद्र भदौरिया ने बताया कि वे बाजार में खरीदारी कर रहे हैं, तभी सीएसपी राय ने उन्हें दफ्तर में आने के लिए कहा। कुछ देर बाद विधायक के बड़े भाई देवेंद्र सिंह सीएसपी के चैंबर में पहुंचे। करीब 30 मिनट बंद कमरे में उनसे विधायक अरविंद सिंह भदौरिया की लोकेशन के संबंध में पूछताछ हुई।  आगे पढ़ें

the-speaker-will-give-relief-to-cm-swamy-in-a-matt

सियासी उठापटक के बीच स्पीकर ने सीएम स्वामी को दी राहत, 6 दिन में लेंगे विधायकों के इस्तीफे पर फैसला

मंगलवार दोपहर अपना इस्तीफा सौंपने के बाद स्पीकर के दफ्तर से बाहर निकलते हुए बेग ने कहा कि वह बागी विधायकों के साथ नहीं जा रहे हैं। बेग ने कहा, 'मैं मुंबई या दिल्ली नहीं जा रहा हूं। स्टेट हज कमिटी का अध्यक्ष होने के नाते मैं एयरपोर्ट पर तीर्थयात्रियों के इंतजाम का मुआयना करने जा रहा हूं।' रोशन बेग के इस्तीफे ने सत्ताधारी गठबंधन के लिए बहुमत के गणित को और कमजोर कर दिया है। 224 सदस्यों वाली कर्नाटक विधानसभा में दो निर्दलीय विधायक और इकलौते बीएसपी विधायक के समर्थन की बदौलत बीजेपी 108 के आंकड़े तक पहुंच सकती है। बहुमत का जादुई आंकड़ा 113 है। अगर बेग समेत 14 विधायकों के इस्तीफे मंजूर हो जाते हैं तो सदन में कांग्रेस-जेडीएस का संख्याबल घटकर 102 हो जाएगा। जब गठबंधन में बिखराव नहीं था उस वक्त स्पीकर समेत सरकार के साथ 119 विधायक थे। इनमें कांग्रेस के 79, जेडीएस के 37, 2 निर्दलीय और 1 बीएसपी विधायक थे।  आगे पढ़ें

karnaatak-mein-mache-siyaasee-uthaapatak-ke-beech-

कर्नाटक में मचे सियासी उठापटक के बीच घबराई कमलनाथ सरकार, कांग्रेस हुई शतर्क

कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक कर्नाटक में बीजेपी को पता है कि वह सरकार गिराने में कामयाब नहीं हो पाएगी और वे अब मध्य प्रदेश में ऐसी कोशिश कर सकते हैं। कांग्रेस सूत्र का कहना है, 'वे भोपाल में हमें सत्ता से हटाने के के लिए असली ताकत लगाने जा रहे हैं।'  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति