होम संकट
financial-crisis-is-coming-in-giving-5-da-to-emplo

कर्मचारियों को 5 फीसदी डीए देने में वित्तीय संकट आ रहा आड़े, हर माह खर्च होंगे 228.75 करोड़ रुपए

राज्य कर्मचारियों को 5% महंगाई भत्ता (डीए) देने का वादा पूरा करने में सरकार के सामने वित्तीय संकट आड़े आ रहा है। डीए पर हर माह 228.75 करोड़ रु., जबकि सालाना 2745 करोड़ रु. खर्च होते हैं। यदि सरकार चुनावी वचन पत्र में किए वादे को पूरा करने डीए को मंजूर करती है तो उसे एक अप्रैल 2020 तक सिर्फ एरियर पर ही 457 करोड़ रु. खर्च करने होंगे।  आगे पढ़ें

passenger-fares-expected-to-rise-due-to-financial-

वित्तीय संकट के चलते यात्री किराया बढ़ने के आसार, बोर्ड के चेयरमैन ने कहा- माल भाड़ा पहले ही बहुत ज्यादा

वित्तीय संकट के चलते रेलवे में यात्री किराया बढ़ाए जाने की अटकलों के बीच, बोर्ड के चेयरमैन बीके यादव ने भी यात्री किराए की दरों की समीक्षा की बात कही है। गुरुवार को यादव ने कहा- हम यात्री किराए की दरों की समीक्षा करने वाले हैं। माल भाड़ा पहले ही बहुत ज्यादा है। ऐसे में कोई रास्ता निकालना जरूरी है, ताकि हम सड़क की जगह रेलवे के जरिए ज्यादा माल ढुलाई कर सकें। बोर्ड के चेयरमैन यादव ने कहा, रेलवे के 13 लाख कर्मचारियों समेत दूसरे खर्चों पर करीब 2.18 लाख करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं, जबकि रेलवे की आमदनी ही करीब 2 लाख करोड़ रुपए है। आमदनी का 25% हिस्सा केवल पेंशन पर ही खर्च हो रहा है। उन्होंने कहा- अगर वित्त मंत्रालय इसकी व्यवस्था कर दे, तो हमारा आपरेटिंग खर्च आमदनी का 70% रह जाएगा।  आगे पढ़ें

farmers-are-getting-worried-for-two-sacks-of-urea-

दो बोरी यूरिया खाद के लिए किसान हो रहे परेशान, वितरण केन्द्रों पर लगानी पड़ रही घंटों लाइन

मौसम में आए बदलाव के बाद यूरिया की डिमांड अचानक और बढ़ गई है। प्रदेशभर में यूरिया के लिए किसानों को खेती छोड़ सुबह से शाम तक वितरण केंद्रों पर घंटों लाइन में लगना पड़ रहा है। कई स्थानों पर बंदूक के साए में यूरिया बंट रहा है। इसके बावजूद उन्हें पर्याप्त यूरिया नहीं मिल पा रहा है। इसे लेकर किसानों में रोष भी व्याप्त है। यूरिया संकट को लेकर प्रदेश के कुछ शहरों की स्थिति बयां करती तस्वीरें। प्रदेश में ऐसी स्थिति काफी दिनों से बनी हुई है।  आगे पढ़ें

disagree-with-abhijeet-banerjees-idea-of-privatizi

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के निजीकरण के अभिजीत बनर्जी के विचार से असहमत: जयराम रमेश

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने मंगलवार को कहा कि वह नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी के बैंकों को लेकर दिए गए विचार से असहमत हैं। बनर्जी ने कहा था कि सरकार को देश में बैंकिंग संकट से निपटने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का निजीकरण करना चाहिए। उन्होंने देश में बैंकिंग संकट को भयावह करार दिया था। साथ ही इस स्थिति से निपटने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में सरकारी हिस्सेदारी को कम करने की बात कही थी।  आगे पढ़ें

rahul-accused-the-government-of-grabbing-money-fro

राहुल पे सरकार पर आरबीआई का धन हड़पने का लगाया आरोप, कहा- वित्तमंत्री आर्थिक संकट का नहीं ढूंढ़ पा रहीं समाधान

रिजर्व बैंक द्वारा सरकार को राशि दिए जाने पर सीतारमण ने कहा- राहुल को जनता ने माकूल जवाब दिया है। अब इस तरह के शब्दों का दोबारा इस्तेमाल करने का क्या फायदा है? बिमल जालान कमेटी को आरबीआई ने नियुक्त किया था। इसमें विशेषज्ञ थे, जिन्होंने एक रास्ता निकाला और इसी के तहत यह राशि आई। ऐसे में आरबीआई की विश्वसनीयता को लेकर दिया गया कोई भी सुझाव अजीब लगता है। राहुल को इस तरह के आरोप लगाने से पहले अपनी पार्टी से वित्त मंत्री का पद संभालने वालों से सलाह लेनी चाहिए थी। वे तुरंत चोरी के आरोप लगा देते हैं और मैं इस तरह के आरोपों पर ज्यादा ध्यान नहीं देती।  आगे पढ़ें

karnataka-crisis-the-future-of-rebel-mlas-hanging-

खत्म नहीं हुआ कर्नाटक संकट: अधर में लटका बागी विधायकों का भविष्य, ठहराए जा सकते हैं आयोग्य

केंद्रीय नेतृत्व के इशारे का इंतजार बीजेपी सूत्रों ने कहा कि येदियुरप्पा सीएम बनने के लिए केंद्रीय नेतृत्व की स्वीकृति का इंतजार कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि येदियुरप्पा मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के दौरान 5 बागी विधायकों और बीजेपी के 5 एमएलए के साथ शपथ ले सकते हैं। किसी भी सूरत में येदियुरप्पा को असंतोष से जूझना पड़ेगा क्योंकि मंत्री पद के दावेदारों की तादाद बहुत ज्यादा है। कम से कम 30 पूर्व मंत्री हैं। येदियुरप्पा को दो निर्दलीय विधायकों एच नागेश और आर शंकर के लिए भी जगह बनानी होगी। ये दोनों ही विधायक पिछली कुमारस्वामी सरकार में मंत्री थे। शंकर के ऊपर अयोग्य ठहराए जाने की तलवार लटक रही है क्योंकि वह कांग्रेस के सदस्य थे। कांग्रेस के विधान परिषद सदस्य पीआर रमेश कहते हैं, 'बागी विधायकों के सही फार्मेट में इस्तीफा सौंपने से पहले अयोग्य ठहराये जाने वाली याचिकाएं स्पीकर को सौंप दी गई थीं।'  आगे पढ़ें

karnataka-crisis-bjp-and-coalition-strength-majori

कर्नाटक संकट: भाजपा और गठबंधन ने झोंकी ताकत, बहुमत परीक्षण हुआ तो आज गिर जाएगी सरकार

कर्नाटक में राजनीतिक संकट जारी है और बहुमत परीक्षण से पहले कांग्रेस-जेडी(एस) और भारतीय जनता पार्टी कैंप पूरी ताकत झोंक रहे हैं। सत्ताधारी गठबंधन जहां नाराज विधायकों को मनाने की कोशिश तक कर चुका है, वहीं बीजेपी के नेता बिल्कुल आश्वस्त नजर आ रहे हैं कि बहुमत परीक्षण होता है तो कांग्रेस-जेडी(एस) सरकार गिर जाएगी। विधानसभा में सोमवार को बहुमत परीक्षण होने की संभावना भी है।  आगे पढ़ें

karnataka-crisis-supreme-court-decides-on-rebel-le

कर्नाटक संकट: सुप्रीम कोर्ट ने स्पीकर पर छोड़ा बागी विधायकों पर फैसला, सरकार को भी दिया झटका

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, 'हमे इस मामले में संवैधानिक बैलेंस कायम करना है। स्पीकर खुद से फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है। उन्हें समयसीमा के भीतर निर्णय लेने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता।' कर्नाटक सरकार को झटका देते हुए सीजेआई ने कहा, '15 बागी विधायकों को भी सदन की कार्यवाही का हिस्सा बनने के लिए बाध्य न किया जाए।' सीजेआई ने कहा कि इस मामले में स्पीकर की भूमिका एवं दायित्व को लेकर कई अहम सवाल उठे हैं। जिनपर बाद में निर्णय लिया जाएगा। परंतु अभी हम संवैधानिक बैलेंस कायम करने के लिए अपना अंतरिम आदेश जारी कर रहे हैं।  आगे पढ़ें

karnataka-crisis-yeddyurappa-looks-confident-about

कर्नाटक संकट: सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर आश्वस्त दिखे येदियुरप्पा, क्रिकेट खेलते और भजन गाते आए नजर

बता दें कि शहर के बाहरी इलाके में येलाहंका के निकट एक रिजॉर्ट में पार्टी विधायकों को ठहराया गया है। मंगलवार को यहां येदियुरप्पा उनके साथ क्रिकेट खेलते नजर आए। सोशल मीडिया पर साझा की गई तस्वीर में पूर्व सीएम रेणुकाचार्य और एसआर विश्वनाथ तथा अन्य विधायकों के साथ क्रिकेट खेलते दिखाई दे रहे हैं। तस्वीर में उन्हें बल्लेबाजी करते देखा जा सकता है।  आगे पढ़ें

scindia-expressed-concern-over-the-crisis-in-the-c

कांग्रेस में अध्यक्ष को लेकर गहराए संकट पर सिंधिया ने जताई चिंता, कहा-ऐसी स्थिति संगठन में कभी नहीं दिखी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस में अध्यक्ष पद को लेकर गहराए संकट पर चिंता जताई है। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि सात सप्ताह हो चुके हैं लेकिन अध्यक्ष नहीं है। ऐसी स्थिति कांग्रेस संगठन में कभी नहीं दिखी। सिंधिया ने कहा कि पार्टी में अध्यक्ष के रूप में ऐसी शख्सियत को मौका दिया जाना चाहिए जो कांग्रेस में नई ऊर्जा पैदा कर सके। पार्टी का नया अध्यक्ष कौन होगा, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी संयुक्त रूप से निर्णय लेती है। मेरा कहना है कि निर्णय जल्द हो। नए अध्यक्ष का निर्णय जल्दी और संयुक्त रूप से होना चाहिए।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति