होम वीवीएस लक्ष्मण
the-biggest-mistake-of-the-change-in-the-order-of-

धोनी के क्रम में बदलाव करना सबसे बड़ी चूक, पूर्व क्रिकेटरों ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

लक्ष्मण ने कहा, धोनी को पंड्या से पहले बल्लेबाजी के लिए आना चाहिए था। यह रणनीतिक चूक थी। धोनी को दिनेश कार्तिक से पहले भेजा जाना चाहिए था। विश्व कप 2011 के फाइनल में भी वह खुद युवराज सिंह से ऊपर चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आए थे और विश्व कप जीतने में सफल रहे। पूर्व कप्तान गांगुली ने कहा कि केवल धोनी की बल्लेबाजी ही नहीं बल्कि दूसरे छोर से युवा बल्लेबाजों पर उनके कूल अंदाज का भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता। ऋषभ पंत ने अपना विकेट इनाम में दिया जिससे कप्तान विराट कोहली भी बेहद खफा थे और उन्हें कोच रवि शास्त्री के साथ बात करते देखा गया।  आगे पढ़ें

gangulei-ka-khulaasa-bole-lakshman-ke-281-ran-ne-b

गांगुली का खुलासा, बोले लक्ष्मण के 281 रन ने बचाया था मेरा कॅरियर

हैदराबाद के लक्ष्मण ने जब अपनी आत्मकथा लिखने का फैसला किया तो किताब के शीर्षक 281 ऐंड बियोंड के लिए उन्हें अधिक सोच विचार नहीं करना पड़ा। गांगुली ने हालांकि मजाकिया लहजे में कहा कि वह शीर्षक से निराश हैं। किताब के कोलकाता चरण के विमोचन के दौरान गांगुली ने कहा, मैंने एक महीना पहले उसे एमएमएस किया था लेकिन उसे जवाब नहीं दिया। मैंने उसे कहा था कि यह उपयुक्त शीर्षक नहीं है। इसका शीर्षक होना चाहिए 281 ऐंड बियोंड और डेट सेव्ड सौरभ गांगुली करियर।  आगे पढ़ें

lakshman-bole-aastreliya-mein-viraat-kee-teem-jeet

लक्ष्मण बोले: आस्ट्रेलिया में विराट की टीम जीत के सपने को कर सकती है पूरा

वेरी वेरी स्पेशल लक्ष्मण ने एक चैनल से बातचीत में भारत को इस सीरीज जीतने का प्रबल दावेदार बताया। उन्होंने कहा, मैं उम्मीद करता हूं कि मेरा जो सपना पूरा नहीं हुआ, कोहली उसे पूरा करेंगे। इस टीम में क्षमता है। जरूरी है की वह अपनी क्षमताओं के हिसाब से खेले। आॅस्ट्रेलिया को उसके घर पर हराने के लिए पहली पारी में अच्छा प्रदर्शन करना बेहद जरूरी है। पहली पारी में बड़ा स्कोर बनाने से गेंदबाजों को मदद मिलेगी और आप आसानी से मैच जीत सकते हैं।  आगे पढ़ें

lakshman-ne-apana-kaam-kiya-daava-kaha-adiyal-the-

लक्ष्मण ने अपनी किताब में किया दावा: कहा- अड़ियल थे चैपल, टीम चलाने की नहीं थी समझ

लक्ष्मण की आत्मकथा ‘281 एंड बियोंड’ का हाल में विमोचन किया गया जिसमें उन्होंने खुलासा किया है कि आॅस्ट्रेलिया के इस पूर्व कोच के मार्गदर्शन में टीम दो या तीन गुट में बंट गई थी और आपस में विश्वास की कमी थी। लक्ष्मण ने लिखा, ‘कोच के कुछ पसंदीदा खिलाड़ी थे जिनका पूरा ख्याल रखा जाता था जबकि बाकियों पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता था।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति