होम वायु
air-force-chief-said-about-pakistans-tension-army-

पाकिस्तान के तनाव को लेकर वायुसेना प्रमुख ने कहा- सीमा पार से किसी भी हरकत का जवाब देने सेना तैयार

वायु सेना न सिर्फ शत्रु लड़ाकू विमान का जवाब देने के लिए तैयार है बल्कि हम नागरिक एयरक्राफ्ट पर भी नजर बनाए हुए हैं ताकि पुरुलिया जैसी घटना न हो सके। पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में 18 दिसम्बर 1995 को विमान से हथियार गिराए गए थे। भारत सरकार के जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से राज्य में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर दोनों तरफ से भारी गोलीबारी की घटना दर्ज की गई है। पाकिस्तान की तरफ से सीमा पर सैन्य तैनाती की रिपोर्ट आ रही है। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पिछले हफ्ते ही इस गतिविधि को सामान्य बताया था। रावत ने कहा था, हर कोई सुरक्षा को देखते हुए सेना और हथियार की तैनाती करना चाहता है। किसी को भी इसको लेकर चिंतित नहीं होना चाहिए।  आगे पढ़ें

chief-of-defense-staff-army-chief-general-bipin-ra

चीफ आफ डिफेंस स्टाफ: आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत रेस में सबसे आगे?

सूत्रों के मुताबिक एक टॉप लेवल की क्रियान्वन समिति सीडीएस के तौर तरीकों और भूमिका के बारे में नवंबर तक काम करेगी। गौरतलब है कि भारतीय वायुसेना के एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा 30 सितंबर को रिटायर हो रहे हैं और जनरल बिपिन रावत का कार्यकाल 31 दिसंबर को पूरा हो रहा है। सूत्रों ने बताया है कि सीडीएस की रैंक आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के चीफ से ऊपर होगी, भले ही वह उनकी तरह ही 4-स्टार जनरल हो। भविष्य में इसे 5-स्टार जनरल भी किया जा सकता है।  आगे पढ़ें

preparing-to-lift-the-amarnath-pilgrims-trapped-in

कश्मीर में फंसे अमरनाथ यात्रियों को सेना के सी-17 एयरक्राफ्ट से लिफ्ट कराने की तैयारी

सरकार के सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि पहली उड़ान कुछ ही देर में शुरू होने वाली है। सी-17 विमान का संचालन पहले से ही संसदीय सैनिकों को देश के विभिन्न स्थानों तक लाने, ले जाने में किया जा रहा है। यह घाटी में अहतियात के तौर पर किया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर सरकार ने अमरनाथ यात्रियों को एक एडवाइजरी जारी करते हुए उनकी यात्रा में कटौती करके राज्य से बाहर जितनी जल्दी हो सके, चले जाने को कहा है। यह कदम पाकिस्तान में बसे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा अमरनाथ यात्रियों पर किए जाने वाले संभावित हमले की आशंका के चलते उठाया जा रहा है। साथ ही राज्य में सुरक्षाबलों की भीत तैनाती कर दी गई है।  आगे पढ़ें

vice-air-chief-marshal-said-the-combination-of-raf

वाइस एयर चीफ मार्शल ने कहा, वायुसेना में राफेल और सुखोई का मेल दुश्मनों पर बरपाएगा कहर

वायुसेना उपाध्यक्ष ने कहा, राफेल और सुखोई 30 के एक साथ हमले के लिए तैयार होने पर पाकिस्तान 27 फरवरी जैसा जवाबी हमला करने से डरेगा। बालाकोट पर भारतीय वायुसेना की बमबारी के अगले दिन पाकिस्तानी वायुसेना ने भारतीय सीमा में घुसकर जवाबी कार्रवाई की कोशिश की थी लेकिन वह असफल रही थी। एयर मार्शल भदौरिया ने कहा, दोनों लड़ाकू विमानों का संयुक्त कार्रवाई पाकिस्तान ही नहीं दुनिया की किसी भी देश पर भारी पड़ेगी। यह खास तरह की तकनीक वाले लड़ाकू विमानों का समन्वय होगा। तब पाकिस्तान को 27 फरवरी जैसी कार्रवाई के दौरान भारी नुकसान उठाना पड़ेगा। कुछ महीनों बाद भारतीय वायुसेना के पास लंबी दूरी तक मार करने वाले बेहतर हथियार होंगे।  आगे पढ़ें

citizens-sued-for-air-pollution

वायु प्रदूषण को लेकर नागरिकों ने सरकार पर किया मुकदमा

वायु प्रदूषण की बदतर होती स्थिति से तंग आकर 31 नागरिकों के एक समूह ने राष्ट्रपति जोको विडोडो, पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, स्वास्थ्य मंत्रालय और जकार्ता के गवर्नर पर पर मुकदमा किया है। अधिवक्ता नीलसन निकोडेमस सिमामोरा ने मुकदमा दायर करने के बाद संवाददाताओं से कहा कि सरकार ने स्वास्थ्यप्रद हवा में सांस लेने के लोगों के अधिकारों की अनदेखी की है। जकार्ता की आबादी एक करोड़ है। ग्रीनपीस इंडोनेशिया ने पिछले हफ्ते लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी थी।  आगे पढ़ें

air-force-will-further-increase-strength-fleet-wil

वायुसेना की और बढ़ेगी ताकत, बेड़े में जल्द शामिल होंगे राफेल जेट और अपाचे

पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक कर भारतीय वायुसेना ने अपनी ताकत का एहसास पूरी दुनिया को करा दिया। आने वाले दिनों में वायुसेना की ताकत कई गुना और बढ़ने जा रही है। वायुसेना जब आसमान की बुलंदी पर होगी तो दुश्मन भारत के एयरस्पेस का उल्लंघन करने से पहले कई दफा सोचेगा। वायुसेना को 36 राफेल फाइटर जेट मिलने हैं जिससे दो स्क्वॉड्रन बनेंगी। एक स्क्वॉड्रन अंबाला में तो दूसरी बंगाल के हाशिमारा में। सितंबर में फ्रांस भारतीय वायुसेना को पहला राफेल विमान सौंप सकता है। इसके बाद राफेल फाइटर जेट पर वायुसेना के फाइटर पायलटों की ट्रेनिंग भी शुरू हो जाएगी। राफेल के साथ ही अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर भी एयरफोर्स की ताकत बढ़ाएंगे।  आगे पढ़ें

defense-minister-commemorates-martyr-air-force-per

विमान हादसे में शहीद वायुसेना कर्मियों को रक्षामंत्री ने दी श्रद्धांजलि

तीन जून को यह विमान असम से उड़ान भरने के बाद अरुणाचल प्रदेश की दुर्गम परी पर्वत श्रृंखला में लापता हो गया था। लंबी खोजबीन के बाद उसके अरुणाचल के पश्चिमी सियांग के दुर्गम पहाड़ों में दुर्घटनाग्रस्त होने की पुष्टि हुई थी। गुरुवार को शवों व अवशेषों को दुर्घटनास्थल से अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम सियांग जिले के आलो भेजा गया।  आगे पढ़ें

aaj-gujarat-tat-par-kar-sakata-hai-vayu-saurashtr-

आज गुजरात तट पार कर सकता है वायु, सौराष्ट्र-कच्छ में भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग का कहना है कि सोमवार सुबह वायु उत्तर-पूर्व अरब सागर और उसके आस-पास के क्षेत्र में केंद्रित था। यह नालिया के 280 किलोमीटर पश्चिम-दक्षिण पश्चिम, द्वारका से 260 किलोमीटर पश्चिम-दक्षिण पश्चिम और भुज से 360 किलोमीटर पश्चिम-दक्षिण पश्चिम इलाके में है। कमजोर पड़ चुका वायु उत्तरी गुजरात के तटीय इलाके में सोमवार मध्यरात्रि को टकरा सकता है। आईएमडी की ओर से रविवार शाम को जारी बुलेटिन के मुताबिक चक्रवात पोरबंदर से 490 किलोमीटर, द्वारका से 450 और भुज से 550 किलोमीटर दूर था। आईएमडी ने सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ इलाकों के अलावा राजस्थान में सोमवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। वहीं, मंगलवार को उत्तर गुजरात के इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। आईएमडी ने फिलहाल यलो अलर्ट जारी किया है। इसका मतलब है कि सौराष्ट्र, कच्छ और राजस्थान के इलाकों में बारिश के अनुमान में कुछ बदलाव हो सकता है। वहीं, गुजरात और राजस्थान के कुछ इलाकों में आरेंज अलर्ट यानी तैयार रहने को कहा गया है।  आगे पढ़ें

phir-apana-marg-badal-sakata-hai-chakravati-tuphan

फिर अपना मार्ग बदल सकता है चक्रवाती तूफान वायु, गुजरात के कच्छ तट पर दे सकता है दस्तक

चक्रवाती तूफान वायु के फिर से अपना मार्ग बदलने और 17-18 जून को गुजरात के कच्छ तट पर दस्तक देने की संभावना है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के एक शीर्ष अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। मौसम विभाग के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि चक्रवाती तूफान की प्रचंडता भी शनिवार सुबह तक कुछ कम हो जाएगी। चक्रवात चेतावनी प्रभाग ने शाम साढ़े पांच बजे एक बुलेटिन में कहा, चक्रवात पश्चिम की ओर मुड़ रहा है, जिससे पोरबंदर, देवभूमि द्वारका जिले 50-60 किमी प्रति घंटे से लेकर 70 किमी प्रति घंटे और गिर सोमनाथ और जूनागढ़ जिले 30-40 किमी प्रति घंटे से लेकर 50 किमी प्रति घंटे की गति वाले हवा के झकोरों से प्रभावित होगा।  आगे पढ़ें

cyclonic-storm-wind-threatens-gujarat-now-rising-o

चक्रवाती तूफान वायु का गुजरात से टला खतरा, अब बढ़ा ओमान की ओर, सौराष्ट्र में हो सकती है बारिश

गुजरात से वायु चक्रवात का खतरा टल गया है। यह अब ओमान की ओर बढ़ा रहा है। हालांकि अभी भी राज्य में मौसम बदल सकता है। इसके चलते ही सौराष्ट्र में आगामी 24 घंटे में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने गांधीनगर में गुरुवार शाम को चक्रवात के हालात की समीक्षा की। रुपाणी ने बताया कि चक्रवात के कारण राज्य में एक भी मौत नहीं दर्ज हुई है। शुक्रवार सुबह चक्रवात प्रभावित दस जिलों की समीक्षा की जाएगी। तटीय जिले द्वारका, पोरबंदर, वेरावल, सोमनाथ व अमरेली में दस इंच से अधिक बारिश की चेतावनी के चलते सरकार ने सुरक्षा व बचाव कर्मियों को शुक्रवार सुबह तक यथास्थान रहने के निर्देश जारी किए हैं। चक्रवात के असर से बीते 24 घंटे में राज्यभर के मौसम में बदलाव आया है।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति