होम मीडिया
former-mlas-allegation-said-arif-masood-and-dhruv-

पूर्व विधायक का आरोप, कहा- आरिफ मसूद और ध्रुव नारायण सिंह इस लव जिहाद में शामिल

बेटी भारती सिंह द्वारा परिवार पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद रविवार को भाजपा के पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह खुलकर बोले। उन्होंने आरोप लगाया कि भोपाल में कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद और पूर्व विधायक ध्रुवनारायण सिंह इस लव जिहाद में शामिल हैं। मेरी बेटी की तबीयत ठीक नहीं है। उसका चार साल से इलाज चल रहा है। यह मामला सामने आने के बाद से ध्रुवनारायण के समर्थक फेसबुक पर मेरा अपमान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि ध्रुव और मसूद दोनों बेटी की मदद कर रहे हैं। सुरेंद्रनाथ के आरोप लगाने के बाद उनके समर्थकों ने रविवार को भोपाल के 14 थानों के सामने धरना-प्रदर्शन किया।  आगे पढ़ें

inx-media-case-ed-gets-permission-to-arrest-chidam

आईएनएक्स मीडिया केस: ईडी को मिली चिदंबरम की गिरफ्तारी की इजाजत, तिहाड़ में करेगी पूछताछ

दिल्ली की विशेष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से पूछताछ और गिरफ्तारी की इजाजत दे दी। कोर्ट ने ईडी को चिदंबरम से 30 मिनट तक पूछताछ का विकल्प भी दिया है। ईडी ने आईएनएक्स मीडिया केस में मनी लॉन्ड्रिंग पर पूछताछ के लिए चिदंबरम को हिरासत में लेने की अनुमति मांगी थी।  आगे पढ़ें

sambhal-kar-rakhen-vah-mataka

संभाल कर रखें वह मटका

मामला संजीदा है, लेकिन एक कटाक्ष भरा मीम इस मौके पर याद दिलाना गलत नहीं होगा। किसी ने सोशल मीडिया पर लिखा है, वह बुजुर्ग औरत, जो नवरात्रि के नौ दिनों में रोजाना मां को अपने घर बुलाती थी, वही बारहवें दिन अपने परिवार में बेटी पैदा होने पर मुंह फुलाये बैठी है। यह हमारे समाज के उस तबके का घिनौना सच है, जिसे देवी तो चाहिए, लेकिन बेटी नहीं। चौंकाने वाली बात यह कि स्त्री से संबंधित अनेक समस्यामूलक बातों का निराकरण करने के बावजूद हालात ज्यों के त्यों बने हुए हैं। किशोरावस्था में था, तब दहेज के लिए हत्याओं की लगभग रोज सामने आती खबरें दहलाती थीं। तब कई मां-बापों को इस बात के लिए चिंतित होते देखता था कि यदि उन्हें बेटी पैदा हो गयी तो कैसे उसके दहेज का बंदोबस्त करेंगे। फिर दहेज के खिलाफ सख्त कानूनी प्रावधान लागू हो गये। मामला आगे बढ़ा और कार्यस्थल पर यौन प्रताड़ना के विरूद्ध किये गये प्रावधानों सहित मी टू अभियान ने भी स्त्री के हक में ताकत दिखायी।  आगे पढ़ें

chidambaram-said-i-never-met-indrani-mukherjee-the

चिदंबरम ने कहा- मैं इन्द्राणी मुखर्जी से कभी नहीं मिला, जमानत याचिका पर कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध करते हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि जमानत मिलने पर वह देश छोड़कर भाग सकते हैं। बचाव पक्ष की तरफ से चिदंबरम को सम्मानित नागरिक बताए जाने पर सीबीआई के वकील ने कहा- हमारा अनुभव बताता है कि पूर्व में जो देश छोड़कर भागे, वे सब भी सम्मानित और जिम्मेदार उद्योगपति थे। चिदंबरम ताकतवर और प्रभावशाली हैं। वह किसी भी दूसरे देश में सेटल होने के लिए आर्थिक रूप से मजबूत हैं।  आगे पढ़ें

journalism-also-in-honeys-trap

हनी के ट्रैप में पत्रकारिता भी

डर है कि पहले ही किसी पतित-पावन को तरस रही पत्रकारिता के दामन पर इसके बाद और कितने दाग नजर आने लगेंगे। इस सबकी इबारत उसी दिन लिख दी गयी थी, जब पत्रकारिता को ग्लैमर से जोड़ने का महा-गुनाह किया गया। ऐसा पाप करने वालों की फौज अब गुजरे कल की बात हो चुकी है, लेकिन उनके द्वारा रोपा गया विषवृक्ष का बीज आज इस पूरी बिरादरी में भयावह प्रदूषित हवा का संचार कर रहा है। यह हवा दमघोंटू है। इससे बचने के लिए नई खिड़कियां खोलने की संभावनाएं कोई और नहीं मीडिया में ही लोगों को तलाशनी होगी। प्रिंट मीडिया तक तो विश्वसनीयता बाकी थी लेकिन इलेक्ट्रानिक, डिजीटल और सोशल मीडिया के दौर में पत्रकारिता की आत्मा विश्वसनीयता घायल पड़ी हुई है। इसलिए खबरें बेअसर हो रही हैं। ताजी हवा का यह प्रसार पत्रकारिता के मूल्यों की दोबारा स्थापना से ही संभव हो सकेगा। माना कि यह बहुत दुश्वारी वाला काम है, लेकिन इस पेशे में सिर उठाकर चलने का दौर वापस लाने के लिए इस कड़ी मेहनत के अलावा और कोई चारा बाकी नहीं रह गया है। तो जो ये दमघोंटू माहौल है, इससे बाहर आने खिड़की खोलिए.....रोशनी आएगी तो चेहरे भी साफ साफ दिखाई देंगे.....और डिओडरेंट की खुशबूओँ में छिपाई गई दुर्गन्ध भी बाहर होगी.....read more  आगे पढ़ें

kuchh-nahin-bigadega-is-honey-traip-valon-ka

कुछ नहीं बिगड़ेगा इस हनी ट्रैप वालों का

मध्यप्रदेश में भी एक क्राइम थ्रिलर नाटक का विज्ञापन बुधवार से शुरू हो गया है। मामला हनी ट्रैप का है। सोशल मीडिया पर ज्ञानवीर और बयानवीर, दोनो ही चीख रहे हैं। बता रहे हैं कि कई बड़े चेहरे बेनकाब होने ही वाले हैं। उनमें नेता होंगे, अफसर और पत्रकार भी रहेंगे। बतौर पत्रकार अपने अनुभव के चश्मे से ऐसी पोस्ट पढ़कर अनायास ही मेरी हंसी निकल गयी। क्योंकि मुझे पूरी आशंका है कि ऐसा कतई नहीं होने वाला। कुछ दिन कयास लगाए जाएंगे। नाम उछाले जा सकते हैं। सोशल मीडिया पर फर्जी पोस्ट डालने का धर्म इस प्रहसन में भी निभाया जाएगा। इसके बाद एक दिन अचानक हर ओर चुप्पी छा जाएगी, गोया कि कुछ हुआ ही न हो।  आगे पढ़ें

on-indias-appeal-pakistan-foreign-minister-said-pa

भारत की अपील पर पाक विदेश मंत्री ने कहा- मोदी की यात्रा के लिए एयरस्पेश नहीं खोलेगा पाकिस्तान

भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के फैसले पर अफसोस जताया है। मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दो हफ्ते में लगातार दो बार वीवीआईपी फ्लाइट्स को गुजरने की अनुमति न देना दुर्भाग्यपूर्ण है। पाकिस्तान को स्थापित अंतरराष्ट्रीय नियमों का अच्छी तरह पालन करना चाहिए और एकतरफा कार्रवाई करने की अपनी पुरानी आदतों को नहीं दोहराने पर पुनर्विचार करना चाहिए।  आगे पढ़ें

pahale-apani-bimari-karen-door

पहले अपनी बीमारी करें दूर

दिल्ली में कांशीराम ने जूते और गालियों से लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के प्रति अपने रुख का इजहार किया था। किंतु कुछ ही दिन बाद वही मंडली कांशीराम के बगल में बैठकर खीसें निपोरती हुई अपनी पिघल चुकी रीड की हड्डी को छिपाने का जतन करती दिख गयी। भोपाल में झुग्गी माफिया की हैसियत वाले एक नेता ने अंग्रेजी अखबार के पत्रकार से कहा था, तुझे जो छापना है, छाप ले। मुझे कोई फरक नहीं पड़ता। यह कथन उस अखबार में हू-ब-हू छपा, लेकिन अखबारकर्मियों ने इसके तीखे विरोध का कोई जतन नहीं किया। तो अब क्यों इस बात की फिक्र की जाए कि साध्वी प्रज्ञा ने सीहोर के पत्रकारों की विश्वसनीयता पर खुलकर सवालिया निशान लगाये हैं? किस वजह से यह मातम या क्रोध हो कि सांसद ने कहा है कि उसे मीडिया से कोई डर नहीं है? क्योंकि मौजूदा हम में से कई और अतीत का हिस्सा बन चुके अनेक हमपेशा ही ऐसे हालात के मुख्य जिम्मेदार हैं।  आगे पढ़ें

then-the-science-minister-of-pakistan-in-disputes-

फिर विवादों में पाक के विज्ञान मंत्री, कहा-सभी आत्मघाती हमलावर मदरसों में पढ़ने वाले छात्र, यह कड़वी सच्चाई

इससे पहले फवाद ने भारत के चंद्रयान-2 मिशन का मजाक उड़ाया था। उन्होंने लिखा था, "खिलौना मून की बजाय मुंबई में उतर गया होगा। डियर इंडिया! जो काम नहीं आता, उसमें पंगा नहीं लेते। उफ, मैं वाकई यह महान लम्हा देखने से चूक गया।' चौधरी के इस बयान की पाकिस्तान में ही निंदा की गई थी। सोशल मीडिया पर पाक यूजर्स ने लिखा था कि यह बचकाना बयान है। कुछ ने कहा था कि भारत की अंतरिक्ष क्षमता के आगे अगर हम खुद को आंकेंगे तो बौने साबित हो जाएंगे।  आगे पढ़ें

chidambarams-night-passed-in-tihar-slept-all-night

तिहाड़ में गुजरी चिदंबरम की रात, सारी रात सीमेंट की फर्श पर सोए, दूसरे कैदियों की तरह दी गई थी दरी और चादर

सोने से पहले रात के खाने में उन्होंने दाल, रोटी और सब्जी खाई। जेल में उनकी दिनचर्या सुबह छह बजे शुरू हुई। सुबह छह बजे से शाम सात बजे तक उन्हें उन तमाम प्रक्रियाओं का सामना करना होगा जो अन्य कैदी करते हैं। सुबह छह बजे सोकर उठने के बाद सात बजे वह अपने सेल के बाहर निकलकर कैदियों की गिनती में शामिल हुए। तिहाड़ जेल के अतिरिक्त महानिरीक्षक राजकुमार ने बताया कि जेल की सेल में चौकी या चबूतरे की सुविधा नहीं दी सकती।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति