होम महाराष्ट्र
his-18-ministers-including-cm-fadnavis-were-felici

जलकर भरने में फिसड्डी सीएम फडणवीस सहित उनके 18 मंत्री, बीएमसी ने घोषित किया डिफाल्टर

वृहन्नमुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (बीएमसी) को सीएम सहित मंत्रियों को डिफॉल्टर घोषित करने की नौबत इसलिए आई है क्योंकि इन लोगों ने अपने आवासों का जलकर भरने में दिलचस्पी नहीं दिखाई है। इतना ही नहीं पानी के बिल की राशि इतनी भारी भरकम है कि अगर कोई आम आदमी होता तो शायद ये कार्रवाई उस पर बहुत पहले हो चुकी होती।  आगे पढ़ें

bangal-se-shuru-hui-juda-hadatal-ki-anch-pahunchi-

बंगाल से शुरू हुई जूडा हड़ताल की आंच पहुंची महाराष्ट्र औ दिल्ली, मरीज हो रहे परेशान

पश्चिम बंगाल में हड़ताल कर रहे जूनियर डॉक्टरों ने गुरुवार को दोपहर दो बजे तक काम पर लौटने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश को नहीं माना और कहा कि सरकारी अस्पतालों में सुरक्षा संबंधी मांग पूरी होने तक हड़ताल जारी रहेगी। वहीं मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनकारियों पर बरसते हुए विपक्षी बीजेपी और कम्युनिस्ट पार्टी पर उन्हें भड़काने और मामले को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप लगाया। डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से कई सरकारी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों अस्पतालों में तीसरे दिन भी आपातकालीन वॉर्ड, ओपीडी सेवाएं, पैथोलॉजिकल इकाइयां बंद रहीं। दरअसल कोलकाता स्थित एनआरएस मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई थी। इस पर बुजुर्ग के परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया था और दो डॉक्टरों की पिटाई कर दी गई थी। आरोपों के मुताबिक करीब 200 लोग ट्रकों में भरकर आए थे और अस्पताल परिसर पर हमला बोल दिया। इस हमले में दो जूनियर डॉक्टर बुरी तरह घायल हो गए थे।  आगे पढ़ें

cyclonic-storms-show-the-effect-of-air-in-maharash

चक्रवाती तूफान वायु का महाराष्ट्र में दिखा असर, मुंबई में तेज हवाओं से गिरे पेड़

मुंबई में मौसम विभाग के उप महानिदेशक (डीडीजी) केएस होसलिकर का कहना है, 'काफी तेज चक्रवाती तूफान अभी मुंबई से 280 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम क्षेत्र तक पहुंच चुका है। महाराष्ट्र के उत्तरी तट पर इसकी वजह से 50-60 से लेकर 70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक दिनभर हवाएं चलेंगी। 12 और 13 जून को महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में समुद्र के किनारे हालात बिगड़ सकते हैं। समुद्र के बीचों पर खास ध्यान देने की जरूरत है। मछुआरों को चेतावनी जारी की जा चुकी है। तेज हवाओं की वजह से पेड़ गिरने की घटनाएं भी बढ़ सकती हैं।'  आगे पढ़ें

tai-politics-may-be-rehabilitated-chhattisgarh-or-

ताई की राजनीति का हो सकता है पुनर्वास, बन सकती है छत्तीसगढ़ या महाराष्ट्र की राज्यपाल

ताई के महाराष्ट्र या छत्तीसगढ़ की राज्यपाल बनने की संभावना सबसे ज्यादा है। इसका कारण यह है कि महाराष्ट्रीयन होने से उनका दखल महाराष्ट्र की राजनीति में रहा है। लोकसभा अध्यक्ष बनने के बाद उनकी सक्रियता भी महाराष्ट्र में रही है। ताई का जन्म स्थान भी महाराष्ट्र है। उधर, मध्यप्रदेश के पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में पूर्णकालिक राज्यपाल का पद अगस्त 2018 से खाली है। फिलहाल प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल अतिरिक्त प्रभार के रूप में यह जिम्मेदारी संभाल रही हैं। मध्यप्रदेश से जुड़ाव बने रहने और नजदीक होने से भी उन्हेंछत्तीसगढ़ का राज्यपाल बनाए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। बतौर लोकसभा अध्यक्ष ताई के पास संसदीय कार्य का अनुभव तो है ही, वे संगठन और सरकार के कामकाज को लेकर भी बेहद स्पष्ट रहती हैं। नियमों का पालन भी सख्ती से करवाती हैं। भाजपा सूत्रों के अनुसार जून अंत तक इस पर फैसला हो सकता है।  आगे पढ़ें

chori-ka-anutha-tarika-nakabaposhon-ne-barud-se-ud

चोरी का अनूठा तरीका: नकाबपोशों ने बारूद से उड़ाया एटीएम, लाखों नोट जलकर नष्ट

एटीएम में बारूदी धमाके से समूचा इलाका दहल गया। तेज धमाके की आवाज सुनकर आसपास के लोग दहशत में आ गए और किसी अनिष्ट की आशंका से घरों में ही दुबके रहे। लोग जब सुबह सोकर उठे तब एटीएम में हुई वारदात का पता चला। ब्लास्ट से एटीएम के परखच्चे उड़ गए थे जिसके टुकड़े सड़क तक बिखरे मिले। बैंक अधिकारियों ने पुलिस को बताया कि एटीएम में 9 लाख 91 हजार रुपए कैश रखा था जिसमें से 6 लाख 83 हजार 500 रुपए गायब हैं। 3 लाख 7 हजार 500 रुपए मिले हैं जिनमें अधिकांश नोट जलकर नष्ट हो चुके हैं।  आगे पढ़ें

bjp-shiv-sena-khemma-excited-with-huge-victory-in-

लोकसभा चुनाव में प्रचंड जीत से उत्साहित भाजपा-शिवसेना खेमा, विस चुनाव में फिर लहरा सकता है भगवा

महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों पर बीजेपी-शिवसेना गंठबंधन और कांग्रेस-राकांपा ने मिलकर चुनाव लड़ा था। इन चुनावों में बीजेपी ने 23, शिवसेना ने 18, राकांपा ने पांच, कांग्रेस ने एक और एक लोकसभा सीट वंचित बहुजन आघाडी ने जीती। राज्य की 48 लोकसभा सीटों में 288 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र हैं। इस 288 सीटों में बीजेपी-शिवसेना गंठबंधन को 226 और महागठबंधन को 56 सीटों पर बढ़त मिली है, जबकि छह विधानसभा सीटों पर अन्य आगे रहे। मुंबई की बात करें, तो यहां की 36 सीटों में से 31 सीटों पर बीजेपी-शिवसेना गंठबंधन आगे रही, जबकि पांच सीटों पर महागठबंधन व अन्य को बढ़त हासिल हुई है।  आगे पढ़ें

bjp-shiv-sena-will-remain-burning-in-maharashtra-c

महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना का जलवा रहेगा कायम, मिल सकती है 39 सीटें

रिपब्लिक सी-वोटर सर्वे के अनुसार भाजपा को 34 और कांग्रेस को 14 सीटें मिल रही हैं। वहीं सुदर्शन न्यूज के सर्वे में भाजपा को 39 और कांग्रेस को 8 सीट मिल रही हैं, 1 सीट अन्य को मिल रही है। एबीपी न्यूज - निलसन के सर्वे में भाजपा को 34 और कांग्रेस को 14 सीट मिल रही हैं। आज तक-एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में महाराष्ट्र में एनडीए को 38 से 42 सीटें मिली हैं। वहीं यूपीए को 6 से 10 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है।  आगे पढ़ें

maharashtra-may-be-more-alarming-this-year-water-c

महाराष्ट्र में इस साल और भयावह हो सकता है जल संकट, 26 जलाशय सूखे

विभाग की वेबसाइट के मुताबिक औरंगाबाद डिवीजन में आने वाले जलाशयों में 18 मई तक जल भंडारण 0.43 प्रतिशत था जबकि पिछले साल इसी वक्त यह 23.44 प्रतिशत था। औरंगाबाद डिवीजन में औरंगाबाद, हिगोली, परभणी, बीड और ओस्मानाबाद जिले आते हैं। वेबसाइट के मुताबिक राज्य के 103 बड़े, मध्यम और छोटे आकार के जलाशयों में 11.84 फीसदी पानी बचा है जबकि पिछले साल इसी समय 23.73 प्रतिशत पानी था।  आगे पढ़ें

raj-thackeray-did-not-stand-in-the-lok-sabha-elect

राज ठाकरे ने लोकसभा चुनाव में नहीं खड़ा किया एक भी प्रत्याशी, फिर भी मोदी-शाह के विरोध में कर रहे सभाएं

एक बात तो दावे के साथ कही जा सकती है कि एमएनएस प्रमुख राजनीति के इतने नादान खिलाड़ी भी नहीं हैं कि केवल कांग्रेस-एनसीपी को फायदा पहुंचाने के लिए मोदी-शाह की जोड़ी पर धुआंधार आरोप लगाएं। निश्चित रूप से इसमें उनका अपना गणित है। राजनीति में कोई किसी पर मुफ्त में अहसान नहीं करता। समय आने पर सब अपना हिसाब चुकता करते हैं। राज ठाकरे भी इसके अपवाद नहीं हैं। उनके विरोधी कह रहे हैं कि इसके लिए उन्हें करोड़ों रुपये दिए गए होंगे, लेकिन राजनीतिक दांव-पेंच की कीमत हमेशा रुपये-पैसे में नहीं आंकी जा सकती। देखने-समझने वाली बात यह है कि राज ठाकरे को भविष्य में इसका क्या फायदा होगा।  आगे पढ़ें

after-the-justice-scheme-now-rahul-made-a-promise-

न्याय योजना के बाद अब राहुल ने किया किसान बजट का वादा

सोमवार को गुजरात के महुवा में एक जनसभा के दौरान कहा कि न्यूनतम आय गारंटी योजना न्याय के लिए पैसा विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी जैसे भगोड़ों की जेबों से आएगा। उल्लेखनीय है कि घोषणापत्र में कहा था कि अगर पार्टी सत्ता में आती है तो न्याय योजना के तहत 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों को छह हजार रुपये की मासिक या 72 हजार रुपये सालाना आमदनी सुनिश्चित की जाएगी।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति