होम मनी लॉन्ड्रिंग केस
the-scope-of-the-investigation-is-increasing-again

चिदंबरम के खिलाफ बढ़ता जा रहा जांच का दायरा, 300 करोड़ रिश्वत लेने का है आरोप

'प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई की जांच की दिशा अब एफआईपीबी अप्रूवल को लेकर है। एफआईपीबी ने डिएगो स्कॉटलैंड लिमिटेड, कटारा होल्डिंग्स, एस्सार स्टील लिमिटेड और एल्फोर्ज लिमिटेड को अप्रूवल दिया और जांच एजेंसियां इन सभी की जांच कर रही हैं।' आईएनएक्स मीडिया केस में पैसा कथित तौर पर फर्जी कंपनियों में लगाया गया। ये सभी फर्जी कंपनियां चिदंबरम के बेटे और लोकसभा सदस्य कार्ति चिदंबरम की हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पर आरोप है कि एयरसेल मैक्सिस केस और आईएनएक्स मीडिया से उन्होंने करीब 300 करोड़ रुपये रिश्वत के तौर पर लिए।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति