होम बिजली
electricity-consumers-start-getting-benefit-of-ind

बिजली उपभोक्ताओं इंदिरा गृहज्योति योजना का लाभ मिलना शुरू, इस बार 100 रुपए से कम आया बिल

प्रदेश में पहली बार कम बिजली का उपयोग कर ज्यादा बिल का भुगतान करने वाले उपभोक्ताओं के चेहरे दीवाली से पहले खिल उठे हैं। इंदिरा गृहज्योति योजना का लाभ मिलना शुरू हो गया है। अक्टूबर माह में जो बिल उपभोक्ताओं को मिल रहे हैं वे इसी योजना के तहत दिए जा रहे हैं। 100 यूनिट तक बिजली जलाने वाले उपभोक्ताओं के बिल 100 और उससे कम बिजली यूनिट का उपयोग करने वालों के बिल खर्च की गई यूनिट के अनुसार आ रहे हैं। इससे पहले जब भी कोई योजना सरकार की आती थी वो एक खास वर्ग के लिए आती थी।  आगे पढ़ें

young-man-stranded-in-11-kv-line-stranded-in-curre

11 केवी लाईन के तार को काट रहे युवक करंट में फंसे, चारों की मौत

बिजली के तार चुराने के प्रयास में रविवार रात जिले के बनारसी गांव में चार युवकों की करंट लगने से मौत हो गई। चारों युवक 11 केवी लाइन के तार को काटकर लपेट रहे थे, तभी उन्हें पास से निकली दूसरी घरेलू लाइन का करंट लग गया। करंट लगने से गोकुल कुशवाहा 25, संजय वंशकार 22, प्रीतम कुशवाहा 25 और हन्नू कुशवाहा 20 साल की मौके पर ही मौत हो गई। यह चारों मड़वार पृथ्वीपुर के निवासी हैं। पुलिस ने मौके से बाइक और कटर बरामद किए हैं।  आगे पढ़ें

late-night-on-monday-in-the-rainy-season-water-fil

सोमवार देर रात जमकर बरसे बदरा, रिहायशी इलाकों में भरा पानी, कई जगह बिजली रही गुल

मानसून के दूसरे सबसे सक्रिय सिस्टम ने सोमवार रात को भोपाल में जमकर बारिश कराई। रात 8:30 बजे से 11:30 बजे तक करीब सवा चार इंच (107 मिमी) बारिश से राजधानी तर हो गई। जबकि सुबह से देर रात 1 बजे तक 5.54 इंच (140.9 मिमी) बारिश रिकॉर्ड हुई। मंगलवार सुबह तक ये आंतड़ा 166.5 मिलीमीटर तक पहुंच गया। अभी भी कई रिहायशी इलाकों में घुटनों तक पानी भर गया।  आगे पढ़ें

former-legislator-surendra-nath-singh-warned-if-in

पूर्व विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह ने दी चेतावनी, कहा- गरीबों के साथ अन्याय हुआ तो सड़कों में बहेगा खून

पूर्व विधायक ने कहा कि नगर निगम द्वारा बिना व्यवस्थित हाट बाजार बनाए ही ठेले गुमठियों को हटाया जा रहा है। इससे उनके घरों में भूखे मरने की नौबत आ गई है। बच्चों को स्कूल की फीस जमा नहीं कर पा रहे हैं। इसी तरह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गरीबों के लिए संबल योजना शुरू की थी। इसके तहत महीने के 200 रुपए बिजली बिल की जगह कमलनाथ सरकार दो से तीन हजार रुपए के बिल भेज रही है। इस दौरान अनेक महिलाएं बढ़े हुए बिल लेकर प्रदर्शन कर रही थीं। सिंह ने कहा कि कोई भी झुग्गीवासी बढ़े हुए बिल जमा न करे। यदि झुग्गियों में अंधेरा हुआ तो मुख्यमंत्री कमलनाथ के घर में भी बिजली नहीं जलेगी। साथ ही प्रदर्शनकारियों ने प्रदेश सरकार की योजनाओं के खिलाफ नारेबाजी की।  आगे पढ़ें

the-union-power-minister-said-that-electricity-con

केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री ने कहा- बिजली उपभोक्ताओं को पहले करना होगा भुगतान, फिर मिलेगी बिजली

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने सोमवार को कहा कि भारत एक नई व्यवस्था की ओर बढ़ रहा है, जहां बिजली उपभोक्ता को पहले भुगतान करना होगा और फिर उसे बिजली मिलेगी। ऊर्जा मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि राज्य समाज के कुछ वर्गों को निशुल्क बिजली दे सकते हैं, लेकिन उन्हें इसके लिए अपने बजट से भुगतान करना होगा।  आगे पढ़ें

wholesale-inflation-eases-to-202-in-june-lowest-le

जून में थोक मुद्रास्फीति घटकर 2.02% पर, दो साल का न्यूनतम स्तर

खाद्य वस्तुओं की थोक महंगाई दर मामूली कमी के साथ जून में 6.98 प्रतिशत के स्तर पर रही, जो मई में 6.99 प्रतिशत पर थी। सब्जियों की महंगाई दर पिछले महीने घटकर 24.76 प्रतिशत पर रही, जो मई में 33.15 प्रतिशत पर थी। आलू के थोक मूल्य जून में 24.27 प्रतिशत घटे, जबकि मई में आलू की महंगाई दर शून्य से 23.36 प्रतिशत नीचे रही थी। हालांकि, प्याज की कीमतों में इजाफा जारी है और जून में इसकी महंगाई दर 16.63 प्रतिशत के स्तर पर रही।  आगे पढ़ें

prayagraj-35-cows-died-in-goshala-administration-r

प्रयागराज: गोशाला में 35 गायों की मौत, प्रशासन ने बिजली गिरने को बताया वजह

यूपी के प्रयागराज जिले की एक गोशाला में बुधवार देर रात से अब तक संदिग्ध हालात में 35 गायों की मौत का मामला सामने आया है। प्रशासन के आला अधिकारी गायों की मौत की वजह बिजली गिरना बता रहे हैं, जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि रात में कोई आकाशीय बिजली गिरी ही नहीं। प्रशासन द्वारा 35 गायें मरने के दावे के उलट स्थानीय लोगों का कहना है कि 52 बीघे तालाब में बनी इस स्थानीय गोशाला में पिछले दो-तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश की वजह से तालाब पानी से भर गया। ग्रामीणों का कहना है कि भूख और पानी में फंस कर गुरुवार सुबह तक करीब 50-60 गायों की मौत हो चुकी है।  आगे पढ़ें

an-18-hour-annoyance-of-people-without-electricity

18 घंटे से बिना बिजली रह रहे लोगों को फूटा गुस्सा, सब स्टेशन के बाहर की तोड़फोड

रविवार शाम को 25 से 30 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चली आंधी के कारण पूरे शहर में बिजली व्यवस्था बुरी तरह ध्वस्त हो गई। कंपू, महाराज बाड़ा और स्टोन पार्क क्षेत्र में पूरी रात बिजली नहीं आई है। सोमवार सुबह कुछ देर के लिए बिजली आई और फिर चली गई। क्षेत्रीय लोगों के अनुसार दिन भर बिजली आंख मिचौनी चली। शाम को सात बजे एक बार फिर बिजली गई तो रात 10 बजे तक नहीं आई। स्थानीय लोगों के अनुसार हजारों की संख्या में गुस्साए लोगों ने कंपू सब स्टेशन पर धावा बोल दिया। यहां ताला लगा होने के कारण लोगों का गुस्सा सब स्टेशन के बाहर खड़े बिजली कंपनी के संधारण वाहन पर फूटा। लोगों ने पास में ही रखे बिजली के पोल को गाड़ी विंड स्क्रीन में घुसा दिया और हेडलाइट तोड़ दी। इस दौरान उत्पात मचा रहे लोग गाड़ी में आग लगाने की बात कहते रहे। बताया जा रहा है कि इस दौरान पुलिस का वाहन घटनास्थल से करीब 200 मीटर दूर खड़े रहकर लोगों के शांत होने का इंतजार करते रहे।  आगे पढ़ें

cm-nath-who-is-suffering-from-criticism-on-power-c

बिजली कटौती पर आलोचना झेल रहे सीएम नाथ ने कहा-खुफिया रिपोर्ट मेरे पास इसे खारिज मत करो

बैठक में मुख्यमंत्री ने बिजली सरप्लस है और कटौती भी हो रही है, यह बात समझ में नहीं आती है। कटौती को लेकर तमाम रिपोर्ट हमारे पास हैं, इसे खारिज मत करो। इस पर बिजली इंजीनियर और कर्मचारियों ने कहा कि सर, हम इंकार नहीं कर रहे हैं। स्टाफ की कमी है। कई समस्याएं हैं। मुख्यमंत्री ने उनसे पूछा कि मांग और आपूर्ति आपस में समान क्यों नहीं दिख रही है। इस पर एक पदाधिकारी ने कहा कि 2010 में पूर्ववर्ती सरकार हम पर दबाव डालती थी कि मांग बढ़ाकर रखो, ताकि बिजली खरीद सकें। दरअसल, प्रदेश में उत्पादित बिजली और आपूर्ति में जो बड़ा अंतर था उसे निजी बिजली कंपनियों के साथ हुए करार और अन्य जगहों से खरीदकर पूरा किया जाता था। मुख्यमंत्री ने सवाल उठाया कि सरकार लगभग 15 हजार करोड़ रुपए की सबसिडी बिजली कंपनियों को देती है। इसके बाद भी घाटा बना हुआ है। आखिर यह राशि जाती कहां है। ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में असंतोष है।  आगे पढ़ें

indore-mein-jhamajham-barish-ne-di-manaun-kee-dast

इंदौर में झमाझम बारिश ने दी मानसून की दस्तक, बालाघाट में आकाशीय बिजली गिरने बच्चों की मौत

बालाघाट जिले के डोंगरगांव के शिव नगर में आकाशीय बिजली गिरने से दो बच्चों की मौत हो गई। घटना रविवार शाम की है। बताया गया है कि अक्षय पिता रवि गोस्वामी 15 वर्ष और आयुष गिरी 10 वर्ष बकरियां चराने के लिए गए हुए थे। इसी दौरान आकाशीय बिजली गिरने से दोनों उसकी चपेट में आ गए जिससे उनकी मौत हो गई। भीषण तपिश झेल चुके लोगों के लिए बारिश राहत लेकर आई। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 24 जून को मानसून के प्रदेश में अपनी आमद दर्ज कराने के आसार बन गए हैं। शनिवार दोपहर को मानसून पूर्वी मप्र की सीमा से लगे छत्तीसगढ़ के पेंड्रा तक पहुंच चुका था। खुशी की बात यह है कि इस बार बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से चला मानसून के प्रदेश में दो तरफ से दाखिल होने के संकेत मिले हैं। इससे जून के अंतिम सप्ताह में झमाझम बरसात होने की संभावना है।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति