होम बाला बच्चन
the-ministerial-duo-traveled-three-and-a-half-mete

मंत्रीय द्वय ने आई बस से साढ़े तीन मीट किया सफर, घंटों लगा रहा जाम, सुरक्षा कारणों से यात्रियों को उठानी पड़ी परेशानी

शहर में लोक परिवहन को बढ़ावा देने के लिए गृह मंत्री बाला बच्चन और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने शुक्रवार को आई बस से सफर किया। वे 12.55 बजे सत्य साईं चौराहे से आई बस में सवार हुए। उनके साथ अफसर, नेता और सुरक्षाकर्मियों की भीड़ के कारण आम लोग बस में चढ़ ही नहीं पाए। उन्हें अगली बस का इंतजार करना पड़ा। मंत्री इंडस्ट्री हाउस चौराहे पर बस से उतर भी गए। हालांकि अन्य अफसर बस, वैन आदि से दफ्तर पहुंचे। एक अफसर साइकिल से भी आॅफिस आए। पिछले शुक्रवार को ही कलेक्टर ने साप्ताहिक पब्लिक ट्रांसपोर्ट डे की शुरूआत की थी।  आगे पढ़ें

home-minister-gave-instructions-to-police-officers

गृहमंत्री ने पुलिस अधिकारियों को दिया निर्देश, कहा- अयोध्या फैसले को ध्यान में रखकर करें सुरक्षा के इंतजाम

गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन ने आज मंत्रालय में गृह विभाग तथा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिये कि अयोध्या पर सर्वोच्च न्यायालय के आने वाले फैसले को ध्यान में रखकर प्रदेश में शांति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जायें। बैठक में प्रमुख सचिव गृह एस.एन. मिश्रा एवं पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।  आगे पढ़ें

abhav-mudhata-ka-charam-napane-vale-paimane-ka

अभाव मूढ़ता का चरम नापने वाले पैमाने का

90 के दशक के अंत में सुंदरलाल पटवा प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे। भोपाल में एक भाजपा नेता को पुलिस उठा ले गयी। पार्टी के लोग एक मंत्री के पास पहुंचे। सिफारिश की कि नेता के साथ कुछ गलत न हो। मंत्रीजी ने जो पत्र पुलिस को भेजा उसमें लिखा गया था कि पकड़ा गया शख्स भाजपा कार्यकर्ता है, अत: उसकी न्यूनतम पिटाई की जाए। हास्य के बोध से भरपूर इस चिट्ठी से सर्वथा इतर डीजीपी का सर्कुलर क्षोभ से भर रहा है। एक बार मान लिया जाए कि पत्र को लेकर आरंभ में जतायी गयी आशंकाएं निर्मूल हैं तो फिर यह भी मान ही लिया जाए कि पुलिस के राज्य प्रमुख की सोच में कुछ खलल आ गया है। वरना वे यह कभी नहीं भूलते कि अपराधी का धर्म या जाति हो सकते हंै, लेकिन अपराध का न कोई धर्म होता और ना ही जाति। पुलिस सेवा में आने से पहले ली गयी शपथ बुरे तत्वों के शमन की बात कहती है, किसी जाति विशेष को बचाने या निपटाने जैसा कोई जिक्र उसमें नहीं होता है। read more  आगे पढ़ें

youth-killed-due-to-commercial-rivalry-police-capt

व्यावसायिक प्रतिद्वंद्विता के चलते हुई युवराज कि हत्या: पुलिस कप्तान

बुधवार सुबह करीब 11.30 बजे एसआरएम केबल नेटवर्क के संचालक युवराज सिंह चौहान की गीताभवन अण्डरब्रिज के समीप चाय की होटल पर तीन बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी । पुलिस की अभी तक हुई विवेचना के अनुसार इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी के रूप में दीपक तंवर का नाम सामने आया है और हत्याकांड को अंजाम देने में अंकित तंवर, फैजान उर्फ छोटू और नागेश लाला गोस्वामी है। पुलिस द्वारा अभी इन्ही तीनों को मुख्य रूप से आरोपी बनाया गया है।  आगे पढ़ें

in-the-honey-trap-case-the-home-minister-said-the-

हनी ट्रैप मामले में गृहमंत्री ने कहा- षडयंत्र में जो भी शामिल होंगे उनके नाम जल्द आएंगे सामने

हनी ट्रैप मामले में मप्र के गृह मंत्री बाला बच्चन ने मंगलवार को कहा कि मामले की जांच कर रही एसआईटी में बदलाव का मकसद दूध का दूध और पानी का पानी करना है। षडयंत्र में जो भी लोग शामिल हैं उनके नाम जल्द सामने आएंगे। बच्चन गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर सर्वधर्म सभा में हिस्सा लेने इंदौर पहुंचे थे।  आगे पढ़ें

scindia-retorted-on-bhargavas-statement-about-paki

भार्गव के पाकिस्तान वाले बयान पर सिंधिया ने किया पलटवार, कहा- बयान की जितनी निंदा की जाए कम है

मप्र विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव दिए गए पाकिस्तान से संबंधित बयान पर कांग्रेस नेताओं ने पलटवार किया है। बुधवार को इंदौर में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्या सिंधिया ने कहा कि उनके बयान की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। एमपीसीए के चुनाव के सिलसिले में इंदौर आए सिंधिया ने गांधी प्रतीमा पर माल्यार्पण करने के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि देश में सभी सकारात्मक विचारों को सम्मान देना जरूरी है, किसी पर आरोप लगाना सही नहीं, गोपाल भार्गव के बयान की जितनी निंदा की जाए उतनी कम है।  आगे पढ़ें

stf-action-on-adulterants-three-tankers-seized-dur

मिलावटखोरों पर एसटीएफ की कार्रवाई, भिंड में छापेमारी के दौरान तीन टैंकर किए जब्त

भिंड जिले के लहार में भी एसटीएफ ने गिर्राज फूड सप्लायर्स की फैक्ट्री में छापामारी के दौरान 500-500 लीटर के तीन दूध के टैंकर जब्त किए हैं। फैक्ट्री से 1100 लीटर सिंथेटिक दूध भी बरामद हुआ। संचालक संतोष सिंह पर कार्रवाई हो रही है। उधर, भिंड जिले के लहार में गोपाल आईस फैक्ट्री से 2000 लीटर सिंथेटिक दूध, 1000 किलो सिंथेटिक मावा और डेढ़ हजार किलो सिंथेटिक पनीर जब्त हुआ है।  आगे पढ़ें

prepare-the-proposal-to-punish-adulterers-with-str

मिलावटखोरों पर सख्त सरकार, अजीवन कारावास से दंडित करने प्रस्ताव हो रहा तैयार

गृह मंत्री ने बताया कि प्रदेश में मिलावटखोरों के विरूद्ध कठोर कार्रवाही की जा सके इसके लिये खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम की विभिन्न धाराओं में उप पुलिस अधीक्षक और उससे वरिष्ठ स्तर के पुलिस अधिकारियों को मिलावटखोरों के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिये अधिकृत किया गया है। मुरैना जिले के अम्बाह में वन खडेश्वरी डेयरी में छापेमारी की कार्यवाही की गई है। फैक्ट्री के मालिक देवेन्द्र गुर्जर को एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। इस फैक्ट्री से 12 हजार लीटर सिंथेटिक दूध और 2 हजार 500 लीटर कच्चा सिंथेटिक दूध जप्त किया गया है।  आगे पढ़ें

pmt-scam-186-accused-were-involved-in-two-criminal

पीएमटी घोटाला: 2006 से 2013 तक दो आपराधिक मामलों में बनाए गए थे 186 आरोपित

व्यापमं ने पहले परीक्षा की जांच कर प्रतिवेदन गृह विभाग को न भेजते हुए सीधे एसटीएफ को भेजा था, इस पर पुलिस प्रकरण दर्ज हुआ था। गृहमंत्री ने कहा कि सीबीआई को सुपुर्द किए गए व्यापमं संबंधी अपराधों में तत्कालीन एसआईटी अपराधवार समीक्षा करती थी और सीधे विवेचक को निर्देश देती थी। विवेचक निदेर्शों को डायरी में शामिल करते थे। नौ जुलाई 2015 को प्रकरण सीबीआई को सौंप दिए गए। इस मामले में जब पूर्व मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा से मीडिया ने सवाल किया तो उन्होंने कहा कि मैंने पढ़ा है, लेकिन वे दोषी तो किसी को बता ही नहीं रहे हैं। अगर कुछ है तो उसे सामने लाना चाहिए।  आगे पढ़ें

home-minister-said-in-the-house-will-be-withdrawn-

गृहमंत्री ने सदन में कहा- वापस लिए जाएंगे राजनीतिक विद्वेष से लगाए गए मुकदमे

विधानसभा चुनाव के वक्त कांग्रेस ने सत्तारूढ़ भाजपा पर राजनीतिक विद्वेष के चलते मंदसौर सहित अन्य किसान आंदोलन में किसानों के ऊपर झूठे आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने के आरोप लगाए थे। साथ ही वचन पत्र में वादा किया था कि सरकार आने पर प्रकरण वापस लिए जाएंगे। इसको लेकर हरदीप सिंह डंग के सवाल पर गृह मंत्री की ओर से लिखित जवाब दिया गया कि विधिसम्मत प्रक्रिया के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज किए गए हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति