होम बर्फबारी
over-1200-flights-canceled-at-2-airports-due-to-he

शिकागो में भारी मात्रा में बर्फ जमने से 2 हवाई अड्डों पर 1200 से ज्यादा उड़ानें रद्द, शहर में 6 इंच तक बर्फ जमी

अमेरिका के शिकागो में ओहारा और मिडवे हवाई अड्डों पर भारी मात्रा में बर्फ होने के कारण सोमवार को 1,200 से ज्यादा उड़ानों को रद्द कर दिया गया। शहर और आसपास के इलाकों में भारी बर्फबारी हुई है। शिकागो डिपार्टमेंट आॅफ एविएशन के अनुसार, शाम 5 बजे तक ओहारा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 1,114 उड़ानें रद्द कर दी गई, जबकि मिडवे पर 98 उड़ानें रद्द कर दी गईं।  आगे पढ़ें

snowfall-in-valley-affects-life-6-deaths-including

घाटी में बर्फबारी से जन-जीवन पर असर, हादसों में दो जवानों समेत 6 की मौत, उड़ाने रद्द

जम्मू-कश्मीर में बुधवार से हो रही भारी बर्फबारी का असर आम जन-जीवन पर पड़ा है। बर्फबारी के दौरान हुए हादसों में सेना के दो जवानों समेत 6 लोगों की मौत हो गई। श्रीनगर एयरपोर्ट पर लो विजिबिलिटी के चलते सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। श्रीनगर-जम्मू हाईवे बंद हो गया है। श्रीनगर के लानगेट इलाके में लो विजिबिलिटी के चलते सेना का वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे में राइफलमैन भीम बहादुर और गनर अखिलेश कुमार की मौत हो गई। कुपवाड़ा में हिमस्खलन के चलते सेना की पोस्ट पर माल ढुलाई का काम कर रहे दो लोगों की मौत हो गई। इनके नाम मंजूर अहमद और इशाक खान हैं। इसी तरह श्रीनगर में विद्युत विभाग के एक कर्मचारी और हबाक इलाके में एक अन्य व्यक्ति की जान हादसे में चली गई।  आगे पढ़ें

pahaadon-mein-barphabari-se-kai-aajyon-mein-kadake

पहाड़ों में बर्फबारी से कई राज्यों में कड़ाके की ठंड, जनजीवन हुआ अस्तव्यस्त

कश्मीर की लाइफ लाइन जवाहर टनल, काजीगुंड में बर्फबारी और बनिहाल-बटोत (जम्मू संभाग) की तरफ बारिश होने से हाईवे में जगह जगह फिसलन हो गई है। जम्मू के पुंछ से कश्मीर को जोड़ने वाला मुगल रोड और श्रीनगर लेह हाईवे पहले भी बंद है। विश्व प्रसिद्ध तीर्थस्थल माता वैष्णो देवी का भवन लगातार बर्फ की सफेद चादर में ढक गया है। भैरो घाटी, सांझी छत और भवन मार्ग बर्फ से लद गए हैं। भवन से भैरो घाटी के मध्य चलने वाली पैसेंजर केबल कार सेवा और आधार शिविर कटड़ा से चलने वाली हेलीकॉप्टर और पैसेंजर केबल कार सेवा ठप रही।  आगे पढ़ें

baarish-aur-barphabari-se-himachal-mein-kadaake-ki

बारिश और बर्फबारी से हिमाचल में कड़ाके की ठंड, शिमला में तापमान शून्य से नीचे लुढ़का

सोमवार को प्रदेश में न्यूनतम तापमान में सामान्य से तीन से चार डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान में सामान्य से चार से पांच डिग्री सेल्सियस की कमी आई। लोगों को ठंड से जल्द राहत मिलने के आसार नहीं हैं। पहले हुई भारी बर्फबारी के कारण कई क्षेत्र शेष विश्व से कटे हुए हैं। हालांकि प्रशासन अवरुद्ध मार्गों को बहाल करने में जुटा हुआ है मगर जनजातीय क्षेत्रों सहित अन्य इलाकों में जनजीवन सामान्य नहीं हुआ है। ठंड के कारण प्रदेश के ऊपरी इलाकों में पानी जमने से कई पेयजल योजनाएं प्रभावित हैं। इन क्षेत्रों में लोग पानी के लिए तरस रहे हैं। बर्फबारी के कारण कई इलाकों में बिजली आपूर्ति बाधित है। किन्नौर, लाहुल स्पीति व डोडरा क्वार में विद्युत आपूर्ति बहाल नहीं हुई है। निचार, कल्पा व जुब्बल में सोमवार को विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गई।  आगे पढ़ें

himalayi-kshetron-mein-barphabaaree-ke-baad-uttar-

हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी के बाद उत्तर भारत शीतलहर की चपेट में, देरी से चल रही हैं कई ट्रेन

जानकारी के मुताबिक कोहरे के कारण ट्रेन निर्धारित समय से 1 घंटे से लेकर 8 घंटे तक की देरी से चल रही हैं। लंबी दूरी वाली ट्रेनें निर्धारित समय से देरी से चल रही हैं, जिसके कारण यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है। सरयू एक्सप्रेस, धनबाद-अलेप्पी एक्सप्रेस, कामायनी एक्सप्रेस, ब्रह्मपुत्रा मेल समेत कई और ट्रेन देरी से चल रही हैं।  आगे पढ़ें

madhyapradesh-mein-kold-vaar-barphili-havaon-se-ka

मध्यप्रदेश में कोल्ड वार: बर्फीली हवाओं से कांपा मप्र, घरों में दुबके लोग, आज कई जिलों में स्कूलों की छुट्टी

रतलाम से मिली खबर के अनुसार शीतलहर के कारण जिले के सभी शासकीय अशासकीय स्कूलों में 28 जनवरी को अवकाश रहेगा। कलेक्टर रुचिका चौहान ने बताया कि विद्यार्थियों को परेशानी से बचाने के लिए 28 जनवरी को सभी स्कूलों की पहली से लेकर 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए कक्षाएं संचालित नहीं होंगी। अत्यधिक शीत लहर को ध्यान में रख कर कलेक्टर भरत यादव ने 28 जनवरी को जिले के आठवी तक के सभी शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों में बच्चों के लिए अवकाश रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों एवं संचालकों को हिदायत दी है कि बच्चों को ठंड से बचाने के लिए इस आदेश का अनिवार्यत: पालन करें।  आगे पढ़ें

talkh-hua-mausam-ka-mijaaj-himaachal-mein-barphaba

तल्ख हुआ मौसम का मिजाज, हिमाचल में बर्फबारी से लोगों की बढ़ी परेशानी, 60 सड़कें हुईं बंद

गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे कई स्थानों पर बंद है। केदारघाटी का भी यही हाल है। केदारनाथ में कई जगह पांच से छह फीट बर्फ जमा हो चुकी है। गौरीकुंड और केदारनाथ के बीच भारी बर्फबारी से बिजली लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण केदारनाथ में चौथे दिन भी बिजली की आपूर्ति बहाल नहीं की जा सकी। चमोली में बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब के अलावा जोशीमठ, औली और गोरसो बुग्याल में जबरदस्त हिमपात हुआ है। उधर, सोमवार से रुद्रप्रयाग के चोपता में फंसे 70 से ज्यादा पर्यटकों को एसडीआरएफ की टीम ने सकुशल निकाल लिया।  आगे पढ़ें

mausam-ka-yoo-tarn-baarish-aur-barphabaaree-se-utt

मौसम का यू-टर्न: बारिश और बर्फबारी से उत्तर भारत हुआ बेहाल, हिमाचल में 500 सड़कें बंद

कश्मीर में हिमस्खलन से दो की मौत हो गई है वहीं दिल्ली, नोएडा व आसपास के क्षेत्रों में झमाझम बारिश से जलजमाव हो गया। वैष्णोदेवी में बर्फबारी के कारण हेलिकॉप्टर व केबल कार सेवा रोक दी गई। जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद उधर जम्मू-कश्मीर के रामबन जिले में 12 साल की एक लड़की समेत दो लोगों की बर्फ में दबने से मौत हो गई। काजीगुंड में जवाहर टनल के पास हिमस्खलन से दोनों रास्ते बंद हो गए। इस कारण जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद करना पड़ा।  आगे पढ़ें

mausam-ne-badalee-karavat-himaalayee-raajyon-mein-

मौसम ने बदली करवट, हिमालयी राज्यों में बर्फबारी के साथ बारिश, दिल्ली में दिन में ही हुआ अंधेरा

मौसम का असर ट्रेनों और फ्लाइट्स पर भी देखा जा रहा है। दिल्ली से चलने वालीं करीब 15 ट्रेनें लेट हैं। दिल्ली-एनसीआर में बारिश की शुरूआत सोमवार शाम से हो गई थी। मंगलवार देर रात से फिर बादल बरसने लगे, जिससे ठिठुरन बढ़ गई। दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद में सड़कों पर पानी भरा हुआ भी नजर आ रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में अगले चार दिन मौसम ऐसा ही बना रहेगा।  आगे पढ़ें

mausam-ne-badalee-karavat-himaalayee-raajyon-mein-

मौसम ने बदली करवट, हिमालयी राज्यों में बर्फबारी के साथ बारिश, दिल्ली में दिन में ही हुआ अंधेरा

मौसम का असर ट्रेनों और फ्लाइट्स पर भी देखा जा रहा है। दिल्ली से चलने वालीं करीब 15 ट्रेनें लेट हैं। दिल्ली-एनसीआर में बारिश की शुरूआत सोमवार शाम से हो गई थी। मंगलवार देर रात से फिर बादल बरसने लगे, जिससे ठिठुरन बढ़ गई। दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद में सड़कों पर पानी भरा हुआ भी नजर आ रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में अगले चार दिन मौसम ऐसा ही बना रहेगा।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति