होम दिग्विजय सिंह
protest-against-inflation-congress-came-out-on-the

महंगाई का विरोध: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस, दुकानें बंद कराने कांग्रेसियों के ही छूटे पसीनें

पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर के लगातार बढ़ते दामों और अन्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आधे दिन के बंद के लिए कांग्रेसी शनिवार को सड़कों पर उतरे। प्रदेश में आज बंद कराने में कांग्रेसियों का पसीना छूट गया। लोगों ने कई जगह कांग्रेस का साथ नहीं दिया। भोपाल में कांग्रेसी कार्यकर्ता कुछ दुकानें जबरन बंद कराने लगे, तो पुलिस ने पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत 11 कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबलपुर में बंद के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रांझी क्षेत्र में कपड़ा व्यापारी के साथ मारपीट की। इंदौर और उज्जैन में भी बंद कराने निकले कांग्रेसियों का दुकानदारों ने विरोध किया।  आगे पढ़ें

protest-against-inflation-congress-came-out-on-the

महंगाई का विरोध: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस, दुकानें बंद कराने कांग्रेसियों के ही छूटे पसीनें

पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर के लगातार बढ़ते दामों और अन्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आधे दिन के बंद के लिए कांग्रेसी शनिवार को सड़कों पर उतरे। प्रदेश में आज बंद कराने में कांग्रेसियों का पसीना छूट गया। लोगों ने कई जगह कांग्रेस का साथ नहीं दिया। भोपाल में कांग्रेसी कार्यकर्ता कुछ दुकानें जबरन बंद कराने लगे, तो पुलिस ने पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत 11 कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबलपुर में बंद के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रांझी क्षेत्र में कपड़ा व्यापारी के साथ मारपीट की। इंदौर और उज्जैन में भी बंद कराने निकले कांग्रेसियों का दुकानदारों ने विरोध किया।  आगे पढ़ें

protest-against-inflation-congress-came-out-on-the

महंगाई का विरोध: पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस, दुकानें बंद कराने कांग्रेसियों के ही छूटे पसीनें

पेट्रोल-डीजल, गैस सिलेंडर के लगातार बढ़ते दामों और अन्य वस्तुओं की बढ़ती कीमतों के खिलाफ आधे दिन के बंद के लिए कांग्रेसी शनिवार को सड़कों पर उतरे। प्रदेश में आज बंद कराने में कांग्रेसियों का पसीना छूट गया। लोगों ने कई जगह कांग्रेस का साथ नहीं दिया। भोपाल में कांग्रेसी कार्यकर्ता कुछ दुकानें जबरन बंद कराने लगे, तो पुलिस ने पूर्व मंत्री पीसी शर्मा समेत 11 कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबलपुर में बंद के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रांझी क्षेत्र में कपड़ा व्यापारी के साथ मारपीट की। इंदौर और उज्जैन में भी बंद कराने निकले कांग्रेसियों का दुकानदारों ने विरोध किया।  आगे पढ़ें

ab-kangana-ki-pratikriya-ka-intajar

अब कंगना की प्रतिक्रिया का इंतजार..

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से अभिनेत्री कंगना रनौत को लेकर सवाल पूछा गया। सिंह बोले, कौन कंगना रनौत? अब जाहिर है कि देश के स्तर पर कांग्रेस का रह-रहकर पानी उतार देने वाली कंगना के लिए दिग्विजय भी भीतर से भरे हुए ही होंगे। लेकिन उनके अंदर भी सियासी चतुराई समायी हुई है। एक महिला को लेकर अपने गुस्से का इजहार कर देते तो मुमकिन है कि बाल की खाल वाली गैंग उलटा दिग्विजय पर ही पिल पड़ती। वैसे भी पूर्व मुख्यमंत्री टंच माल के बाद से छाछ भी फूंक-फूंककर ही पी रहे हैं। इसलिए उन्होंने एक वाक्य से कंगना को चित करने की कोशिश की। लेकिन अखाड़ों के बाहर भी मानसिक दांव-पेंच लगते ही हैं। read more  आगे पढ़ें

diggi-held-the-government-responsible-for-the-deat

जहरीली शराब से 24 लोगों की मौत पर दिग्गी ने सरकार को ठहराया जिम्मेदार, कहा- शराब को लेकर भाजपा के सुर समझ में नहीं आते, हम किसकी बात सही मानें

मुरैना में जहरीली शराब से 24 लोगों की मौत के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह प्रदेश सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि शराब को लेकर भाजपा के सुर ही समझ नहीं आते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती कहती हैं शराबबंदी होगी। एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कहते हैं कि शराब की नई दुकानें नहीं खोलेंगे। वहीं प्रबल इच्छा रखने वाले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा कहते हैं कि और शराब दुकानें खोलेंगे। ऐसे बयान हास्यास्पद लगते हैं। आखिर हम किसकी बात को सही मानें, समझ में ही नहीं आता है।  आगे पढ़ें

mafia-attack-on-police-awakening-government-after-

पुलिस पर माफियाओं का हमला: विपक्ष के घेरने के बाद जागी सरकार, शिवराज ने बुलाई आला अफसरानों की बैठक, दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश

ग्वालियर और देवास में माफिया द्वारा पुलिस और वन कर्मी पर हमले की घटना को लेकर कांग्रेस ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ओर दिग्विजय सिंह ने दोनों घटनाओं पर सीधे तौर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा है। इसके बाद मुख्यमंत्री ने अफसरों की बैठक बुलाई। दोनों घटनाओं पर उन्होंने अफसोस जताया और निर्देश दिए कि अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।  आगे पढ़ें

raja-vs-maharaja-in-the-house-scindia-took-the-sid

सदन में राजा बनाम महाराजा: सिंधिया ने एनडीए का रखा पक्ष तो दिग्गी ने ली चुटकी, कहा वाह जी महाराज वाह, सिंधिया बोले- सब आपका आशिर्वाद है

राज्यसभा में गुरुवार को तब ठहाके लगने लगे, जब कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए ज्योतिरादित्य सिंधिया के तुरंत बाद दिग्विजय सिंह का नाम चर्चा में हिस्सा लेने के लिए पुकारा गया। ठहाकों के बीच सभापति एम वेंकैया नायडू ने चुटकी ली, बोले- मैंने कुछ परिवर्तन तो किया नहीं। लिस्ट में जो नाम आए, उसी के हिसाब से मैंने आपका नाम पुकारा। इस पर दिग्विजय सिंह भी मुस्कुरा दिए।  आगे पढ़ें

diggally-digvi-targeted-the-union-government-said-

संस्कारधानी से दिग्गी ने संघ-सरकार पर साधा निशाना, कहा- भाजपा से जुड़े लोग भगवान राम से सीताजी को अलग कर नारे लगा रहे

जबलपुर प्रवास पर पहुंचे मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने संघ और भाजपा पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में जय सिया राम का नारा दिया था। लेकिन भाजपा से जुड़े लोग भगवान राम से सीता जी को अलग कर नारे लगा रहे हैं। उन्होंने सवाल किया है कि माता सीता से अलग होकर क्या श्रीराम हो सकते हैं? कोरोना वैक्सीन पर विपक्ष पर लग रहे राजनीति के आरोपों पर भी पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सफाई दी।  आगे पढ़ें

congress-on-the-road-to-support-farmers-police-nie

किसानों का समर्थन करने कांग्रेस सड़क पर: राजभवन का घेराव करने जा रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने भांजी लाठियां, छोड़े आंसू गैस के गोले

मध्य प्रदेश का मुख्य विपक्षी दल यानी कांग्रेस पार्टी शनिवार को पीसीसी अध्यक्ष कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस के अन्य बड़े-छोटे नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ राजधानी भोपाल स्थित राजभवन का घेराव करने के लिये दोपहर 11 बजे जवाहर चौक पर इकट्ठे हो गए थे। यहां से एक विशाल रैली राजभवन के लिए रवाना हुई। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था में तैनात पुलिस ने किसानों के हित के लिये मैदान में उतरी कांग्रेस की रैली को रोशनपुर से आगे ही नहीं जाने दिया।  आगे पढ़ें

after-the-protest-kamal-nath-said-the-attitude-of-

प्रदर्शन के बाद कमलनाथ ने कहा- पुलिस का रवैय्या निंदनीय, बर्बर लाठीचार्ज, वॉटर केनन का इस्तेमाल और गिरफ्तारी सरकार के इशारे पर

केन्द्र सरकार द्वारा लागू किये गए कृषि कानूनों के विरोध में देशभर के साथ-साथ शनिवार को मध्य प्रदेश के मुख्य विपक्षी दल यानी प्रदेश कांग्रेस द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के नेतृत्व में राजभवन का घेराव करने की तैयारी की थी। इस दौरान हजारों की संख्या में कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता और किसान शामिल हुए थे।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति