होम दक्षिण
hurricane-prevention-may-hit-south-coast-at-2-pm-c

रात दो बजे दक्षिणी तट से टकरा सकता है तूफान निवार, चेन्नई एयर पोर्ट कल के लिए बंद, तमिलनाडु में 1 लाख लोगों को किया शिफ्ट

बंगाल की खाड़ी से उठा निवार तूफान अभी पुडुचेरी से 120 किलोमीटर दूर है और इसकी रफ्तार 11 किमी/घंटा है। आज रात 2 बजे के बाद यह दक्षिणी तट से टकरा सकता है। इसके बाद तूफान कराईकल (आंध्र प्रदेश) और महाबलीपुरम (तमिलनाडु) को पार करेगा। यहां से गुजरते वक्त 145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। राहत और बचाव कार्यों के लिए आईएनएस ज्योति पहले ही तमिलनाडु पहुंच चुका है और आईएनएस सुमित्र विशाखापट्टनम से रवाना हो चुका है।  आगे पढ़ें

bjp-eyes-now-in-the-south-amit-shah-arrives-in-che

भाजपा की नजरें अब दक्षिण में: अमित शाह पहुंचे चेन्नई, समर्थकों का अभिवादन करने प्रोटोकॉल की नहीं की परवाह, सड़क पर उतरे गृहमंत्री

बिहार विधानसभा में एक बार फिर से एनडीए की सरकार बनवाने के बाद अब बीजेपी की नजरें दक्षिण पर टिक गई हैं। इसके लिए पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने खुद मोर्चा संभाल लिया है। अमित शाह ने शनिवार को चेन्नई में अपने समर्थकों का अभिवादन करने के लिए प्रोटोकॉल तक की परवाह नहीं की। वे वाहन से बाहर निकले और हवाई अड्डे के बाहर व्यस्त जीएसटी रोड पर पैदल चलने लगे।  आगे पढ़ें

number-of-corona-patients-increasing-continuously-

मप्र में लगातार बढ़ रही कोरोना मरीजों संख्या, खरगोन में मरकज से लौटा व्यक्ति मिला संक्रमित, इंदौर में चार लोगों की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

शहर में शनिवार को कोरोना के दो नए मरीज मिले। इंदौर से चार रिपोर्ट में से दो पॉजिटिव आई हैं। इसमें दक्षिण अफ्रीका में धार्मिक यात्रा और दिल्ली में मरकज में शामिल होकर लौटा 49 साल का व्यक्ति संक्रमित पाया गया। इसके अलावा 15 दिन पहले पेरिस से नौकरी कर लौटे आसनगांव का युवक भी संक्रमित पाया गया। दोनों आईसोलेशन में भर्ती हैं।  आगे पढ़ें

corona-havoc-corona-infection-in-a-10-month-old-ch

कोरोना का कहर: कर्नाटक में 10 महीने के बच्चे में कोरोना का संक्रमण, देश में अब 878 मामलो आए सामने

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ में एक दस महीने के बच्चे में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। बच्चे को बुखार था और सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। उसे 23 मार्च को मंगलुरु के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बच्चे के स्वाब के नमूने जांच के लिए भेजे गए, जिसमें कोरोनावायरस की पुष्टि हुई। फिलहाल बच्चे की हालत स्थिर है और उसका इलाज चल रहा है। देश में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 878 मामले सामने आ चुके हैं। ये आंकड़े कोविड19 इंडिया डॉट ओआरजी के मुताबिक हैं। हालांकि, सरकार ने देश में अभी 743 कोरोना पॉजिटिव मिलने की ही पुष्टि की है। शुक्रवार को सबसे ज्यादा 39 नए मामले केरल में सामने आए। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 176 हो गई। देश में कोरोना के 66 मरीज ठीक भी हो चुके हैं।  आगे पढ़ें

coronavirus-112-indians-and-36-foreign-nationals-s

कोरोनावायरस: चीन के सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर फंसे 112 भारतीयों और 36 विदेशी नागरिकों को लगाया गया भारत

जापानी शिप से 119 भारतीयों और 5 विदेशी नागरिकों और चीन के सबसे ज्यादा प्रभावित वुहान शहर से 112 भारतीय नागरिक समेत 36 विदेशियों को नई दिल्ली लाया गया। जापान से लाए गए पांच विदेशियों में श्रीलंका, नेपाल, दक्षिण अफ्रीका और पेरू के नागरिक शामिल हैं। भारत सरकार ने लोगों को वहां से निकालने में मदद करने के लिए जापान सरकार का धन्यवाद किया है। 5 फरवरी से ही डायमंड प्रिंसेस शिप को जापान के योकोहामा पोर्ट पर रोका गया था। इसमें 138 भारतीय फंसे हुए थे, जिसमें 16 कोरोनावायरस से संक्रमित हैं।  आगे पढ़ें

the-last-solar-eclipse-of-the-decade-started-seen-

दशक का आखिरी सूर्य ग्रहण शुरू, देश के कई शहरों में दिया दिखाई, 10.56 बजे तक रहेगा चंद्रमा के आगोश में

दशक का आखिरी सूर्य ग्रहण गुरुवार सुबह 8:04 बजे शुरू हुआ। ये मुंबई, बेंगलुरु, दिल्ली, चेन्नई, मैसूर, कन्याकुमारी समेत देश के कई शहरों में दिखाई दे रहा है। अधिकतम स्थानों पर खंडग्रास और दक्षिण भारत की कुछ जगहों पर कंकणाकृति सूर्य ग्रहण नजर आया। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार, भारत के अलावा ये ग्रहण एशिया के कुछ देश, अफ्रीका, आॅस्ट्रेलिया में भी दिखाई देगा। भारत में ग्रहण काल 2.52 घंटे का रहेगा। 9:30 बजे मध्य काल और 10:56 बजे ग्रहण खत्म होगा।  आगे पढ़ें

chandrayaan-2-lander-vikrams-contact-with-earth-br

चन्द्रयान-2 का लैंडर विक्रम का लैंडिंग से महज 69 सेकेंड पहले पृथ्वी टूटा संपर्क, अब आर्बिटर से उम्मीद

इसरो मुख्यालय के कंट्रोल रूम में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विजिटर गैलरी से रवाना हो गए। इसके बाद वहां इसरो के पूर्व चेयरमैन मौजूदा चीफ डॉ. सिवन का हौसला बढ़ाते दिखे। डॉ. सिवन की तरफ से संपर्क टूटने की घोषणा होने के बाद प्रधानमंत्री दोबारा वैज्ञानिकों के बीच लौटे और उनका हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा- जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। जो आपने किया, वो छोटा नहीं है। आगे भी हमारी कोशिशें जारी रहेंगी। देश को अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है। मैं पूरी तरह वैज्ञानिकों के साथ हूं। आगे भी हमारी यात्रा जारी रहेगी। मैं आपके साथ हूं। हिम्मत के साथ चलें। आपके पुरुषार्थ से देश फिर से खुशी मनाने लग जाएगा। आपने जो कर दिखाया है, वह भी बहुत बड़ी उपलब्धि है।  आगे पढ़ें

defense-minister-said-in-seoul-india-has-never-att

सियोल में बोले रक्षामंत्री, कहा- भारत ने इतिहास में कभी भी किसी देश पर हमला नहीं किया

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में कहा कि भारत ने इतिहास में कभी भी किसी देश पर हमला नहीं किया, लेकिन हम अपनी सुरक्षा में मजबूत कदम उठाने से नहीं हिचकेंगे। हमारा मकसद देश की सुरक्षा को हर हाल में मजबूत करना है। भारत की रक्षा कूटनीति इस रणनीति का मुख्य स्तंभ है। यह बात उन्होंने सियोल डिफेंस डायलॉग के विशेष सत्र को संबोधित करते हुए कही।  आगे पढ़ें

tonight-chandrayaan-2-will-land-on-the-south-pole-

आज रात चांद के दक्षिण ध्रुव पर उतरेगा चन्द्रयान-2, ऐसा करने वाला भारत बनेगा पहला देश

इसरो के पूर्व प्रमुख जी माधवन नायर के मुताबिक- विक्रम आॅन बोर्ड कैमरों से सही स्थान का पता लगेगा। जब जगह मैच हो जाएगी, तो उसमें लगे 5 रॉकेट इंजनों की स्पीड 6 किमी प्रति सेकंड से शून्य हो जाएगी। लैंडर नियत जगह पर कुछ देर हवा में तैरेगा और धीमे से उतर जाएगा। लैंडर सही जगह उतरे, इसके लिए एल्टिट्यूड सेंसर भी मदद करेंगे। नायर ने यह भी बताया कि सॉफ्ट लैंडिंग कराने के लिए लैंडर में लेजर रेंजिंग सिस्टम, आॅन बोर्ड कम्प्यूटर्स और कई सॉफ्टवेयर लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि यह एक बेहद जटिल आॅपरेशन है। मुझे नहीं लगता कि किसी भी देश ने रियल टाइम तस्वीरें लेकर आॅन बोर्ड कम्प्यूटरों के जरिए किसी यान की चांद पर लैंडिंग कराई है।  आगे पढ़ें

chandrayaan-2-de-arbit-successfully-for-the-last-t

चन्द्रयान-2: विक्रम लैंडर को आखिरी बार सफलतापूर्वक किया डि-आर्बिट, 7 सितंबर को उतरेगा चांद पर

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बुधवार तड़के 3.42 बजे चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर को दूसरी और आखिरी बार सफलतापूर्वक डि-आर्बिट किया। यानी अब यह चांद के दक्षिणी ध्रुव की ओर अंतिम कक्षा में पहुंच गया है। विक्रम की अब चंद्रमा से न्यूनतम 35 किमी और अधिकतम 101 किमी दूरी है। विक्रम यहीं से चांद पर 7 सितंबर को उतरेगा। इसरो ने कहा कि इस आॅपरेशन के साथ ही विक्रम के चंद्रमा की सतह पर उतरने के लिए जरूरी कक्षा हासिल कर ली गई है। आर्बिटर और लैंडर सही काम कर रहे हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति