होम डोनाल्ड ट्रंप
violence-in-america-trump-supporters-create-chaos-

अमेरिका में हिंसा: ट्रंप समर्थकों ने संसद परिसर में मचाया उत्पात, खूनी संघर्ष में चार की मौत, वाशिंगटन में 15 दिन के लिए पब्लिक इमरजेंसी

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के अंतिम दिनों में अमेरिका ने एक बार फिर हिंसा का रूप देखा है। इस बार वाशिंगटन स्थित कैपिटल हिल में डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने जबरदस्त हंगामा किया। जब भारत में देर रात का वक्त था उस वक्त हजारों की संख्या में ट्रंप समर्थक हथियारों के साथ कैपिटल हिल में घुस गए, यहां तोड़फोड़ की, सीनेटरों को बाहर किया और कब्जा कर लिया। वाशिंगटन डीसी स्थित संसद के बाद डोनाल्ड ट्रंप के खूनी संघर्ष के बाद मेयर मुरील बाउजर ने 15 दिन के लिए पब्लिक इमरजेंसी को घोषित कर दिया है।  आगे पढ़ें

ye-rishta-kya-kahalata-hai

ये रिश्ता क्या कहलाता है?

पेट पर लात पड़ने का दर्द तो हराम की खाने वालों को भी होता ही है। भारतीय मीडिया में कई भाई लोग पेट दर्द से बिलबिला रहे हैं। छह साल से अधिक समय से उन्हें मरोड़ उठ रही है, क्योंकि मोदी ने उनकी मुफ्तखोरी वाली विदेश यात्राओं जैसी कुप्रथा को बंद कर दिया है। देशी मीडिया का एक वर्ग मोदी के खिलाफ उल्टी कर-करके अधमरा हो गया। लेकिन मतदाता ने फिर उनके हाथ में ही मुल्क की सत्ता सौंप दी। यहीं से शुरू हुआ वह खेल, जिसके मूलाधार का पता लगाना नामुमकिन हो गया है। लेकिन इसके पीछे की नीयत को समझाना पूरी तरह से मुमकिन है। विदेश के मीडिया की दिलचस्पी भारत के उन घटनाक्रमों में विशेष रूप से गहरी है, जिनमें साजिशन घुमा-फिराकर हिंदुत्व के विरोध वाला तड़का लगाया जा सके।  आगे पढ़ें

the-threat-of-war-from-china-increases-america-wil

चीन से जंग का खतरा बढ़ा: ड्रैगन की बढ़ती दादागिरी देख अमेरिका ने कसी कमर, जापान-आॅस्ट्रेलिया से लेकर तक पूरे एशिया में तैनात करेगा हजारों सैनिक

भारत समेत एशिया में पड़ोसी देशों के साथ चीन की बढ़ती दादागिरी को देखते हुए अमेरिका ने ड्रैगन से मुकाबले के लिए कमर कस ली है। अमेरिका अपने हजारों सैनिकों को जापान से लेकर आॅस्ट्रेलिया से तक पूरे एशिया में तैनात करने जा रहा है। डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन का मानना है कि इंडो-पैसफिक इलाके में शीत युद्ध के बाद यह सबसे महत्वपूर्ण भूराजनैतिक चुनौती है। इस तैनाती के बाद अमेरिकी सेना अपने वैश्विक दबदबे को फिर से कायम करेगी। उधर, ब्रिटेन भी अपने हजारों कमांडो स्वेज नहर के पास तैनात कर रहा है।  आगे पढ़ें

reports-of-impeachment-investigation-against-us-pr

अमेरिकी राष्ट्रपति के खिलाफ चल रही महाभियोग जांच की रिपोर्ट जारी, ट्रंप दोषी करार

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ चल रही महाभियोग जांच की प्राथमिक रिपोर्ट जारी हो गई है। डेमोक्रेटिक पार्टी के बहुमत वाली अमेरिकी सदन की न्यायिक समिति ने बुधवार सुबह रिपोर्ट जारी किया। इस रिपोर्ट में डोनाल्ड ट्रंप को अपने व्यक्तिगत और राजनीतिक उद्देश्यों के लिए देश के हित से समझौता करने और अपने आॅफिस की शक्तियों का गलत इस्तेमाल करते हुए आगामी राष्ट्रपति चुनाव में अपने पक्ष में विदेशी मदद मांगने का दोषी करार दिया गया है। दूसरी ओर, व्हाइट हाउस के प्रवक्ता ने इस रिपोर्ट की आलोचना करते हुए इसे एकतरफा झूठी कार्रवाई करार दिया है।  आगे पढ़ें

trumps-a-strange-suggestion-to-end-the-storm-said-

तूफान को खत्म करने ट्रंप ने अजीबो-गरीब सलाह, कहा- तूफान के केन्द्र में गिरा दो परमाणु बम

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त राज्य अमेरिका की धरती को छूने से पहले ही तूफान को खत्म करने के लिए अजीबो-गरीब सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि हरिकेन तूफान के केंद्र में परमाणु बम गिरा दिया जाए। एक हरीकेन ब्रीफिंग के दौरान ट्रंप ने पूछा कि क्या तूफान के केंद्र में परमाणु बम गिराकर अफ्रीका के तट से उठ रहे तूफान को बाधित किया जा सकता है। समाचार साइट एक्सिओस ने यह रिपोर्ट दी है।  आगे पढ़ें

britains-new-pm-boris-today-will-take-oath-three-p

ब्रिटेन के नए पीएम बोरिस आज लेंगे शपथ, कैबिनेट का हिस्सा बन सकते हैं भारतीय मूल के तीन लोग

यूरोपियन कमीशन के प्रेसिडेंट जीन-क्लाउड जंकर और यूरोपियन यूनियन के मुख्य वातार्कार माइकल बर्नियर ने कहा है कि वह बोरिस के साथ आगे काम करेंगे। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बोरिस को बधाई देते हुए कहा है कि वह ब्रेक्जिट को पूरा करेंगे। ट्रंप ने कहा कि बोरिस महान नेता साबित होंगे। निवर्तमान प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने भी जॉनसन को बधाई दी।  आगे पढ़ें

us-secretary-of-state-popeo-meets-pm-modi-will-now

अमेरिकी विदेश मंत्री पोंपियो ने पीएम मोदी से की मुलाकात, अब भारतीय विदेश मंत्री से करेंगे मुलाकात

पोंपियो की यात्रा इसलिए भी अहम है कि हाल ही में अमेरिका ने इस पर आपत्ति जताई है कि भारत, रूस से एस -400 सिस्टम खरीदने जा रहा है। इस बारे में विदेश मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि रूस के साथ बेहद पुराने रिश्तों को भारत नकार नहीं सकता। वैसे भी रूस पर अमेरिकी प्रतिबंध लगाने संबंधी कानून में भारत को छूट मिलनी चाहिए। अमेरिका जानता है कि भारत किस तरह की रणनीतिक जरुरत के लिए इस सिस्टम को खरीद रहा है। इसी तरह से ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध का भी मुद्दा है जो सीधे तौर पर भारत के हितों को प्रभावित करता है। यह मुद्दा भी पोंपियो के साथ उठाया जाएगा।  आगे पढ़ें

lucky-people-from-india-that-they-got-prime-minist

भाग्यशाली हैं भारत के लोग कि उन्हें मोदी जैसा प्रधानमंत्री मिला- डोनाल्ड ट्रंप

बताते चलें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने जापान में जी-20 शिखर सम्मेलन में मिलने पर सहमत हुए हैं। दोनों नेताओं ने अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने और पिछले दो साल की उपलब्धियों पर और अधिक काम करने का इरादा जाहिर किया। व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा कि दोनों नेता ओसाका में जी-20 शिखर सम्मेलन में एक-दूसरे से मुलाकात को लेकर उत्सुक हैं।  आगे पढ़ें

us-president-told-the-pulwama-attack-the-gruesome-

अमेरिकी राष्ट्रपति ने पुलवामा हमले को बताया भीषण, कहा- समय आने पर देंगे बयान

ट्रंप ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि हमें इस मामले पर कई रिपोर्ट्स मिली हैं। सही समय आने पर इस पर बयान जारी किया जाएगा। ट्रंप ने कहा कि आंतकी हमले की वजह से भयानक स्थिति पैदा हो गई है। बता दें कि इससे पहले आतंकी हमले पर अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने भारत का समर्थन किया था। हमले के बाद जॉन बोल्टन ने भारतीय एनएसए अजीत डोभाल से फोन पर बातचीत करते हुए आतंकवाद के खिलाफ भारत की लड़ाई में साथ देने का आश्वासन दिया था।  आगे पढ़ें

voshingatan-post-ka-daava-har-din-17-jhooth-bolate

वॉशिंगटन पोस्ट का दावा, हर दिन 17 झूठ बोलते हैं ट्रंप, दो साल में 7,645 बार किया गुमराह

फास्टचेकर के डाटाबेस के अनुसार, अक्टूबर में उन्होंने 1200 झूठ या भ्रमित करने वाली बातें बोलीं। ब्रिटिश बेवसाइट द गार्जियन की रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने 2018 में रोजाना 17 बार झूठ बोला है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कुछ दिन तो ऐसे रहे, जब ट्रंप ने झूठ बोलने में टॉप करते हुए 100 बातें झूठी या मिसलीड करने वाली बोलीं। ट्रंप के सत्ता में आने के दो साल गत शनिवार को पूरे हुए हैं। इसी मौके पर वॉशिंगटन पोस्ट ने यह रिपोर्ट जारी की है। वॉशिंगटन पोस्ट के फैक्ट चेकर कॉलम के मुख्य लेखक और संपादक ग्लेन केसलर ने कहा इस काम में हमारा बहुत समय लगा, क्योंकि वह लगातार बात कर रहे हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति