होम डॉक्ट
2500-surgeons-who-were-stranded-from-the-doctors-s

डॉक्टरों की हड़ताल से टलीं 2500 सर्जरिया, इलाज के लिए भटके लोग, आज मिलीराहत

बंगाल के डॉक्टरों के समर्थन में एम्स ने पहले शुक्रवार को एक दिन की स्ट्राइक की थी, उसके बाद एम्स आरडीए ने पहले स्ट्राइक नहीं करने का फैसला किया लेकिन बाद में उनके समर्थन में सोमवार को स्ट्राइक पर जाने का फैसला किया। मरीजों के हितों को ध्यान में रखते हुए सुबह आठ बजे से बारह बजे तक पहले ओपीडी में इलाज किया और फिर उसके बाद स्ट्राइक पर गए। हालांकि, रेजिडेंट डॉक्टरों के स्ट्राइक पर जाने से सैकड़ों रूटीन सर्जरी टालनी पड़ी। हालांकि, इस दौरान एम्स इमरजेंसी, एम्स ट्रॉमा सेंटर में मरीजों का इलाज रूटीन तरीके किया गया। हालांकि, स्ट्राइक के डर से एम्स में आम दिनों की तुलना में सोमवार को कम मरीज आए। एम्स में 12 बजे तक फैकल्टी के साथ रेजिडेंट डॉक्टरों ने इलाज किया।  आगे पढ़ें

doctors-start-getting-nationwide-strike-in-protest

हमले के विरोध में डॉक्टरों की देशव्यापी हड़ताल शुरू, मरीज हो रहे हैं परेशान

सोमवार सुबह से शुरू हुई हड़ताल के कारण राजस्थान के जयपुर में जयपुरिया अस्पताल में डॉक्टर्स नदारद रहे और मरीज उनकी तलाश करते रहे। वहीं गुजरात में भी डॉक्टरों की हड़ताल का असर सुबह से नजर आने लगा है। वडोदरा के सयाजीराव जनरल हॉस्पिटल के डॉक्टर्स सुबह से ही बंगाल में हुई डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा का विरोध करते हुए हड़ताल करते नजर आए। उधर बंगाल में जूनियर डॉक्टर छठे दिन भी हड़ताल पर रहे। इससे मरीजों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। हालांकि रविवार को जूडा थोड़े नरम पड़े और उन्होंने मीडिया की मौजूदगी में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से चर्चा की पेशकश की।  आगे पढ़ें

lamaband-hue-doctor-ima-ne-ki-aj-deshavyapi-hadata

लामबंद हुए डॉक्टर, आईएमए ने की आज देशव्यापी हड़ताल की घोषणा, एम्स के डॉक्टर रहेंगे काम पर

पश्चिम बंगाल में जूनियर डाक्टरों की हड़ताल रविवार को छठे दिन भी जारी रही। कई अस्पतालों में आपातकालीन वार्ड और जांच इकाइयां बुरी तरह प्रभावित हैं। सरकारी अस्पतालों और कॉलेजों में चिकित्सा सेवाएं बाधित रहीं। इसका खामियाजा मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। जूनियर डाक्टरों की हड़ताल की वजह से राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। हड़ताली जूनियर डॉक्टर पश्चिम बंगाल के हड़ताली जूनियर डॉक्टर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से वार्ता को तैयार हो गए हैं। उनकी शर्त है कि यह बातचीत सार्वजनिक स्थल पर मीडिया के सामने होगी। रविवार को एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में जनरल बाडी की मीटिंग में यह निर्णय लिया गया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि आंदोलन को लेकर मुख्यमंत्री द्वारा की गई टिप्पणी भ्रामक है। फिर भी वे बातचीत को तैयार हैं। मुख्यमंत्री स्थान तय करें।  आगे पढ़ें

striking-doctors-rejected-mamta-banerjees-offer-sa

हड़ताली डॉक्टरों ने ममता बनर्जी के आफर को ठुकराया, कहा- मेडिकल कॉलेज आकर खुद सुनें समस्याएं

दो जूनियर डॉक्टरों से मारपीट के खिलाफ बंगाल से लेकर दिल्ली तक पहुंची हड़ताल के बाद ममता बनर्जी सरकार कुछ सक्रिय नजर आ रही है। शुक्रवार रात को सरकार की ओर से हड़ताली डॉक्टरों से बातचीत का प्रयास किया गया था, लेकिन डॉक्टर इस बात पर अड़े रहे कि सीएम एनआरएस मेडिकल कॉलेज आकर उनकी समस्याओं को सुनें।  आगे पढ़ें

the-48-hour-ultimatum-given-to-mamata-by-the-docto

कोमा में गई बंगाल की स्वास्थ्य व्यवस्था, डॉक्टरों ने ममता को दिया 48 घंटे का अल्टीमेटम

एम्स के हड़ताली डॉक्टरों की टीम ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्द्धन से मुलाकात की जिसके बाद स्वास्थ्य मंत्री ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को पत्र लिखकर सौहार्दपूर्ण समाधान निकालने को कहा है। इस बीच, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने 17 जून को राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। इस मामले में हाई कोर्ट ने एक जनहित याचिका पर कोई भी अंतरिम आदेश देने से इनकार करते हुए कोर्ट ने ममता सरकार से कार्रवाई की जानकारी मांगी है। जबकि डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका पर सुनवाई की तारीख तय नहीं हुई है। उधर, टोक्यो स्थित वर्ल्ड मेडिकल एसोसिएशन ने भी डॉक्टरों के आंदोलन का समर्थन किया है।  आगे पढ़ें

bangal-se-shuru-hui-juda-hadatal-ki-anch-pahunchi-

बंगाल से शुरू हुई जूडा हड़ताल की आंच पहुंची महाराष्ट्र औ दिल्ली, मरीज हो रहे परेशान

पश्चिम बंगाल में हड़ताल कर रहे जूनियर डॉक्टरों ने गुरुवार को दोपहर दो बजे तक काम पर लौटने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश को नहीं माना और कहा कि सरकारी अस्पतालों में सुरक्षा संबंधी मांग पूरी होने तक हड़ताल जारी रहेगी। वहीं मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनकारियों पर बरसते हुए विपक्षी बीजेपी और कम्युनिस्ट पार्टी पर उन्हें भड़काने और मामले को सांप्रदायिक रंग देने का आरोप लगाया। डॉक्टरों की हड़ताल की वजह से कई सरकारी अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों अस्पतालों में तीसरे दिन भी आपातकालीन वॉर्ड, ओपीडी सेवाएं, पैथोलॉजिकल इकाइयां बंद रहीं। दरअसल कोलकाता स्थित एनआरएस मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई थी। इस पर बुजुर्ग के परिजनों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया था और दो डॉक्टरों की पिटाई कर दी गई थी। आरोपों के मुताबिक करीब 200 लोग ट्रकों में भरकर आए थे और अस्पताल परिसर पर हमला बोल दिया। इस हमले में दो जूनियर डॉक्टर बुरी तरह घायल हो गए थे।  आगे पढ़ें

cormorant-politics-again-in-karnataka-s-two-congre

कर्नाटक में फिर गरमाई सियासत, एस. एम. कृष्णा से मिले कांग्रेस के दो विधायक

कांग्रेस के रमेश जरकिहोली और डॉक्टर सुधाकर ने बीजेपी नेता एस. एम. कृष्णा से बेंगलुरु में उनके आवास पर जाकर मुलाकात की। कृष्णा के घर पर बीजेपी नेता आर अशोक भी मौजूद थे। जरकिहोली ने इस मुलाकात पर कहा, 'यह कोई राजनीतिक मुलाकात नहीं थी। हम सिर्फ एस एम कृष्णा जी से मिलने आए थे और उन्हें कर्नाटक में बीजेपी ने 25 सीटों पर जीत दर्ज की है, हम उन्हें बधाई देने आए थे। यह एक शिष्टाचार भेंट थी।'  आगे पढ़ें

haivaniyat-hoshangabad-mein-doktar-ne-draivar-ko-d

हैवानियत: होशंगाबाद में डॉक्टर ने ड्राइवर को दी ऐसी मौत की रूह कांप जाए

इटारसी के सरकारी अस्पताल में पदस्थ हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनील मंत्री (52 वर्ष) को पुलिस ने ड्राइवर की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि डॉ. मंत्री को ड्राइवर वीरेंद्र पचौरी उर्फ वीरू (30 ) अपनी पत्नी के साथ अवैध संबंध के नाम पर बदनाम करने की धमकी दिया करता था। इसी के डर से डॉक्टर ने वीरू को 3 फरवरी को अपना ड्राइवर रख लिया था। इसके बाद भी वह लगातार डॉक्टर को धमका रहा था।  आगे पढ़ें

vigyaan-mantree-harshavardhan-chaahate-hain-prthve

विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन चाहते हैं पृथ्वी मंत्रालय का नाम हो भारत माता मंत्रालय

भारतीय मौसम विभाग के 144वें फाउंडेशन डे कार्यक्रम में उन्होंने भारत माता मंत्रालय नाम रखने की बात कही। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने अपने संबोधन में कहा, 'मौसम विभाग डिपार्टमेंट के सचिव एम राजीवन को यदि आपत्ति न हो तो इसमें (भारत माता मंत्रालय) कोई बुराई नहीं है। मंत्रालय को भारत माता मंत्रालय कहा जाए तो क्या हर्ज है।' बता दें कि हर्षवर्धन पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के भी मंत्री हैं।  आगे पढ़ें

maranaasann-mahila-ko-ilaaj-nahin-milane-se-naaraa

मरणासन्न महिला को इलाज नहीं मिलने से नाराज विधायक पहुंचे अस्पताल, ड्यूटी डॉक्टर को किया सस्पेंड

जानकारी के मुताबिक विधायक प्रवीण पाठक जब अस्पताल पहुंचे तो उन्हें जानकारी मिली कि जिस महिला मरीज के बारे में उन्हें शिकायत मिली थी उसका नाम अंगूरी बाई और उसके बच्चेदानी में गांठ की परेशानी से जुझ रही थी। लेकिन उसे अटेंड करने वाला उस समय अस्पताल में कोई नहीं था। इसके चलते इस महिला मरीज की मौत हो गई।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति