होम केंद्र सरकार
government-decides-on-coronas-increasing-transitio

कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर सरकार का फैसला, 50 प्रतिशत कर्मचारी घर में रहकर करेंगे काम और 50 प्रतिशत जाएंगे दफ्तर

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मप्र सरकार ने फैसला लिया है कि राज्य के 50% कर्मचारी घर पर रहकर काम करेंगे, बाकी 50% कर्मचारी दफ्तर जाएंगे। कर्मचारियों की यह व्यवस्था रोटेशन के आधार पर 31 मार्च तक लागू रहेगी। केंद्र सरकार ने भी अपने आधे कर्मचारियों को काम पर आने और बाकी को घर से ही काम करने का आदेश दिया है।  आगे पढ़ें

governments-reply-in-rajya-sabha-73-percent-soldie

राज्यसभा में सरकार का जवाब- अनुच्छेद 370 हटने के बाद घाटी में 73 प्रतिशत सैनिक कम हुए शहीद

केंद्र सरकार ने कहा कि अनुच्छेद 370 निष्प्रभावी होने के बाद कश्मीर में शहीद होने वाले सैनिकों की संख्या घटी है। यह जानकारी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने बुधवार को राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में दी। उन्होंने कहा- पिछले 173 दिनों में इसमें 73% की कमी आई है। 2019 में 13 फरवरी से 4 अगस्त के बीच सुरक्षा बल के 82 जवान शहीद हुए थे। वहीं, 5 अगस्त 2019 से 24 जनवरी 2020 तक सुरक्षाबल के 22 जवान शहीद हुए।  आगे पढ़ें

union-chief-said-caa-right-decision-of-central-gov

संघ प्रमुख ने कहा- सीएए केन्द्र सरकार का सही निर्णय, जो भी विरोध में हैं उनकों सही स्थिति बताएंगे

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तमाम संगठन अब अगले तीन माह नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर लोगों के बीच जाएंगे और जो भी विरोध में है, उनसे बात कर सही स्थिति बताएंगे। सामान्य मुद्दों के बीच सर संघचालक मोहनराव भागवत ने सभी 33 संगठनों से सीएए के समर्थन में की गई रैली, सभा, संगोष्ठी व परिवार चर्चा की भी रिपोर्ट ली। इसके बाद कहा कि सीएए केंद्र सरकार का सही निर्णय है, लेकिन इसको लेकर जो भी गलत फहमियां हैं या कुछ लोगों के बीच ऐसे लोग सक्रिय हैं, जो अनावश्यक अलगाव पैदा करना चाहते हैं, उन्हें दूर करो।  आगे पढ़ें

amid-speculation-about-being-sent-to-rajya-sabha-s

राज्यसभा भेजे जाने की अटकलों के बीच सिंधिया ने कहा- 18 साल तक मैंने कोई पद नहीं मांगा, अब क्यों मांगूगा

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दिए जाने और राज्यसभा भेजे जाने के लिए चल रही अटकलों के बीच रविवार को भोपाल में साफ कर दिया कि वे किसी पद के पीछे नहीं हैं। एक सवाल के जबाव में उन्होंने कहा कि मैंने बीते 18 साल में कोई पद नहीं मांगा, अब क्यों मांगूंगा। कुर्सी का मुझे कभी मोह नहीं रहा। राजनीति मेरे लिए जनता की सेवा का माध्यम रहा है जिसे में आम कार्यकर्ता के रूप में करता रहूंगा। पार्टी जो जिम्मेदारी सौंपेगी उसका निर्वहन करूंगा। सिंधिया रविवार को यहां कांग्रेस सेवादल के कार्यक्रम में भाग लेने भोपाल आए थे।  आगे पढ़ें

india-closed-clash-between-pro-strike-protesters-a

भारत बंद: बंगाल में हड़ताल समर्थक प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प, वाहन जलाए

केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में वाम समर्थित 10 ट्रेड यूनियनों की हड़ताल का मिला-जुला असर देखने को मिला। पश्चिम बंगाल के मालदा में पुलिस और हड़ताल समर्थक प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई। केरल के अलापुझा में हड़ताल कर रहे लोगों ने नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट और उनकी पत्नी को लेकर जा रही हाउसबोट को रोक दिया। हालांकि बाद में उन्हें जाने दिया गया। देश के कई राज्यों में ट्रेड यूनियनों ने रैली और सभाएं कीं। पश्चिम बंगाल, असम, त्रिपुरा और लेफ्ट शासित केरल में बैंकिंग सेवाओं पर असर पड़ा। हालांकि दिल्ली समेत उत्तर भारत में हड़ताल का ज्यादा असर नहीं देखा गया।  आगे पढ़ें

the-union-minister-said-now-the-focus-of-the-centr

केन्द्रीय मंत्री ने कहा- केन्द्र सरकार का ध्यान अब रोहिंग्या शरणार्थियों को देश से निकालने पर

केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार का ध्यान अब रोहिंग्या शरणार्थियों को देश से निकालने पर है। वे देश में लागू हुए नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के तहत मान्य नहीं हैं। यह बात सिंह ने एक कार्यक्रम में कही। उन्होंने जम्मू-कश्मीर में बढ़ती रोहिंग्याओं की जनसंख्या पर भी चिंता जताई। जिस दिन संसद में सीएए पास हुआ, उसी दिन से यह जम्मू-कश्मीर में भी लागू हो गया।  आगे पढ़ें

aisi-thothi-cid

ऐसी थोथी सीआईडी

सीआईडी ने अदालत में मानव तस्करी के मामले में जो चालान पेश किया है, उसमें साफ दिख रहा है कि बड़े लोगों को बचाने का खेल खेला जा रहा है। मानव तस्करी की शिकार मोनिका यादव के बयान में दर्ज है कि हनीट्रैप के शिकार एक आईएएस अफसर से एक करोड़ रुपए वसूले गये। लेकिन चालान पेश किया गया तो उसमें इन हजरत के नाम का जिक्र ही नहीं था। जांच एजेंसी टीकमगढ़ में पदस्थ उस टीआई का नाम लेने से भी बचती दिख रही है, जिसने एक स्थानीय नेता के फार्म हाउस पर कैमरे में बगैर कपड़ों के कैद किए गए शिकारों को ब्लैकमेल होने से बचाया था। कहा यहां तक जा रहा है कि इस टीआई को साफ पता था कि प्रदेश में व्यापक तौर पर ब्लैकमेल होने तथा किए जाने का गोरखधंधा संचालित किया जा रहा है। यदि इस पुलिसकर्मी को कानून के कटघरे में लाया जाए तो बहुत मुमकिन है कि वह उन प्रभावशाली नामों को उजागर कर दें, जिनके लिए और जिनके कहने पर उसने अपना मुंह बंद कर रखा था। मीडिया के भी कुछ ही लोगों के नाम सामने किए गए हैं लेकिन चर्चा में और भी ढेर सारे नाम हैं। छुपाछिपाई के इस खेल में नौकरशाही, राजनीति से लेकर मीडिया तक सबकी विश्वसनीयता खतरे और संदेह में हैं। लोग आखिर भरोसा किस पर करेंगे?  आगे पढ़ें

home-ministers-announcement-government-will-give-1

गृहमंत्री की घोषणा: केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को परिवार के साथ रहने सरकार देगी 100 दिन

केंद्र सरकार केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए साल में कम से कम 100 देगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा, हम एक ऐसी योजना लाएंगे, जिसके तहत हर जवान को साल में अपने परिवार के साथ वक्त बिताने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार देश सेवा में लगे जवानों और उनके परिवारों की देखभाल करने के लिए प्रतिबद्ध है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कई बार सुरक्षाबलों को आश्वस्त किया है कि वे हमारी सीमाओं की रक्षा करते हैं और हम उनके परिवारों का ध्यान रखेंगे।  आगे पढ़ें

mamtas-minister-threatens-shah-i-will-not-leave-ko

ममता के मंत्री की शाह को धमकी, कानून वापस नहीं लिया, तो कोलकाता एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकले दूंगा

पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री और राज्य में जमीयत-उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष सिद्दीकउल्ला चौधरी ने नागरिकता कानून (सीएए) के मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह को धमकी दी है। चौधरी ने कहा है कि अगर केंद्र सरकार सीएए वापस नहीं लेता, तो हम शाह को कोलकाता एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकलने देंगे। वे जब भी यहां आएंगे, हम उन्हें रोकने के लिए एक लाख लोग एयरपोर्ट के बाहर इकट्ठा कर देंगे। चौधरी ने कहा कि सीएए मानवता के साथ देश के उन नागरिकों के खिलाफ है, जो वर्षों से यहां रह रहे हैं। पश्चिम बंगाल में पुस्तकालय सेवा मंत्री चौधरी ने कहा कि जमीयत का प्रदर्शन लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण होगा। हम हिंसक प्रदर्शन पर भरोसा नहीं करते, लेकिन सीएए और एनआरसी का कड़ाई से विरोध होगा। उन्होंने कहा, लोगों ने भाजपा को पहले ही नकार दिया है। देशभर में हो रहे प्रदर्शन को देखा जाए तो यह समझ आता है।  आगे पढ़ें

the-politics-of-the-issue-that-started-the-death-o

दिल्ली में 43 लोगों की मौत के शुरु हुई मामत की राजनीति, एक के एक हो रही है मुआवजे की घोषणा

भाजपा नेता मौके पर पहुंचे, थोड़ी ही देर में केजरीवाल आए: हादसे के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रविवार सुबह ही ट्वीट कर शोक जता चुके थे। बाद में खबर आई कि वे सुबह 11 बजे के बाद घटनास्थल पर पहुंचेंगे। केजरीवाल के पहुंचने से पहले सुबह 11:15 बजे केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, हरदीप सिंह पुरी, दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी और प्रवेश वर्मा मौके पर पहुंच गए। केंद्र सरकार की तरफ से किसी घोषणा से पहले ही मनोज तिवारी ने घटनास्थल से ही ऐलान कर दिया कि मृतकों के परिजन को भाजपा पांच-पांच लाख रुपए देगी। उनके बाद केजरीवाल मौके पर पहुंचे और 10-10 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की। दोपहर 12:40 बजे के आसपास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया और 2-2 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति