होम आईएनएक्स मीडिया
on-coming-out-of-tihar-jail-chidambaram-targeted-m

तिहाड़ जेल से बाहर आते ही चिदंबरम ने अर्थव्यवस्था और महंगाई पर मोदी सरकार पर साधा निशाना

आईएनएक्स मीडिया घोटाले में आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने अर्थव्यवस्था और महंगाई के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा। चिदंबरम ने कहा कि अगर साल खत्म होते-होते विकास दर 5% पर आ जाती है तो हम भाग्यशाली होंगे। इससे पहले चिदंबरम संसद भी गए। यहां उन्होंने कहा कि सरकार मेरी आवाज नहीं दबा सकती। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री मीडिया में बयान देकर जमानत की शर्तें तोड़ रहे हैं।  आगे पढ़ें

chidambaram-gets-bail-in-money-laundering-case-sai

मनी लांड्रिंग केस में चिदंबरम को मिली जमानत, बोले- बाहर आकर खुश हूं, कल करूंगा प्रसे कॉन्फ्रेस

जस्टिस आर भानुमति की अगुआई वाली बेंच ने कहा कि चिदंबरम कोर्ट के आदेश के बिना देश से बाहर नहीं जा सकते हैं। उन्हें बेल बॉन्ड के रूप में 2 लाख रुपए जमा कराने होंगे। चिदंबरम भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 106 दिन से तिहाड़ जेल में बंद थे। 21 अगस्त को भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तारी के करीब 2 महीने बाद उन्हें बेल मिली थी। लेकिन इसके तुरंत बाद ईडी ने उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार कर लिया था। दोनों ही केस में जमानत के बाद चिदंबरम जेल से रिहा हुए।  आगे पढ़ें

supreme-court-to-decide-on-chidambarams-bail-in-in

आईएनएक्स मीडिया केस में चिदंबरम की जमानत पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

आईएनएक्स मीडिया केस में आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम (74) की जमानत पर सुप्रीम कोर्ट बुधवार को फैसला सुनाएगा। तिहाड़ जेल में बंद चिदंबरम ने याचिका में दिल्ली हाईकोर्ट के उस आदेश को चुनौती दी है, जिसमें प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उन्हें जमानत देने से इनकार कर दिया गया था। चिदंबरम मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जेल में बंद हैं, जबकि भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तारी के करीब 2 महीने बाद उन्हें बेल मिल गई थी। जस्टिस आर भानुमति की अगुआई वाली बेंच आज मनी लॉन्ड्रिंग केस में फैसला देगी। इससे पहले शीर्ष अदालत ने 28 नवंबर को इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था।  आगे पढ़ें

high-court-directive-make-arrangements-for-bottled

हाईकोर्ट का निर्देश- तिहाड़ जेल में बंद चिदंबरम को बोतलबंद पानी और मच्छरों से बचाव के इंतजाम करें

आईएनएक्स मीडिया केस में दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम की अंतरिम जमानत याचिका पर सुनवाई की। वे 5 सितंबर से तिहाड़ जेल में बंद हैं। जस्टिस सुरेश कैत ने जेल अधीक्षक को निर्देश दिया है कि चिदंबरम के लिए जेल में साफ कमरा, बोतलबंद पानी और मच्छरों से बचाव के इंतजाम किए जाएं। उन्हें घर का खाना देने की भी अनुमति दी गई है। हालांकि, कोर्ट ने कहा कि चिदंबरम स्वस्थ हैं। उन्हें एम्स में भर्ती होने की जरूरत नहीं है।  आगे पढ़ें

p-chidambarams-health-deteriorates-in-tihar-jail-t

तिहाड़ जेल में बिगड़ी पी चिदंबरम की तबियत, इलाज के लिए एम्स ले जाया गया

आईएनएक्स मीडिया केस में तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें आॅल इंडिया इन्स्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंस (एम्स) ले जाया गया। चिदंबरम प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद थे। जानकारी के मुताबिक, चिदंबरम ने जेल में पेट दर्द की शिकायत की थी। इसके बाद सोमवार की सुबह अधिकारी उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले गए थे, लेकिन शाम को उन्हें एम्स ले जाया गया। एम्स में डॉक्टरों की टीम ने चिदंबरम का परीक्षण करने के बाद कोई गंभीर परेशानी न होने की बात कही है।  आगे पढ़ें

former-finance-minister-got-bail-in-one-case-in-ca

पूर्व वित्तमंत्री को एक मामले में मिली जमानत, ईडी द्वारा दायर मामले में अभी 24 अक्टूबर तक रहना होगा जेल में

सुप्रीम कोर्ट ने आईएनएक्स मीडिया केस के सीबीआई मामले में मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को जमानत दे दी। अदालत ने जमानत का विरोध करने पर सीबीआई से सख्त लहजे में कहा- चिदंबरम के विदेश भागने या गवाहों को धमकाने के सबूत नहीं हैं। जस्टिस आर. भानुमति की अगुआई वाली बेंच ने चिदंबरम को देश न छोड़ने की शर्त और एक लाख रुपए के निजी मुचलके पर जमानत दे दी। हालांकि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दायर मामले में उन्हें 24 अक्टूबर तक जेल में ही रहना होगा।  आगे पढ़ें

inx-media-case-ed-gets-permission-to-arrest-chidam

आईएनएक्स मीडिया केस: ईडी को मिली चिदंबरम की गिरफ्तारी की इजाजत, तिहाड़ में करेगी पूछताछ

दिल्ली की विशेष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से पूछताछ और गिरफ्तारी की इजाजत दे दी। कोर्ट ने ईडी को चिदंबरम से 30 मिनट तक पूछताछ का विकल्प भी दिया है। ईडी ने आईएनएक्स मीडिया केस में मनी लॉन्ड्रिंग पर पूछताछ के लिए चिदंबरम को हिरासत में लेने की अनुमति मांगी थी।  आगे पढ़ें

chidambaram-said-i-never-met-indrani-mukherjee-the

चिदंबरम ने कहा- मैं इन्द्राणी मुखर्जी से कभी नहीं मिला, जमानत याचिका पर कोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित

चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध करते हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि जमानत मिलने पर वह देश छोड़कर भाग सकते हैं। बचाव पक्ष की तरफ से चिदंबरम को सम्मानित नागरिक बताए जाने पर सीबीआई के वकील ने कहा- हमारा अनुभव बताता है कि पूर्व में जो देश छोड़कर भागे, वे सब भी सम्मानित और जिम्मेदार उद्योगपति थे। चिदंबरम ताकतवर और प्रभावशाली हैं। वह किसी भी दूसरे देश में सेटल होने के लिए आर्थिक रूप से मजबूत हैं।  आगे पढ़ें

chidambarams-night-passed-in-tihar-slept-all-night

तिहाड़ में गुजरी चिदंबरम की रात, सारी रात सीमेंट की फर्श पर सोए, दूसरे कैदियों की तरह दी गई थी दरी और चादर

सोने से पहले रात के खाने में उन्होंने दाल, रोटी और सब्जी खाई। जेल में उनकी दिनचर्या सुबह छह बजे शुरू हुई। सुबह छह बजे से शाम सात बजे तक उन्हें उन तमाम प्रक्रियाओं का सामना करना होगा जो अन्य कैदी करते हैं। सुबह छह बजे सोकर उठने के बाद सात बजे वह अपने सेल के बाहर निकलकर कैदियों की गिनती में शामिल हुए। तिहाड़ जेल के अतिरिक्त महानिरीक्षक राजकुमार ने बताया कि जेल की सेल में चौकी या चबूतरे की सुविधा नहीं दी सकती।  आगे पढ़ें

chidambaram-sent-to-tihar-jail-for-14-days-by-inx-

आईएनएक्स मीडिया केस में चिदंबरम को कोर्ट ने 14 दिन के लिए भेजा तिहाड़ जेल

राउस एवेन्यू कोर्ट में सुनवाई के दौरान चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि उनके मुवक्किल प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने सरेंडर करने के लिए तैयार हैं। वे ईडी के सामने सरेंडर करेंगे और ईडी उन्हें हिरासत में ले लेगा। चिदंबरम ने भी कहा कि मेरे खिलाफ कुछ नहीं मिला। जब मैं ईडी के सामने सरेंडर को तैयार हूं तो मुझे जेल क्यों जाना चाहिए? इस पर सीबीआई की तरफ से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी हमारी दलील मानी है कि चिदंबरम सबूतों से छेड़छाड़ कर सकते हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति