होम अनुच्छेद 370
pakistani-embassy-has-become-new-base-for-anti-ind

पाकिस्तानी दूतावास भारत विरोधी गतिविधियों के बने नए ठिकाने, भारत विरोधी गतिविधियों को दे रहे अंजाम

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद ढाका और काठमांडू स्थित पाकिस्तानी दूतावास भारत विरोधी गतिविधियों के नए ठिकाने बन गए हैं। इन दूतावासों में तैनात पाकिस्तान के दो सैन्य अधिकारी अपने कूटनीतिक संबंधों का दुरुपयोग कर भारतीय जाली नोटों (एफआईसीएन) की तस्करी समेत भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं। इंटेलीजेंस ब्यूरो (आईबी) को इस बात के पर्याप्त सबूत मिले हैं।  आगे पढ़ें

in-the-election-meeting-pm-said-kashmir-is-our-for

चुनावी सभा में पीएम ने कहा- कश्मीर हमारा मस्तक, पड़ोसी वहां अशांति फैलाने की कोशिश में जुटा है

मोदी ने राकांपा प्रमुख शरद पवार का नाम लिए बगैर उनके एक वायरल वीडियो पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि एक बड़े नेता का मन इतना छोटा है कि उन्?होंने अपने स्वागत कार्यक्रम में कोहनी मारकर कार्यकर्ता को हटा दिया ताकि उनकी फोटो अच्छी आ सके। उन्होंने कहा कि जनता ने लोकसभा चुनाव में जाति और सम्प्रदाय को भूलकर एक निर्णायक जनादेश दिया। उसने भारत की छवि को चार चांद लगा दिए। आपके इसी जनादेश का परिणाम है कि आज भारत की आवाज दुनिया मजबूती से सुन रही है। विश्व का हर देश, हर क्षेत्र भारत के साथ खड़ा दिखता है। भारत के साथ मिलकर आगे बढ़ने के लिए उत्साहित है।  आगे पढ़ें

assembly-election-shah-praised-modi-said-56-inch-c

विधानसभा चुनाव: शाह ने की मोदी की तारीफ, कहा- 56 इंच के सीने वाले इंसान ने एक ही बार हटा दिया 370

गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को यहां एक रैली में अनुच्छेद 370 पर लोगों को कांग्रेस और एनसीपी से सवाल करने चाहिए। शाह ने मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि 56 इंच के सीने वाले इंसान ने एक बार में ही अनुच्छेद 370 को हटा दिया। गृह मंत्री ने कहा कि क्या कांग्रेस और एनसीपी जब वोट मांगने के लिए आएं तो उनसे पूछना चाहिए कि क्या वे जम्मू-कश्मीर से 370 हटाए जाने के एनडीए के फैसले का समर्थन करेंगे।  आगे पढ़ें

farooq-and-umar-met-party-leaders-after-two-months

दो महीने बाद नजरबंद फारूख और उमर मिले पार्टी नेताओं से, महबूबा से आज मिलेगा पीडीपी प्रतिनिधिमंडल

मोदी सरकार ने 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 हटाकर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था। इस दौरान जम्मू-कश्मीर के कई बड़े नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भी शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों उनकी बेटी को मुलाकात की इजाजत दी थी।  आगे पढ़ें

bjp-general-secretary-said-jammu-and-ladakh-people

भाजपा महासचिव ने कहा- 370 हटने से जम्मू और लद्दाख के लोग खुश, लेकिन कश्मीर में कुछ समस्याएं हैं

भाजपा महासचिव राम माधव ने शुक्रवार को कहा कि अनुच्छेद 370 हटने से जम्मू और लद्दाख के लोग तो खुश हैं मगर कश्मीर में कुछ समस्याएं हैं। इस पूरे मामले को अतिरिक्त संवेदनशीलता के साथ हल किया जाएगा। राम माधव ने यह बात तेलंगाना में राष्ट्रीय एकता अभियान को संबोधित करने के दौरान कही। माधव ने कहा, लद्दाख के लोग बेहद खुश हैं। वे ताजगी महसूस कर रहे हैं, क्योंकि लंबे समय से यह उनकी मांग थी। जहां तक कश्मीर के लोगों की बात है, तो बड़ी संख्या में वहां के निवासी भी इस निर्णय की सराहना कर रहे हैं। बिना इसके तो यह संभव नहीं था।  आगे पढ़ें

after-the-completion-of-the-investigation-all-the-

जांच पूरी होने के बाद हिरासत में लिए गए सभी नेताओं को एक-एक कर छोड़ दिया जाएगा: फारुख खान

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद हिरासत में लिए गए सभी नेताओं को एक-एक करके छोड़ दिया जाएगा। यह बात गुरुवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक के सलाहकार फारुख खान ने कही। उन्होंने कहा कि हिरासत में लिए गए हर नेता का पूरी तरह से विश्लेषण करने के बाद उन्हें छोड़ दिया जाएगा। जम्मू के कुछ नेताओं को दो महीने बाद बुधवार को रिहा किया गया था।  आगे पढ़ें

azad-said-most-of-the-guest-houses-of-the-state-we

आजाद ने कहा- राज्य के ज्यादातर गेस्ट हाऊस में तब्दल, भाजपा महासचिव ने कहा अब 200-250 लोग ही हैं हिरासत में

आजाद ने यह भी आरोप लगाया, जो लोग मुझसे मिलने आते हैं, उनके साथ बातचीत को रिकॉर्ड किया जा रहा है। अगर आप (मीडिया) यह सब जानते हैं तो फिर सच बोलने की हिम्मत कौन दिखाएगा? अनुच्छेद 370 हटाने के दौरान लगाए गए प्रतिबंधों के चलते जम्मू-कश्मीर की अर्थव्यवस्था पर बेहद खराब दौर से गुजर रही है। सबसे ज्यादा असर छोटे दुकानदारों और दिहाड़ी मजदूरों पर पड़ा है। मजदूरों के पास तो खाने तक को नहीं हैं। हमें जितना अंदाजा था, हालात उससे कहीं ज्यादा बदतर हैं। बारामूला में मुझे मजदूरों से मिलने से रोक दिया गया। राम माधव ने कहा, जम्मू-कश्मीर में आज केवल 200 से 250 लोग ही सुरक्षात्मक कारणों से हिरासत में हैं। कई नेता 5 स्टार गेस्ट हाउस तो कुछ 5 स्टार होटलों में हैं।  आगे पढ़ें

union-minister-shradha-nishan-said-imran-and-congr

केन्दीय मंत्री साधा निशाना, कहा- कश्मीर से 370 हटने से नाखुश हैं इमरान और कांग्रेस

रिजिजू ने कहा, अगर कांग्रेस और इमरान खान की सोच एक जैसी है तो इसमें हम कुछ नहीं कर सकते, क्योंकि अलगाववादियों और देश विरोधी भी हमारे इस फैसले से खुश नहीं है। पाक के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) को भारत में शामिल करने पर रिजिजू ने कहा कि पहले सरकार कश्मीर की हालत ठीक करना चाहती है। इसके बाद पीओके के लिए भी योजना बनाई जाएगी। उन्होंने बलूचिस्तान और अक्साई चिन को भारत का अभिन्न अंग बताते हुए कहा कि इन्हें हमारे नक्शे में दिखाया गया है।  आगे पढ़ें

america-gave-advice-to-pakistan-said-situation-of-

अमेरिका ने पाक को दी नसीहत, कहा- चीन की जेल में बद मुस्लिमों की हालात बदतर, कश्मीर से ज्यादा उनकी चिंता करें

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाक सरकार पिछले दो महीनों से कश्मीर में मुस्लिमों के मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर झूठे बयान दे रही है। अमेरिका ने शुक्रवार को उसका यह दोहरा रवैया दुनिया के सामने उजागर कर दिया। अमेरिका की दक्षिण और मध्य एशिया मामलों की मंत्री एलिस जी वेल्स ने कहा कि चीन में मुस्लिमों के हालात काफी बदतर हैं। उन्हें नजरबंदी शिविरों में रखा जा रहा है। लेकिन पाकिस्तान इस पर कोई चिंता जाहिर नहीं करता। वेल्स ने कहा कि वे पाक को इस मामले पर ज्यादा चिंता जाहिर करनी चाहिए, क्योंकि वहां मानवाधिकारों का उल्लंघन ज्यादा है।  आगे पढ़ें

big-action-by-police-after-article-370-is-removed-

अनुच्छेद 370 हटने के बाद पुलिस की बड़ी कार्रवाई, सोपोर से लश्कर के 8 आतंकियों को गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर के सोपोर इलाके में सोमवार को लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के आठ आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि सभी आतंकी दुकानदारों और आम लोगों में दहशत पैदा करने की कोशिश कर रहे थे। राज्य से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद आतंकियों के खिलाफ यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस को जानकारी मिली थी कि लश्कर कमांडर सज्जाद अहमद मीर उर्फ अबू हैदर के निर्देश पर कुछ लोग दुकानदारों को दुकानें न खोलने की धमकी दे रहे थे। इसके लिए पोस्टर भी चिपकाए गए थे। आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर पुलिस ने बारामूला जिले के कनिस्पोरा और डांगरपोरा में घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति