होम अंतरराष्ट्रीय समुदाय
pakistan-created-kashmir-desk-in-embassies-to-spre

भारत के खिलाफ झूठ फैलाने पाक ने दूतावासों में बनाया कश्मीर डेस्क, भारत ने जताई आपत्ति

भारत के खिलाफ झूठ फैलाने और लोगों को बरगलाने के लिए पाकिस्तान ने कई देशों में स्थित अपने दूतावासों में तथाकथित कश्मीर डेस्क या कश्मीर सेल की शुरूआत की है। भारत ने इस पर आपत्ति जताई। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि कश्मीर मुद्दे पर फैलाए जा रहे पाकिस्तान के झूठे प्रोपेगेंडा के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। अगर कोई समस्या है तो भारत-पाकिस्तान इसे द्विपक्षीय वार्ता के जरिए हल कर सकते हैं।  आगे पढ़ें

pakistans-home-minister-whipped-his-own-government

पाक के गृहमंत्री ने अपनी ही सरकार कोसा, कहा- कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन पाने में रहे विफल

भारत ने कश्मीर को बंदी जेल में बदला: इससे एक दिन पहले ही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) सत्र के दौरान दावा किया था कि भारत ने अनुच्छेद 370 हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर को इस ग्रह की सबसे बड़ी ह्यबंदी जेलह्ण में बदल दिया है। वहां मानवाधिकारों का सख्ती से हनन किया जा रहा है। भारत ने कुरैशी के आरोपों को खारिज किया और कहा कि जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तान मनगढ़ंत कहानी कह रहा है। वह खुद ऐसा देश है जो सीमा पार से आतंकवाद का संचालन कर रहा है। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र में भी पाकिस्तान को किसी भी देश का समर्थन नहीं मिला था। अमेरिका, फ्रांस और रूस जैसे देशों ने भी कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत का साथ दिया है।  आगे पढ़ें

after-being-insulted-all-around-now-the-neighbor-r

चारो तरफ बेइज्जत होने के बाद कश्मीर मुद्दे पर अब जर्मनी की शरण में पहुंचा पड़ोसी, पाक पीएम ने एंजेला से की बात

विदेश कार्यालय के मुताबिक, मर्केल ने कहा कि जर्मनी हालात पर करीब से नजर बनाए हुए है। उन्होंने तनाव कम करने तथा मुद्दे को शांतिपूर्ण तरीके से हल करने की अहमियत को रेखांकित किया। आपको बता दें कि भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को साफ-साफ बता दिया है कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को हटाना उसका अंदरूनी मामला है। साथ में उसने पाकिस्तान को असलियत स्वीकार करने की भी सलाह दी थी। विदेश दफ्तर ने बताया कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी मालदीव के अपने समकक्ष अब्दुल्ला शाहिद को कश्मीर मुद्दे पर 'जानकारी' दी। उसने बताया कि कुरैशी ने मालदीव से क्षेत्र में शांति और स्थिरता के लिए तथा विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए रचनात्मक भूमिका निभाने की गुजारिश की।  आगे पढ़ें

former-pakistan-diplomats-claim-the-arrest-of-mast

पाक के पूर्व राजनयिक का दावा: मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड की गिरफ्तारी अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने दिखावा

अमेरिका को खुश करने के लिए गिरफ्तारी का आरोप: उन्होंने लिखा, 'हाफिज की गिरफ्तारी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप को त्वरित टिप्पणी के लिए उत्साहित कर दिया। ट्रंप ने हाफिज की गिरफ्तारी को अपने प्रयासों की सफलता करार दिया। हालांकि, यह भी स्पष्ट है कि हाफिज सईद का केस अमेरिका के लिए बहुत महत्व रखता है। इसके साथ ही पाकिस्तान के लिए भी हाफिज का मामला महत्वपूर्ण है क्योंकि वह अमेरिका की नजर में प्रॉक्सी वॉर का सबसे बड़ा नेतृत्वकर्ता है।'  आगे पढ़ें

Previous 1 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति