ताज़ा ख़बरविदेश

हिजाब न पहनने पर पुलिस ने लड़की से की मारपीट,अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है पीड़िता…

पीड़ित लड़की का नाम अर्मिता गारवांड है, जिसकी उम्र महज 16 साल है। अर्मिता फिलहाल अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। जानकारी के मुताबिक तेहरान मेट्रो स्टेशन पर हिजाब न पहनने को लेकर अर्मिता और महिला पुलिस अधिकारियों के बीच बहस हुई।

ईरान : ईरान में हिजाब का मुद्दा काफी ज्यादा बड़ी समस्या है। यहां एक लड़की को हिजाब न पहनने पर पुलिस अधिकारियों द्वारा इस कदर पीटा गया कि वह कोमा में चली गई। पीड़ित लड़की का नाम अर्मिता गारवांड है, जिसकी उम्र महज 16 साल है। अर्मिता फिलहाल अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है। जानकारी के मुताबिक तेहरान मेट्रो स्टेशन पर हिजाब न पहनने को लेकर अर्मिता और महिला पुलिस अधिकारियों के बीच बहस हुई। हिजाब न पहनने से नाराज अधिकारियों ने अर्मिता के साथ मारपीट शुरू कर दी। इस घटना में अर्मिता गंभीर रूप से जख्मी हो गई।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही कोमा में पहुंची

जिससे उसके सिर और गर्दन में काफी चोट आई है। बताया जा रहा है कि अस्पताल पहुंचने से पहले ही अर्मिता कोमा में चली गई। फज्र अस्पताल में कड़ी सुरक्षा के बीच अर्मिता का इलाज चल रहा है। इधर एक अखबार की एक महिला पत्रकार घटना के बारे में जानने के लिए अस्पताल पहुंची तो उन्हें हिरासत में ले लिया गया। हालांकि, कुछ समय बाद उन्हें रिहा कर दिया गया। रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने अर्मिता के परिवार के फोन भी जब्त कर लिए हैं।साथ ही अर्मिता से मिलने पर रोक लगा दी है।

पुलिस ने मारपीट से किया इनकार

मामले में तेहरान मेट्रो के प्रबंधक ने अर्मिता के साथ किसी भी तरह की मारपीट से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि स्टेशन पर लगे सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि किशोरी के साथ मारपीट नहीं हुई थी। अधिकारियों ने आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि अर्मिता लो ब्लड प्रेशर की वजह से बेहोश हुई थी। फिलहाल इस पूरे मामले में एहतियात बरती जा रही है।

ईरान में हिजाब एक बड़ा मुद्दा

आपको बता दें कि ईरान में हिजाब एक बड़ा मुद्दा बना हुआ है। करीब एक साल पहले हिजाब ना पहनने की वजह से महसा अमिनी नाम की एक युवती के साथ पुलिस ने मारपीट की गई थी। जिसमें उसकी मौत हो गई। महसा अमिनी की मौत से नाराज महिलाओं ने पूरे ईरान में सड़कों पर उतरकर जमकर प्रदर्शन किया था। इस प्रदर्शन में कई लोग मारे गए थे।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button