मध्यप्रदेश

सोनिया को चाहिए था वर्चुअल अध्यक्ष, इसलिए दिग्गी हुए रेस से बाहर: नरोत्तम का तीखा हमला

भोपाल। कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर मध्यप्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस की एक्चुअल अध्यक्ष सोनिया गांधी ही रहेंगी,और चुनाव जीतने वाला केवल वर्चुअल अध्यक्ष की भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि यह जरूर सोचने वाली बात है कि दिग्विजय सिंह जैसे वरिष्ठ नेता को गांधी परिवार ने वर्चुअल अध्यक्ष की भूमिका निभाने लायक भी क्यों नही समझा ।

गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि यह सबको पता है कि कांग्रेस में अध्यक्ष चुनाव के नाम पर नूरा कुश्ती चल रही है। कांग्रेस का असली यानी एक्चुअल अध्यक्ष सोनिया गांधी ही रहेंगी और संगठन के सभी बड़े फैसले गांधी परिवार ही लेगा। कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र को दर्शाने के लिए सोनिया गांधी पार्टी अध्यक्ष के चुनाव के नाम पर यह नूरा कुश्ती करा रही हैं।

उन्होंने कहा कि सोनिया जी से केवल इतना पूछना चाहता हूं कि जब वर्चुअल अध्यक्ष ही बनाना है तो वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह को मौका क्यों नही दिया गया। उन्हें क्यों चुनाव लड़ने से रोका गया। क्या सोनिया जी को विश्वास नहीं रहा कि दिग्विजय सिंह वर्चुअल अध्यक्ष बने रहेंगे। कहीं उन्हें यह तो नहीं लग गया कि दिग्गी वर्च्युअल की जगह एक्चुअल अध्यक्ष ना हो जाए। शायद इस डर से ही उन्होंने दिग्विजय सिंह को अध्यक्ष की इस नूरा कुश्ती से ही बाहर कर दिया।

दिग्गी सोनिया की प्रयोग की राजनीति का हुए शिकार
गृह मंत्री ने कहा कि दरअसल दिग्विजय सिंह सोनिया जी कि प्रयोग की राजनीति के शिकार हो गए। गांधी परिवार की इतनी सेवा के बाद भी उन्हें जिस तरह अध्यक्ष की चुनाव की दौड़ से बाहर किया गया वह बहुत ही गलत हैं।दिग्विजय सिंह जैसे निष्ठावान वरिष्ठ नेता के साथ इस तरह का व्यवाहर किसी भी दृष्टि से न्यायोचित नहीं माना जा सकता है।

Web Khabar

2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button