31.8 C
Bhopal

सुशासन सरकार की सर्वोच्च प्राथकिता, सीएम की दो टूक- विभाग तय करें, अनावश्यक न लगाना पड़े दफ्तरों के चक्कर

प्रमुख खबरे

भोपाल। मुख्यमंत्री मोहन ने मंगलवार को कैबिनेट मंत्रियों के साथ अहम बैठक की। बैठक संबंधित विभागों की आगामी कार्ययोजना को लेकर आयोजित की गई। इस दौरान सीएम मोहन ने कहा कि राज्य शासन की विगत 180 दिन की महत्वपूर्ण उपलब्धियां रही हैं। हमारा उद्देश्य है कि सरकार उपलब्ध संसाधनों के साथ जनहितैषी गतिविधियों को प्रभावी तरीके से क्रियान्वित करें और प्रदेश विकास के पथ पर निरंतर अग्रसर हो। इसी उद्देश्य से मंत्रियों के संबंधित विभागों की आगामी कार्ययोजना के बारे में चर्चा के लिए यह बैठक आयोजित की गई है।

सीएम ने कहा कि सुशासन सरकार की सवोच्च प्राथमिकता है, इसे सही स्वरूप में धरातल पर उतारना विभागों का लक्ष्य हो। विभाग यह सुनिश्चित करें कि लोगों को सरकारी दफ्तरों के अनावश्यक चक्कर न लगाना पड़े। विकास कार्यों में अनावश्यक विलंब न हो, हर स्तर पर त्वरित निर्णय लेकर कार्यों को समय-सीमा में पूरा किया जाए और कार्य पूर्ण पारदर्शिता के साथ सम्पन्न हो। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य को प्राप्त करने में मध्यप्रदेश सर्वोत्कृष्ट योगदान दे।

मप्र की विकास दर में हुआ सुधार
सीएम ने कहा कि हर्ष का विषय है कि प्रदेश में यह वर्ष गौवंश रक्षा वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है, जो गुड़ी पड़वा से आरंभ हुआ है। राज्य सरकार ने गौशालाओं का मानदेय भी दुगना करने का निर्णय लिया है, यह मानदेय देश में सर्वाधिक होगा। प्रदेश में क्षेत्रीय स्तर पर इन्वेस्टर्स समिट आयोजित करने का निर्णय लिया गया है, इससे क्षेत्र आधारित उद्योगों को प्रोत्साहित करने और रोजगार के नए अवसर सृजित करने में मदद मिलेगी। प्रदेश की कृषि विकास दर में सुधार हुआ है, इसके साथ ही उद्योग के क्षेत्र में प्रगति के लिए भी विशेष प्रयास किए जा रहे हैं।

प्रदेश के सभी 29 लोकसभा क्षेत्रों में शुरू होंगे मेडिकल कॉलेज
बैठक को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश में प्रशासनिक दक्षता में वृद्धि के उद्देश्य से जिलों और संभागों की सीमाओं के पुनर्निधारण के लिए आयोग गठित किया गया है। लोक स्वास्थ्य व्यवस्था को अधिक जनोन्मुखी और दक्ष बनाने के उद्देश्य से लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को एक करने और निजी स्वास्थ्य संस्थाओं को लोक स्वास्थ्य से जोड़ने की दिशा में भी कार्य हो रहा है। हमारा प्रयास है कि प्रदेश के सभी 29 संसदीय क्षेत्रों में एक-एक मेडिकल कॉलेज आरंभ हो। अगले चरण में प्रत्येक जिले में एक-एक मेडिकल कॉलेज आरंभ किया जाएगा। स्वास्थ्य के क्षेत्र में राज्य सरकार द्वारा अनेक नवाचार किए जा रहे हैं।

योग दिवस पर सभी जिलों में आयोजित हों भव्य कार्यक्रम
मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि 21 जून को आयोजित होने वाले योग दिवस पर सभी जिला मुख्यालयों में भव्य कार्यक्रम आयोजित किए जाएं तथा अधिक से अधिक नागरिकों की भागीदारी सुनिश्चित की जाए। प्रदेश में कॉलेज चले हम अभियान से सकल नामांकन अनुपात में सुधार हुआ है, इसे और बेहतर बनाना है। महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को बस सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में भी प्रयास हो, इससे दूरदराज के विद्यार्थियों को किफायती दर पर महाविद्यालय आवागमन में आसानी होगी और उनकी उपस्थिति बढ़ेगी तथा रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे। उन्होंने प्रत्येक जिले में एक एक्सीलेंस कॉलेज आरंभ करने और हर विश्वविद्यालय में स्नातक स्तर पर कृषि संकाय आरंभ करने के निर्देश दिए।

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

ताज़ा खबरे