भोपालमध्यप्रदेश

शिवराज ने 19 जिलों किसानों को दी बड़ी राहत: 1.91 लाख के खाते में डाले 202 करोड़

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ और अतिवर्षा से प्रभावित किसानों के नुकसान की भरपाई करते हुए सोमवार को उन्हें राहत राशि का वितरण किया। उन्होंने 19 जिलों के लगभग 1.91 लाख से अधिक प्रभावित कृषकों के खातों में 202.64 करोड़ रू. की राहत राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित की। यह राशि 19 जिलों में विदिशा, सागर, गुना, रायसेन, दमोह, हरदा, मुरैना, आगर-मालवा, बालाघाट, भोपाल, अशोकनगर, सीहोर, नर्मदापुरम, श्योपुर, छिंदवाड़ा, भिंड, राजगढ़, बैतूल और सिवनी के किसानों के खातों में ट्रांसफर की गई। इस दौरान वे प्रभावित किसानों के साथ वर्चुअली जुड़े और उनसे संवाद किया।

शिवराज ने कहा है कि इस मानसून में अधिक वर्षा के कारण जहां शहरी क्षेत्र में व्यवस्थाएं प्रभावित हुईं, वहीं ग्रामीण अंचलों में किसान वर्ग को अतिवृष्टि के कारण बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। संकट की इस घड़ी में राज्य सरकार ने सहायता पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। संकट के समय प्रभावित व्यक्तियों को सहायता पहुंचाने, आम जनता को तकलीफ की स्थिति में जरूरी सहयोग देने के लिए सरकार तत्पर है। बाढ़ और अतिवृष्टि के समय आवश्यक आपदा प्रबंधन किया गया। संकट के समय प्रशासन के साथ जन प्रतिनिधि भी सक्रिय रहे।

किसी की जान न जाए, किया यह सुनिश्चित
सीएम ने कहा कि प्रदेश में कुछ जिले अतिवृष्टि से प्रभावित रहे। राज्य सरकार ने ऐसी स्थिति में यह सुनिश्चित किया कि जहां अतिवृष्टि से किसी की जान न जाए, वहीं किसी को दूसरी परेशानियों का भी सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए सभी जरूरी व्यवस्थाएं की गईं। जहां बाढ़ की स्थिति थी, रेस्क्यू कर लोगों को निकालकर राहत शिविरों और सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया।

सार्वजनिक की गई थी सूची
सीएम ने कहा कि बाढ़ का पानी उतरने के बाद ग्रामों में जमा मलबा साफ करवाने, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था करने और अब किसानों को हुई क्षति पर सहायता राशि पहुंचाने का कार्य किया गया । फसलों की क्षति का सर्वे करवाकर ग्राम पंचायत में सूची भी सार्वजनिक की गई थी। जिसके बाद आज 1 लाख 91 हजार 755 कृषकों के खाते में सहायता राशि ट्रांसफर की गई है। पारदर्शी तरीके से हितग्राहियों के बैंक खातों में पैसा जमा किया गया है।

किसानों की पीड़ा समझते हैं शिवराज: राजस्व मंत्री
राशि अंतरण कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान किसानों की पीड़ा समझते हैं। वे गरीबों के लिए सदैव ढाल बनकर खड़े हुए हैं। इस मानसून में प्रदेश में 23 औसत वर्षा हुई है। प्रदेश के तीन जिले अत्यधिक वर्षा और 26 जिले अधिक वर्षा की श्रेणी में हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान के नेतृत्व में प्रभावित परिवारों को राजस्व पुस्तक परिपत्र के प्रावधान के अनुसार बिना देर किए जरूरी सहायता देने का कार्य हुआ है।

Web Khabar

2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button