ताज़ा ख़बरमध्यप्रदेश

शिवराज ने किया अमृत महोत्सव का शुभारंभ, बोले- बच्चों को कराई जाएगी सेल्यूलर जेल की यात्रा, बलिदानियों को भी किया याद

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को शौर्य स्मारक स्थल पर अमृत महोत्सव का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के बीच में बारिश शुरू हो गई। मुख्यमंत्री कार्यक्रम में मौजूद बच्चों से बोले बारिश में डर तो नहीं लग रहा। अब मैं भी पानी में आकर बोलूंगा और तुम भी पानी में सुनना। हालांकि हल्की बारिश होने के बाद बंद हो गई। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में स्वतंत्रता आंदोलन संघर्ष की अमर गाथाएं और बलिदानियों को याद किया। मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि अब चिन्हित बच्चो को अंडमान और निकोबार स्थित जेल सेल्यूलर जेल की यात्रा भी साल में एक बार कराई जाएगी। वह जेल किस तरह की बनी है। वहां कैसे हमारे क्रांतिकारी रहते थे ये दिखाया जाएगा।

केंद्र सरकार ने स्वाधीनता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर स्वाधीनता दिवस 2022 के पूर्व 75 सप्ताह तक आजादी का अमृत महोत्सव पूरे देश में मनाने का निर्णय लिया है। इसके तहत ही प्रदेश में अमृत महोत्सव कार्यक्रम का अयोजन किया गया है।

गलत इतिहस पढ़ाया गया
मुख्यमंत्री ने कहा कि 5 हजार साल पुराना इतिहास है हमारा। यह अलग बात है बीच मे हम गुलाम बने अपनी कमजोरियों के कारण। राजा आपस में लड़ते रहे और गोरे आये व्यापार करने और भारत को गुलाम बना लिया। आजादी 75 के अमृत महोत्सव के कार्यक्रम पूरे साल प्रदेश में होंगे। उन्होंने कहा कि हमें गलत इतिहास पढ़ाया गया। कई क्रांतिकारियों के बारे में बताया ही नहीं गया। आजादी के वीरों को प्रणाम करके हम संकल्प लेते है देश के लिए जियेंगे देश के लिए मरेंगे।

हर स्कूल में एनएसएस और एनसीसी शुरू करेंगे
आजादी के बाद 30 हजार सैनिक शहीद हुए है। हम चैन से इसलिए बैठे है क्योंकि सीमाओ पर हमारे सैनिक डटे हैं। देश के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने के लिए हम भी तैयार रहेंगे। मुख्यमंत्री ने एनसीसी और एनएसएस कैडेट्स की तारीफ की। मुख्यमंत्री ने कहा – हम प्रदेश के हर स्कूल में एनएसएस और एनसीसी शुरू करने का प्रयास करेंगे।

मोदी जी अद्भुत नेता
मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी याद किया। शिवराज सिंह चौहान बोले अपने मोदी जी भी अद्भुत नेता है। पाकिस्तान को भी कोरोना की वैक्सीन दे रहे हैं।

शहीदों को किया याद
मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद हमारे 30 हजार सैनिक शहीद हुए है। हम चैन से इसलिए बैठे है क्योंकि सीमाओं पर हमारे सैनिक डटे है। देश के लिए सर्वस्व न्यौछावर करने के लिए हम भी तैयार रहेंगे। जिन शहीदों ने देश को आजाद करने में अपने प्राण न्यौछावर किए उन्हें याद करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब तक बेटे बेटियां जिंदा है। देश को बंटने नहीं दिया जाएंगा।

कार्यक्रम में यह लोग भी मौजूद थे
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा, एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा, स्वास्थ्य मंत्री प्रभूराम चौधरी, विधायक कृष्णा गौर पूर्व महापौर आलोक शर्मा, और फिल्म निर्देशक प्रकाश झा मौजूद थे।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button