ताज़ा ख़बर

वैक्सीनेशन के नियमों में बदलाव: अब आठ हफ्ते में लगेगी कोविशील्ड की दूसरी डोज, केन्द्र ने राज्यों को दिए निर्देश

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खिलाफ जारी लड़ाई में देश में वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। इस बीच सोमवार को केंद्र सरकार की ओर से सभी राज्य और केंद्र शासित सरकारों को अहम निर्देश भेजा गया है। अब कोविशील्ड वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज के बीच के अंतर को बढ़ाने का फैसला लिया गया है।

केंद्र के निर्देश के अनुसार, कोविशील्ड की पहली और दूसरी डोज के बीच अब कम से कम 6 से 8 हफ्ते का अंतर होना चाहिए। मौजूदा वक्त में पहली और दूसरी डोज के बीच का अंतर 28 दिन का है। यानी अब एक से दूसरी डोज के बीच का अंतर एक महीने से बढ़ाकर लगभग दो महीने कर दिया गया है।

एक्सपर्ट ग्रुप की रिपोर्ट के आधार पर फैसला
केंद्र द्वारा जानकारी दी गई है कि एनटीएजीआई और वैक्सीनेशन एक्सपर्ट ग्रुप की ताजा रिसर्च के बाद ये फैसला लिया जा रहा है, जिसका अमल राज्य सरकारों को करना चाहिए। दावा किया गया है कि अगर वैक्सीन की दूसरी डोज 6 से 8 हफ्ते के बीच में दी जाती है, तो ये अधिक लाभदायक होगी। आपको बता दें कि कोविशील्ड वैक्सीन को पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा तैयार किया जा रहा है। भारत में अभी सबसे अधिक उपयोग इसी वैक्सीन का हो रहा है।




देश में जारी है वैक्सीनेशन का अभियान
भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का मिशन 16 जनवरी से शुरू हुआ था, वहीं दूसरा फेज 1 मार्च से शुरू हुआ था। अभी तक देश में साढ़े चार करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन के डोज दिए जा चुके हैं। अभी स्वास्थ्यकर्मियों, कोरोना वॉरियर्स के अलावा 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोग, 45 वर्ष से अधिक उम्र वाले (गंभीर बीमारी से ग्रसित) लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है।

आंकड़ों के मुताबिक, अभी तक देश में कोरोना वैक्सीन की 3.55 करोड़ पहली डोज दी गई हैं जबकि करीब 75 लाख दूसरी डोज दी जा चुकी हैं। गौरतलब है कि वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन होने के बाद सेंटर से ही डोज की तारीख दी जाती है, पहली डोज मिलने के बाद उसी वक्त दूसरी डोज का वक्त भी तय कर लिया जाता है।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button