खेलताज़ा ख़बर

विश्व कप: भारत की फाइनल में एंट्री, टीम इंडिया ने कीवियों से 2019 की हार का लिया बदला, जीत के हीरो रहे विराट-श्रेयस और शमी

मुंबई। वर्ल्ड कप-2023 में भारत का विजय अभियान जारी है। अपने सभी लीग मैच जीतने के बाद अब भारतीय टीम ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में बुधवार देर रात खेले पहले सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड को 70 रन से हरा दिया है। इतना ही नहीं टीम इंडिया ने 2019 विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मिली हार का बदला भी ले लिया। वहीं इस जीत के साथ भारत ने वर्ल्ड कप के फाइनल का टिकट भी कटा लिया है। भारतीय टीम अब 19 नवंबर को होने फाइनल में आॅस्ट्रेलिया या फिर दक्षिण अफ्रीका से भिड़ेगी। बता दें कि भारत 12 साल बाद विश्व कप फाइनल में पहुंचा है। भारतीय टीम ने 2011 में फाइनल में पहुंची थी और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी टीम चैंपियन बनी थी।

बुधवार की देर रात खेले गए पहले सेमीफाइनल मुकाबले की बात करें तो मैच में रोहित शर्मा का टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और 4 विकेट गंवाकर 397 रनों का बड़ा स्कोर बनाया. टीम के लिए विराट कोहली सबसे ज्यादा 117 रनों की पारी खेली. जबकि श्रेयस अय्यर ने 105 रन बनाए। शुभमन गिल 80 और केएल राहुल 39 रन बनाकर नाबाद रहे। रोहित शर्मा ने 47 रनों की तूफानी पारी खेली। कीवी टीम के लिए टिम साउदी ने 3 विकेट झटके। वहीं विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी कीवी टीम 327 रन ही बना सकी और 70 रनों से मैच गंवा दिया। न्यूजीलैंड के लिए डेरेल मिचेल ने 134 रनों की पारी खेली. जबकि कप्तान केन विलियमसन ने 69 और ग्लेन फिलिप्स ने 41 रन बनाए. भारतीय टीम के लिए तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने सबसे ज्यादा 7 विकेट झटके।

कोहली-अय्यर और शमी ने दिलाई जीत
भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में चार विकेट खोकर 397 रन बनाए थे। इसके जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 48.5 ओवर में 327 पर सिमट गई। भारत की जीत में विराट कोहली, श्रेयस अय्यर और मोहम्मद शमी का योगदान अहम रहा। कोहली ने 117 यह वनडे क्रिकेट उनका 50वां शतक था और अय्यर ने 105 रन की पारी खेली। वहीं, मोहम्मद शमी ने गेंदबाजी में कमाल दिखाते हुए सात विकेट अपने नाम किए। तीनों ने मिलकर भारत को लगातार तीसरी बार सेमीफाइनल में नहीं हारने दिया। 2015 में आॅस्ट्रेलिया और 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम इंडिया अंतिम-4 के मुकाबले में हार गई थी।

रोहित-गिल ने दिलाई आक्रामक शुरूआत
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने शानदार शुरूआत की। पहले रोहित ने तेज गति से रन बनाए फिर गिल ने आक्रामक बल्लेबाजी की। रोहित ने विश्व कप में अपने 50 छक्के पूरे किए और टीम का स्कोर पावरप्ले के अंदर 50 रन के पार पहुंच गया। रोहित शर्मा साउदी की गेंद पर छक्का लगाने के प्रयास में 47 के निजी स्कोर पर आउट हो गए। हालांकि, पावरप्ले में टीम इंडिया एक विकेट के नुकसान पर 84 रन बनाने में सफल रही। गिल और कोहली ने भारत का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाया। इस दौरान गिल ने 41 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। 65 गेंद में 79 रन बनाने के बाद गिल वानखेड़े की गर्मी से परेशान हो गए। उन्हें क्रैम्प आ रहे थे और वह मैदान के बाहर चले गए।

कोहली और अय्यर टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचाया
विराट कोहली ने श्रेयस अय्यर के साथ मिलकर भारत का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। उन्होंने 59 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। इस दौरान वह एक विश्व कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए। उन्होंने सचिन के 673 रन के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा। विराट और श्रेयस ने शतकीय साझेदारी कर भारत का स्कोर 250 रन के पार पहुंचा दिया।

मिचेल नहीं दिला पाए न्यूजीलैंड को जीत
न्यूजीलैंड के लिए डेरिल मिचेल ने 134 रन बनाए। कप्तान केन विलियम्सन ने 69 रन की पारी खेली। ग्लेन फिलिप्स ने 41 रन का योगदान दिया। दोनों कीवी ओपनर कॉन्वे और रचिन 13 रन के स्कोर पर पवेलियन लौटे। भारत के लिए मोहम्मद शमी ने सात विकेट लिए। जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज और कुलदीप यादव को एक-एक विकेट मिला।

भारत चौथी बार पहुंचा विश्व कप के फाइनल में
भारत चौथी बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचा है। 1983 में कपिल देव की कप्तानी में वेस्टइंडीज को हराकर पहली बार खिताब जीता था। 2003 में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। तब सौरव गांगुली कप्तान थे। इसके आठ साल बाद 2011 में जब भारत फाइनल में पहुंचा तो उसने श्रीलंका को हराकर दूसरी बार खिताब जीत लिया।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button