ताज़ा ख़बरभोपालमध्यप्रदेश

वादे पर कायम रहे कांग्रेस विधायक: राजधानी आकर बरैया ने अपना मुंह किया काला , दिग्गी ने कही यह बात

भोपाल। विधानसभा चुनाव से पहले किए वादे को कांग्रेस विधायक फूल सिंह बरैया ने निभा दिया है। उन्होंने गुरुवार को राजधानी भोपाल के रोशनपुरा चौराहे पर मीडिया के सामने अपना मुंह काला किया। इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह समेत उनके सैकड़ों समर्थक भी थे। दिग्गी ने भी बरैया के मुंह पर टीका लगाया और कहा कि उन्हें किसी की नजर न लगे इसलिए मैं उन्हें काला टीका लगा रहा हूं।

गौरतलब है कि भांडेर से विधायक फूल सिंह बरैया ने विधानसभा चुनाव से पहले वादा किया था कि भाजपा को को 50 से अधिक सीटें नहीं आएंगी। अगर ऐसा हुआ तो वह राजभवन जाकर अपना मुंह काला कर लेंगे। चुनाव के नतीजे आए तो भाजपा ने 163 सीटों पर प्रचंड जीत दर्ज की। वहीं कांग्रेस के खाते में सिर्फ 66 सीटें ही आई। इसके बाद भांडेर विधायक फूल सिंह बरैया वादा पूरा करने के लिए अपने समर्थकों के साथ भोपाल पहुंचक अपना मुंह काला किया। हालांकि पुलिस ने उन्हें राजभवन पहुंचने से पहले रोशनपुरा चौक पर बैरिकेटिंग लगाकर रोक लिया। जहां उन्होंने अपना मुंह काला किया। खास बात यह रही की पवैया का यह कार्यक्रम थोड़ी देर में ही ईवीएम के विरोध प्रदर्शन में बदल गया।

ईवीएम में कुछ भी संभव
बरैया ने इस दौरान इवीएम पोस्टर पर काली स्याही जरूर पोती। उन्होंने कहा कि चुनाव में मतदान बैलेट पेपर से होता तो बीजेपी को इतनी सीटें कभी नहीं मिलती। बैलेट पेपर में निशान लगाते समय स्पष्ट रहता है, लेकिन ईवीएम में कुछ भी संभव है। बरैया ने कहा कि ईवीएम ने ही सरकार लुटवाई है। हम इसका मुंह काला कर देंगे तो देश बचेगा, संविधान बचेगा और लोकतंत्र बचेगा। अगर ईवीएम का मुंह देश से काला नहीं हुआ तो यहां कुछ भी बचने वाला नहीं है। ईवीएम से सरकार लूटी गई है। लोग हाथों में ईवीएम के विरोध में तख्तियां लेकर चल रहे थे। प्रदर्शन के दौरान ईवीएम के पोस्टर पर कालिख पोती गई। प्रदर्शन के लिए बड़ी संख्या में बरैया के समर्थक भांडेर से भोपाल में जमा हुए थे।

यह बोले पूर्व सीएम
इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी बरैया के साथ मोजूद रहे। उन्होंने कहा कि बैलेट पेपर में कांग्रेस की जीत हुई है, जबकि ईवीएम में कांग्रेस की हार हुई है। इसलिए असली मुंह काला तो ईवीएम का किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बरैया का मुंह काला नहीं होना चाहिए लेकिन हम वचन के पक्के हैं इसलिए हम उन्हें तिलक लगाकर इनका सम्मान करते हैं। ताकि इन्हें किसी की नजर न लगे।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button