खेलताज़ा ख़बर

वर्ल्ड कप-2023: आज सेफा का टिकट कटाएगी भारतीय टीम, वानखेड़े में भिड़ेगी श्रीलंका से

मुंबई। वनडे वर्ल्ड कप-2023 में भारतीय टीम का धमाकेदार प्रदर्शन जारी है। अब तक अपने सभी 6 मुकाबले जीत चुकी भारतीय टीम आज गुरुवार को 7वां मैच श्रीलंका के खिलाफ खेलेगी। दोनों टीमों के बीच मुकाबला दोपहर 2.00 बजे से मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में देखने को मिलेगा। आज का मुकाबला दोनों टीमों के लिए अहम होने वाला है। क्योंकि, आज का मुकाबला भारतीय टीम जीतती है तो भारत की सेमीफाइनल में जगह एकदम पक्की हो जाएगी। वहीं, श्रीलंका यह मैच हारते ही सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो जाएगी। ऐसे में आज का मुकाबला दोनों टीम के लिए महत्वपूर्ण है।

बता दें कि मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में 12 साल पहले 2011 में टीम इंडिया ने श्रीलंका को हराकर विश्व कप जीता था। भारतीय टीम की नजर उसके खिलाफ विश्व कप में जीत की हैट्रिक लगाने पर होगी। 2011 और 2019 में भारत को जीत मिली थी। अब आज भी भारतीय टीम इस क्रम को बनाए रखने के लिए मुकाबला जीतने की पूरी कोशिश करेगी। वैसे भारत का सफर इस विश्व कप में अब तक शानदार रहा है। उसने अपने सभी छह मैच जीते हैं और उसके खाते में 12 अंक है। उसने आॅस्ट्रेलिया, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, बांग्लादेश, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड को हराया है।

भारतीय टीम को अब तक नहीं मिली है चुनौती
लगातार 6 मैच जीत चुकी भारतीय टीम को सही मायने में अब तक कोई चुनौती नहीं मिली है। भारत ने हर विभाग में एक चैम्पियन की तरह प्रदर्शन किया है। आत्मविश्वास के उफान का कारण यह भी है कि कठिन हालात से भारत ने वापसी करके जीत दर्ज की है। मसलन चेन्नई में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 रनों पर 3 विकेट गंवाना हो या इंग्लैंड के खिलाफ लखनऊ में 9 विकेट पर 229 रनों के साधारण स्कोर के बावजूद जीत दर्ज करना हो।

श्रीलंका को मिली है सिर्फ दो जीत
श्रीलंका की बात करें तो उसे छह मैचों में दो जीत मिली है। उसने नीदरलैंड और इंग्लैंड को हराया है। वहीं, दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान, आॅस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा है। विश्व कप में दोनों टीमों के बीच मुकाबलों की बात करें तो दोनों टीमों के बीच नौ मैच खेले गए हैं। दोनों का पलड़ा बराबरी पर है। भारत और श्रीलंका ने चार-चार मैच जीते हैं। एक मुकाबला बेनतीजा रहा है। श्रीलंका ने 1979, 1996 (दो बार) और 2007 में जीत हासिल की है। भारत को 1999, 2003, 2011 और 2019 में जीत मिली है।

शुभमन और श्रेयस ने बढ़ाई टीम की टेंशन
लगातार अच्छा प्रदर्शन करके विश्व कप में आए शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर अभी तक कोई बड़ी पारी नहीं खेल सके हैं। गिल डेंगू के कारण पहले दो मैच नहीं खेल सके थे और वापसी के बाद भी सिर्फ एक अर्धशतक जमा सके हैं। इस साल 24 वनडे में 5 शतक और 6 अर्धशतक समेत 1334 रन बना चुके गिल को अपना विकेट फेंकने से बचना होगा। शॉर्ट गेंदों के खिलाफ उनकी कमजोरी जाहिर है, जबकि अय्यर भी गेंदबाजों पर दबाव नहीं बना सके हैं। अय्यर ने 6 मैचों में सिर्फ एक अर्धशतक बनाया है। कई मौकों पर वह फिनिशर की भूमिका निभाने में नाकाम रहे। अब अपने घरेलू मैदान पर पिछली नाकामियों को भुलाकर उन्हें बेहतर प्रदर्शन करना होगा

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button