ग्वालियरमध्यप्रदेश

लोकसभा चुनाव: ग्वालियर-चंबल में सक्रिय हुए सिंधिया, कांग्रेस को ऐसे दे रहे तगड़ा झटका

ग्वालियर। अप्रैल-मई में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में अपनी सक्रियता बढ़ा दी गई है। इतना ही नहीं, एक ओर जहां सिंधिया जनसभाएं कर जनता से नजदीकी बना रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस को लगातार झटके पर झटका भी दे हैं। इसी क्रम में उन्होंने एक बार फिर कांग्रेस को तगड़ा झटका दिया है। दिल्ली से ग्वालियर पहुंचे सिंधिया ने कांग्रेस को तगड़ा झटका देते हुए पांच पार्षदों को भाजपा को ज्वाइन करा दी है।

जयविलास पैलेस महल में केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने देर रात पांच पार्षदों को बीजेपी की सदस्यता दिलाई। जिन पार्षदों ने भाजपा का दामन थाना है, उनमें दो कांग्रेस, दो निर्दलीय और एक बहुजन समाज पार्टी के है। दो निर्दलीय पार्षदों और एक बहुजन समाज पार्टी के पार्षद ने परिषद में कांग्रेस को समर्थन दे रखा था। कांग्रेस पार्षद गौरा अशोक गुर्जर (वार्ड संख्या 62), बीएसपी पार्षद सुरेश सोलंकी (वार्ड संख्या 23), आशा सुरेंद्र चौहान (वार्ड संख्या 2), कमलेश बलवीर सिंह तोमर (वार्ड संख्या 19), दीपक मांझी (वार्ड संख्या 6) ने कल केंद्रीय मंत्री की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ली। बता दें कि इससे पहले सिंधिया ने कल उन्होंने एयरपोर्ट पर गुना सांसद केपी यादव के भाई व यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अजय पाल यादव को भाजपा की सदस्यता दिलाई।

ग्वालियर-चंबल में कांग्रेस कमजोर
इसके साथ अलग से 320 पूर्व कांग्रेसी कार्यकतार्ओं को भी पार्टी में शामिल कराया। केंद्रीय मंत्री के लगातार ग्वालियर चंबल के दौरे और कांग्रेसी नेताओं व कार्यकतार्ओं को पार्टी की सदस्यता से क्षेत्र में कांग्रेस की कमर टूट चुकी है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि विधानसभा चुनाव में हार के बाद ग्वालियर-चंबल में कांग्रेसी कमजोर होती जा रही है। जो सिंधिया समर्थक नेता व कार्यकर्ता 2020 में भाजपा में शामिल नहीं हो पाए थे वें अब हो रहे है।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button