मध्यप्रदेश

बागेश्वर धाम को जान से मारने की धमकी देने वाला पटना से पकड़ाया, लॉरेंस विश्नोई गैंग के नाम से आया था ई-मेल

छतरपुर। अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले छतरपुर स्थित बागेश्वर धाम के प्रमुख धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को जान से मारने की धमकी मिली है। लॉरेंस बिश्नोई गैंग के नाम से उन्हें ई-मेल कर जान से मारने की धमकी दी गई।आरोपी ने इसमें 10 लाख रुपए की मांग की थी। इस मामले में छतरपुर पुलिस को बड़ी सफलता मिल गई है। जले की बमीठा पुलिस ने आरोपी को पटना से गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी बिहार के नालंदा जिले के शंकरडीह गांव का रहने वाला है और हाल में कंकरबाग पटना में रह रहा था। गिरफ्तारी के बाद आरोपी को राजनगर कोर्ट में पेश किया गया था, जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, 19 अक्टूबर 2023 को बागेश्वर धाम की अधिकृत ईमेल आईडी पर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को अज्ञात आरोपी के द्वारा लॉरेंस बिश्नोई गैंग के नाम से जान से मारने की धमकी देकर एक दिन का समय दिया गया था। जान बचाने के लिए आरोपी के द्वारा बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से 10 लाख रुपये की मांग की गई। मामला संवेदनशील होने पर तुरंत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। जिसके बाद साइबर सेल की मदद से आरोपी को पकड़ लिया गया है।

राष्ट्रीय एजेंसियों से कराई गई थी अपराध की विवेचना
घटना में प्रयुक्त मोबाइलों को बरामद कर सुरक्षित किया गया, आरोपी को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ कर मेमोरेंडम लेखकर जब्ती एवं गिरफ्तारी की कार्रवाई कर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत किया गया। जहां न्यायालय ने उन्हें सुरक्षित रखवा दिया है। बताया जा रहा है कि छतरपुर पुलिस अधीक्षक अमित सांघी के संज्ञान में आने पर तुरंत सभी वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए एसडीओपी खजुराहो के नेतृत्व में थाना प्रभारी बमीठा एवं उपनिरीक्षक संजय पाण्डेय तथा साइबर सेल प्रभारी छतरपुर उपनिरीक्षक सिद्वार्थ शर्मा का विशेष जांच दल गठित किया गया। अपराध की प्रकृति को दृष्टिगत रखते हुए राज्यस्तरीय तथा राष्ट्रीय एंजेसियों के माध्यम से अपराध की विवेचना प्रारंभ की गई।

इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका
बता दें कि पूरी कार्रवाई में निरीक्षक जयवंत काकोदिया, थाना प्रभारी बमीठा, उप निरीक्षक संजय पाण्डेय चौकी प्रभारी पहरा, सहायक उप निरीक्षक अशोक शर्मा, आरक्षक प्रभात द्विवेदी, आरक्षक निकेश यादव, आरक्षक मुलायम, साइबर सेल से उप निरीक्षक सिध्दार्थ शर्मा, प्रभारी साइबर सेल छतरपुर, प्रभारी आरक्षक किशोर रैकवार, प्रभारी आरक्षक संदीप सिंह तोमर, आरक्षक धर्मराज पटेल, आरक्षक विजय सिंह की महत्वूर्ण भूमिका रही।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button