मध्यप्रदेशसतना

नाबालिग छात्रा का अपहरण कर धर्म परिवर्तन कराने का मामला: मां-बेटी समेत 5 पहुंचे सलाखों के पीछे, एक है नाबालिग

सतना। सतना जिले से नाबालिग छात्रा को स्कूल से अगवा कर धर्म परिवर्तन कराकर दैहिक शोषण किए जाने मामले में पुलिस ने एक्शन लेना शुरु कर दिया है। पुलिस ने इस मामले में प्रकरण दर्ज करने के बाद अब तीन महिलाओ समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों महिलाओं में दो युवतियां और उसकी मां शामिल हैं। आरोपियों में एक नाबालिग अपचारी है। तीनों महिलाओं ने अपहृत छात्रा को अपने घर में रखा और धर्म परिवर्तन कराने में सहयोग दिया। नाबालिग अपचारी के द्वारा पीड़ित छात्रा का अगवा कर अपने दोस्त के साथ पहुंचाने में मदद की गई। चार आरोपियों को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया जबकि नाबालिग को बाल सम्प्रेषण गृह भेजा गया है।

इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक मझगवां कस्बा निवासी 15 वर्षीय छात्रा घर से गुरुवार 23 नवम्बर को स्कूल गई, स्कूल के बाद छात्रा घर नही लौटी, परिजनों ने मझगवां थाना में शिकायत दर्ज कराई। जांच में पता चला कि छात्रा को स्कूल से एक नाबालिग अपने साथ बाइक में लेकर मझगवां कस्बे में रहने वाले इरशाद खान के पास ले गया। जांच में तथ्य आए कि नाबालिग मझगवां कस्बे के इस्तियाक खान उर्फ बम्बइया कबाड़ी के यहां नौकरी करता है। छात्रा को उसने कबाड़ी के बेटे के सुपुर्द किया है। परिजनों का आरोप है कि मझगवां पुलिस को जानकारी दी गई लेकिन कार्रवाई में पुलिस ने देरी की।

चाची के घर में छिपा कर रखा
छात्रा को अगवा कर उसका धर्म परिवर्तन कराए जाने की जानकारी लगने पर हिन्दूवादी संगठन सक्रिय हुए, इस बीच सोशल मीडिया में अपहृत छात्रा की तस्वीर वायरल हुई। वायरल तस्वीर में अपहृत छात्रा हिजाब में कलमा पढते हुए दिखाई दे रही थी। अपहरण, दुष्कर्म और धर्म परिवर्तन का आरोप लगाते हुए सोमवार की रात मझगवां थाना में हिन्दूवादी संगठनों ने प्रदर्शन करना शुरू कर दिया जब जिला मुख्यालय से एएसपी ग्रामीण विक्रम सिंह मझगवां थाना पहुंचे, तब मझगवां पुलिस हरकत में आई। तत्पश्चात रात में मझगवां पुलिस ने इरशाद और उसके नाबालिग सहयोगी को पकड़ा। पूछताछ में इरशाद ने बताया कि छात्रा को उसने अपने रिश्ते की चाची के घर में रखा हुआ है। जानकारी मिलने पर पुलिस ने अपहृत छात्रा को बरामद किया। तत्पश्चात मंगलवार को उसका बयान न्यायालय में कराया।

मां -बेटी समेत जेल भेजा गया मुख्य आरोपी
मझगवां टीआई ने बताया कि मुख्य आरोपी इरशाद खान पिता इस्तियाक खान निवासी नई बस्ती मझगवां के अलावा उसकी चाची हमीदा निशा पति स्व. खज्जू खान 64 वर्ष और उसकी दो बेटियों आशिया खान पिता बबलू खान 24 वर्ष, नूरजहां खान पति साहिल खान 20 वर्ष तीनों निवासी गोलान टोला मझगवां एवं आरोपी इरशाद के पिता की कबाड़ दुकान में काम करने वाले नाबालिग को पकड़ा गया। चारों आरोपियों को न्यायालय में पेश करते हुए जेल भेज दिया गया। विधि विरुद्ध नाबालिग अपचारी को बाल सम्प्रेषण गृह भेजा गया है।

छात्रा का किया दैहिक शोषण
स्कूल से अपने नाबालिग साथी की मदद से छात्रा को अगवा कर आरोपी इरशाद ने उसे अपने रिश्ते की चाची के घर में रखा। चाची के घर में इरशाद ने नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म किया, दुष्कर्म में आरोपी की चाची और उसकी बेटियों ने सहयोग किया, इतना ही नहीं आरोपी ने अपनी चाची और बेटियों के सहयोग से पीड़ित छात्रा का धर्म परिवर्तन भी करा दिया। मझगवां थाना प्रभारी आदित्य नारायण धुर्वे ने बताया कि न्यायालय में पीड़िता के बयान के उपरांत प्रकरण में धारा 363 के अलावा 366, 368, 376, 120बी, आईपीसी, पाक्सो एक्ट की धारा 5/6 एवं मप्र धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 की धारा 3/5 का इजाफा किया गया।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button