ताज़ा ख़बर

मानसून से पानी पानी हुए यूपी, बिहार और उत्तराखंड, अन्य शहरों में भारी बारिश की सम्भावना

ताजा खबर: नई दिल्ली। मानसून (monsoon) उत्तरी अरब सागर, सौराष्ट्र और गुजरात के शेष हिस्सों के अलावा पूरे कच्छ क्षेत्र के साथ साथ राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश (Rajasthan and Western Uttar Pradesh) के कुछ हिस्सों की ओर बढ़ चुका है। देश के ज्यादातर हिस्सों में मानसून के कारण भारी बारिश (heavy rain) हो रही है। यूपी, उत्तराखंड और बिहार (UP, Uttarakhand and Bihar) समेत कुछ राज्यों में बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं।

इस बीच मौसम विभाग (IMD) ने यूपी, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा (UP, Rajasthan, Delhi, Haryana) समेत कुछ राज्यों के अधिकांश शहरों में रविवार को मौसम खराब रहने और बारिश होने की सम्भावना जताई है। हालांकि मानसून के दिल्ली तक आने में देरी हो सकती है। उत्तराखंड में लगातार बारिश ने कहर बरपा रखा है। कई गांवों से संपर्क कट गया है। कई नैशनल और स्टेट हाइवेज  कुछ जगहों पर बंद हो गए हैं। लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम जारी है।

पश्चिमी राजस्थान से हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दक्षिणी बिहार, झारखंड और गंगीय पश्चिम बंगाल होते हुए बंगाल की खाड़ी के उत्तर पूर्वी भागों के बीच एक ट्रफ रेखा बन गयी है। यह ट्रफ उत्तर प्रदेश पर बने निम्न दबाव के बीच से होकर गुजर रही है। अगले 2 -3 दिनों के दौरान दक्षिण पश्चिम बिहार और उससे सटे दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश, पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ पर एक निम्न दबाव के क्षेत्र और दक्षिण बांग्लादेश पर एक मध्य स्तर के चक्रवाती परिसंचरण के प्रभाव के कारण बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और सिक्किम, पूर्वी उत्तर प्रदेश में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ व्यापक वर्षा होने की सम्भावना है।

यूपी के 16 जिलों में बाढ़ का खतरा
हरिद्वार (Haridwar) से शनिवार को 4 लाख क्यूसेक पानी गंगा में छोड़ा गया। इसके चलते यूपी के कई जिलों में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है। पूर्वांचल की 6 नदियां उफान पर आ गई हैं। बाढ़ का असर सबसे ज्यादा यूपी के लखीमपुर खीरी, बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर, महराजगंज, देवरिया, बस्ती, कुशीनगर, सिद्धार्थ नगर, गोरखपुर, गोंडा, संत कबीर नगर, बलिया, बाराबंकी, सीतापुर और मऊ में है। इन जिलों में हजारों एकड़ फसल डूब गई है। ग्रामीण घरों को छोड़ने की तैयारी कर रहे हैं। वहीं बिहार की गंडक, कोसी और घाघरा नदियां उफान पर हैं।

बिहार के इन जिलों में  होगी बारिश
बिहार की राजधानी पटना सहित पूरे सूबे में बारिश जारी रहेगी। अगले दो दिनों तक यही स्थिति बनी रहेगी। मौसम विभाग के अनुसार राज्य के प्रत्येक हिस्से में शनिवार को हल्की और मध्यम बारिश हुई। रविवार के लिए उत्तर पश्चिम बिहार के जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। पश्चिम चंपारण, सीवान, सारण, पूर्वी चंपारण और गोपालगंज में अत्यधिक बारिश की सम्भावना है। इसके अलावा दक्षिण पूर्व बिहार और उत्तर मध्य बिहार के जिलों में  येलो अलर्ट जारी किया गया है। सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर,  वैशाली, शिवहर और समस्तीपुर में सामान्य से अधिक बारिश की सम्भावना है।

उत्तराखंड में सुरक्षित स्थान पर भेजे जा रहे लोग
पिछले 4 दिनों से पहाड़ों में लगातार हो रही बारिश से उत्तराखंड के अधिसंख्य क्षेत्रों में जनजीवन अस्त व्यस्त है। कई जगह बारिश ने अब आफत का रूप ले लिया है। जगह जगह सड़कें बंद हो गई हैं। मौसम विभाग ने सोमवार 22 जून तक भारी बारिश की चेतावनी दी है। हरिद्वार जिले के एडीएम केके मिश्र (kk mishra)  के अनुसार गंगा से जुड़े क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है। अलकनंदा में बढ़ते पानी से श्रीनगर गढ़वाल के निकट बदरीनाथ हाईवे पर धारी देवी मंदिर  नदी के उफान में घिरता जा रहा है। कौड़िया और क्षेत्रपाल में पहाड़ी से पत्थर गिर रहे हैं।

आज कहां होगी बारिश
मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक 19 जून को उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड में मध्यम से  गरज के साथ लगातार बादल से जमीन पर बिजली गिरने की सम्भावना है। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि बाहर रहने वाले लोगों और जानवरों को नुकसान हो सकता है।  शनिवार 19 जून को पूर्वी यूपी के अधिकांश इलाकों में कहीं भारी तो कहीं बहुत भारी बारिश होने की चेतावनी जारी करने का काम किया है। पूरे सूबे में 21 जून तक कहीं हल्की तो कहीं सामान्य बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button