31.8 C
Bhopal

चुनावी माहौल समाप्त, एक्शन में कलेक्टर: सीएमएचओ सहित 8 अधिकारियों को थमाया कारण बताओ नोटिस

प्रमुख खबरे

रीवा। चुनावी दायित्व तथा आचार संहिता के समाप्त होने के बाद अब आम जनता से जुड़े कार्यों को लेकर जिले की मुखिया ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। बुधवार को उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सहित आठ अधिकारियों को कर्तव्य में लापरवाही को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया है। साथ ही संबंधित अधिकारियों से तीन दिन के भीतर जवाब भी तलब किया गया है।

कलेक्टर प्रतिभा पाल ने सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने वाले 8 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। सीएम हेल्पलाइन की मई माह की रैंकिंग में स्कूल शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, जल संसाधन विभाग, लोक निर्माण विभाग, वित्त विभाग, खनिज विभाग, श्रम विभाग तथा योजना एवं सांख्यिकी विभाग की रैंकिंग डी श्रेणी में है। कलेक्टर ने इस संबंध में कहा है कि अधिकारियों द्वारा सीएम हेल्पलाइन प्रकरणों के निराकरण में रूचि न लेने तथा लापरवाही बरतने के कारण रैंकिंग में गिरावट आई। संबंधित सभी अधिकारी लंबित प्रकरणों का तीन दिवस में निराकरण करके कारण बताओ नोटिस का संतोषजनक उत्तर समक्ष में उपस्थित होकर प्रस्तुत करें। समय सीमा में निर्देशों का पालन न होने पर कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई प्रस्तावित की जाएगी।

इन अधिकारियों को देना होगा तीन दिन में जवाब
कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ संजीव शुक्ला, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन मनोज तिवारी, जिला शिक्षा अधिकारी सुदामालाल गुप्ता तथा अग्रणी बैंक प्रबंधक संजय निगम को नोटिस दिया है। कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग मनोज द्विवेदी, जिला खनिज अधिकारी श्रीमती दीपमाला तिवारी, प्रभारी जिला श्रम अधिकारी आशुतोष सिंह तथा जिला योजना एवं सांख्यिकी अधिकारी आरके कछवाह को कारण बताओ नोटिस दिया है।

कार्यालयीन समय सुबह 10 से शाम 6 बजे तक निर्धारित
मध्यप्रदेश शासन के सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार प्रदेश के सभी शासकीय कार्यालयों के संचालन का समय निर्धारित कर दिया गया है। सभी कार्यालय सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक संचालित होंगे। सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को नियत समय पर कार्यालय में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने के निर्देश दिए गए हैं। समझा जा रहा है कि कार्यालय के समय में परिवर्तन के पीछे ग्रीष्म ऋतु के समाप्त होने के बाद वर्षाकाल को देखते हुए परिवर्तन किया गया है।

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

ताज़ा खबरे