भोपालमध्यप्रदेश

कांग्रेस: करारी हार के बाद दो दुश्मन बन रहे दोस्त, दिग्गी से मुलाकात पर यह बोले सिंघार

भोपाल। विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस में नए समीकरण बन रहे है। एक दूसरे के कट्टर विरोधी माने जाने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और गंधवानी से कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार पार्टी की बुरी तरह पराजय के बाद फिर एक होते दिख रहे हैं। ऐसा इसलिए भी माना जा रहा है कि सिंघार से दिग्विजय सिंह दूरियां मिटाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। कुछ दिनों पहले उन्होंने विवादों को लेकर दिग्गी से माफी मांगी थी। इसके बाद वह उनसे मिलने पहुंच गए। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ है।

दिग्गी से मिलने के एक दिन बाद जब मीडिया ने गंधवानी विधायक से दिग्विजय सिंह से मुलाकात को लेकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि परिवार में यदि आपस में सभी लोग एक हो गए है तो उसमें कोई बुरी बात नहीं है। आने वाले समय में लोकसभा का चुनाव है। यह एक बड़ा महासंग्राम है। उसके लिए तैयारी के साथ पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल ऊंचा करने की आवश्यकता है।

मतभेद हो सकते है, पर मनभेद नहीं
वहीं, दिग्विजय सिंह को लेकर उनके पुराने बयान पर कायम रहने के सवाल पर उन्होंने कहा कि वह लगातार यह बात कहते आए है कि उनके बीच मतभेद हो सकते है, लेकिन मनभेद किसी से नहीं हैं। उमंग सिंघार और दिग्विजय सिंह को एक दूसरे का दुश्मन माना जाता था। प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद सिंघार ने दिग्विजय सिंह से माफी मांगने के बाद बुधवार को उनसे मिलने पहुंचे थे। बता दें उमंग सिंघार ने दिग्विजय सिंह पर कमलनाथ सरकार को पर्दे से पीछे से चलाने का आरोप लगाया था। साथ ही सरकार गिरने के लिए भी उनको दोषी बताया था।

मैंने कभी पार्टी में पद नहीं मांगा
उमंग सिंघार प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनने के सवाल पर कहा कि वह पार्टी के कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहे हूं। आगे भी करते रहेंगे। आज तक पार्टी में मैंने कभी पद नहीं मांगा। चुनौतियों से लड़ना काम है और उनसे लड़ते रहेंगे। वहीं, नेता प्रतिपक्ष के दौड़ में शामिल रहने के सवाल पर सिंघार ने कहा कि मैं कभी पद की दौड़ में नहीं रहता। ना कभी पद मांगा। यह पूरी पार्टी जानती है। वहीं दिल्ली में होने वाली कांग्रेस की बैठक को लेकर उमंग सिंघार ने कहा कि हार की समीक्षा की जाएगी। लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा होगी। घोषणा पत्र और दूसरे मुद्दों को लेकर दिल्ली में विचार मंथन करेंगे।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button