मध्यप्रदेश

इंदौर में दिल दहलाने वाली घटना: पार्टी के दौरान चाकुओं से गोदकर दो युवकों की हत्या, कुछ दिन पहले भी हुआ था विवाद

इंदौर। इंदौर में दो युवकों की पार्टी के दौरान चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। एक युवक ने बचने के लिए करीब 200 मीटर तक दौड़ लगाई। लेकिन जान नहीं बचा सका। घटनास्थल से काफी दूर तक पुलिस को खून के निशान मिले हैं। दोनों पक्षों में पहले जमकर लड़ाई हुई थी। बताया जा रहा है कि उज्जैन के बदमाशों से इनका कुछ दिन पहले विवाद हुआ था। पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई है। दोनों आपराधिक प्रवृत्ति के थे। इन पर हत्या के प्रयास, लूट और मारपीट के कई मामले दर्ज थे।

एएसपी शशिकांत कनकने के अनुसार घटना बुधवार देर रात की है। बाणगंगा थाना क्षेत्र के करोल बाग स्थित कालिंदी गोल्ड कॉलोनी के मेन रोड पर दो युवकों की रक्तरंजित लाश पड़ी थी। इनकी पहचान अर्पित घाटे निवासी लवकुश विहार और गौरव मिश्रा निवासी गौरी नगर के रूप में हुई है। गौरव के पिता भोपाल में सशस्त्र बल में पदस्थ हैं। वहीं, अर्पित का परिवार मूलत: महाराष्ट्र का रहने वाला है।




200 मीटर दूर मिली लाश
बाणगंगा टीआई राजेंद्र सोनी ने बताया कि करोल बाग के सामने एक शव मिलने की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। वहां अर्पित घाटे का शव मिला। मौके पर सर्चिंग की तो अर्पित की लाश से करीब 200 मीटर दूर दूसरे युवक की चप्पल मिली। वहां पर एक गाड़ी खड़ी थी। आसपास भी खून के निशान थे। पुलिस ने खून के निशानों के आधार पर पीछा करते हुए आगे बढ़ना शुरू किया तो दूसरी लाश भी मिल गई। पुलिस ने आसपास के लोगों को शिनाख्त करवाई तो वहां के एक नाबालिग ने बताया कि यह गौरव मिश्रा है, जिसके पिता एसएएफ में पदस्थ हैं। पता करने पर उसका आपराधिक रिकॉर्ड सामने आया है। हत्या में अप्पू, मोगली, कान्हा और उज्जैन के बदमाश भूरा का नाम आ रहा है।

पार्टी के दौरान गैंगवार की बात आई सामने
बताते हैं कि दोनों मृतक आरोपियों के साथ ही करोल बाग के खाली मैदान में पार्टी करने के लिए बैठे थे। पार्टी के दौरान ही सबसे पहले आरोपियों ने गौरव मिश्रा पर चाकुओं से 10 से 15 वार किए। इस पर अर्पित अपनी जान बचाने के लिए भागा तो बदमाशों ने उसका पीछा किया। करीब 200 मीटर दूर दौड़ाकर उसे भी चाकुओं से गोद दिया। उस पर 10-15 वार कर उसकी हत्या कर दी।

पेट और गले में चाकू से किया वार
पता चला है कि जिन दोनों युवकों की हत्या हुई है, 15 दिन पहले उनका विवाद उज्जैन के बदमाश भूरा अप्पू मोगली और कान्हा के साथ हुआ था। उस समय दोनों ने हीरानगर थाने पर रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। हालांकि पुलिस ने नॉर्मल धारा में केस दर्ज किया था। पुलिस के अनुसार गौरव के पेट पर चाकू के निशान मिले हैं। जबकि अर्पित के हाथ, गले और छाती में चाकू घोंपा गया है। पुलिस को मौके से एक बिना नंबर की स्कूटर भी मिली है। अर्पित पर अलग-अलग थानों में हत्या का प्रयास, लूट, चोरी, अड़ीबाजी जैसे संगीन मामले दर्ज हैं। वहीं, गौरव भी आपराधिक प्रवृत्ति का था।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button