31.8 C
Bhopal

इंटरनेशनल योग दिवस : PM ने डलझील के किनारे किया योग, यादगार पलों के साक्षी बने हजारों, मोदी ने कहा- योग को विश्व देख रहा शक्तिशाली एजेंट के रूप

प्रमुख खबरे

जम्मू कश्मीर। दसवें इंटरनेशन योग दिवस का उत्साह पूरी दुनिया में दिखाई दिया। भारत में इसका उत्साह तो चरम पर है। जमीन से लेकर चोटियों तक में लोगों ने योगाभ्यास किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने धरती का स्वर्ग माने जाने वाले श्रीनगर में योगाभ्यास किया। योग का कार्यक्रम में शेर-ए-कश्मीर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन केंद्र में आयोजित किया गया था। पीएम मोदी के साथ हजारों लोगों ने भी आसन लगाया। खास बात यह भी रही पीएम मोदी को अपने बीच पाकर लोग अभिभूत नजर आए। वहीं पीएम ने भी लोगों के साथ खूब सेल्फी ली और उनका उत्साह बढ़ाया। इसके बाद पीएम मने 0वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मुख्य समारोह को संबोधित किया।

पीएम मोदी ने कश्मीर की धरती से दुनिया भर के लोगों को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए कहा कि दस साल पहले, मैंने संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा था। भारत के प्रस्ताव को 177 देशों ने समर्थन दिया, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि दुनिया योग की शक्ति को मानती है। विश्व योग को वैश्विक भलाई के लिए एक शक्तिशाली एजेंट के रूप में देखता है। यह लोगों को अतीत के बोझ को ढोए बिना वर्तमान में जीने में मदद करता है। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने 101 वर्षीय फ्रांसीसी महिला चार्लोट चोपिन का भी जिक्र किया, जिन्हें अपने देश में योग को लोकप्रिय बनाने में उनकी सेवाओं के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।

योग समाज में सकारात्मक बदलाव के नए तरीके बना रहा
प्रधानमंत्री ने कहा कि योग ने लोगों को यह एहसास दिलाया है कि उनका कल्याण उनके आसपास की दुनिया के कल्याण से जुड़ा हुआ है। प्रधानमंत्री ने कहा, ‘विश्व योग को वैश्विक भलाई के एक शक्तिशाली एजेंट के रूप में देख रहा है। योग हमें अतीत के बोझ को ढोए बिना वर्तमान क्षण में जीने में मदद करता है।’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘जब हम अंदर से शांत होते हैं, तो हम दुनिया पर सकारात्मक प्रभाव भी डाल सकते हैं…योग समाज में सकारात्मक बदलाव के नए तरीके बना रहा है।’

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी लगातार हो रही योग पर चर्चा
प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया भर में योग करने वालों की संख्या हर दिन बढ़ रही है और यह दिनचर्या उनके दैनिक जीवन का हिस्सा बनती जा रही है। पीएम ने कहा, ‘योग करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मैं जहां भी जाता हूं, शायद ही कोई (अंतरराष्ट्रीय) नेता हो जो मुझसे योग के लाभों के बारे में बात न करता हो।’ पीएम मोदी ने तुर्कमेनिस्तान, सऊदी अरब, मंगोलिया और जर्मनी का उदाहरण देते हुए कहा, “कई देशों में योग लोगों के दैनिक जीवन का हिस्सा बनता जा रहा है। ध्यान का यह प्राचीन रूप वहां तेजी से लोकप्रिय हो रहा है।

- Advertisement -spot_img

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

ताज़ा खबरे