खुलासा: पाक में फर्जी डिग्री रखने के आरोप में सात पायलटों समेत 50 के अनुबंध रद्द



लाहौर। पाकिस्तान की राष्ट्रीय विमानन कपंनी ने सात पायलटों समेत 50 से अधिक कर्मचारियों के अनुबंध रद्द कर दिए हैं। ये सभी फर्जी डिग्री रखने के दोषी पाए गए थे। फर्जी डिग्रियों और सर्टिफिकेट के साथ पायलटों और केबिन सदस्यों के खिलाफ पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय की कार्यवाही के मद्देनजर यह निर्देश जारी किए गए हैं।


  पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) ने एक बयान में कहा, पाकिस्तान इंटरनैशनल एयरलाइंस के कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। संबंधित शैक्षिक संस्थानों ने इनकी डिग्रियां फर्जी पाईं।  पीआईए के प्रवक्ता मसहूद तजवर ने कहा कि फर्जी डिग्रियां रखने वाले सभी कर्मचारियों के मामलों की जांच शुरू कर दी गई है।


सीएए ने कहा कि पीआईए के 400 अन्य कर्मचारियों की डिग्रियों की जांच भी चल रही है। प्राधिकरण के महानिदेशक हसन बेग ने उन सभी पायलटों और क्रू सदस्यों के लाइसेंस भी निलंबित करने के निर्देश दिए हैं जिन्होंने अभी तक अपनी डिग्रियां और सर्टिफिकेट जमा नहीं किए हैं।  पाकिस्तानी अखबरों के मुताबिक, सीएए ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की बेंच को बताया था कि पीआईए के 7 कर्मचारियों की डिग्री फर्जी पाई गई हैं और उनमें से पांच ने तो दसवीं तक पास नहीं की है।  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति