एजुकेशन लोन लेते वक्त रखें इन बातों का ध्यान, नहीं रहेगी चिंता



नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। हमारे देश में हायर एजुकेशन काफी महंगी है। वहीं अगर आप विदेशों में जाकर पढ़ना चाहते हैं तो भी यह काफी महंगा पड़ा जाता है। इसलिए बहुत सारे लोग हायर एजुकेशन के लिए लोन लेते हैं। देश में हायर एजुकेशन के लिए बैंक 10 लाख रुपये और विदेशों में जाकर पढ़ने के लिए 20 लाख रुपये तक का लोन देते हैं। बैंक आसानी से एजुकेशन लोन दे देते हैं, हालांकि इस दौरान हमें सावधान रहना चाहिए। आइए जानते हैं कि यह लोन लेने से पहले आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। लोन लेने से पहले बनाएं योजना: किसी भी तरह का लोन लेने से पहले उसके बारे में योजना बना लेनी चाहिए।


हर लोन की तरह एजुकेशन लोन लेने पर भी उसे समय पर चुकाने की योजना तैयार कर लें। अगर आप समय पर इसका भुगतान नहीं कर पाते हैं तो आप पर आर्थिक बोझ बढ़ता जाएगा। साथ ही लोन लेने से पहले अपनी परिवार की वित्तीय जिम्मेदारी और स्थिति का भी आकलन करें। इसलिए एजुकेशन लोन लेने से पहले इन सारी स्थितियों को भी ध्यान रखना चाहिए। सावधानी से चुनें बैंक: लोन लेने वक्त बैक का चुनाव सावधानी से करें। ऐसा बैंक चुने जो आसानी से आपकी लोन चुकाने की अवधि को कम-ज्यादा कर दें। कई बार ऐसा होता है कि तय अवधि तक लोन का भुगतान नहीं किया जाता है। इसलिए ऐसा बैंक चुनें जो ऐसी स्थिति आने पर अवधि को बढ़ा दें।


इसके अलावा अगर आप कमजोर सामाजिक वर्ग से आते हैं तो सरकारी बैंक से ही एजुकेशन लोन लेने की कोशिश करें। इसका फायदा यह होगा कि ब्याज सब्सिडी की सरकारी योजना का लाभ पाने के योग्य होंगे। लोन लेने से पहले करें पड़ताल: एजुकेशन लोन की रकम छात्रों को नहीं मिलती है। यह कॉलेज या यूनिवर्सिटी के पास पहुंचती है। इसलिए लोन लेते वक्त यह भी ध्यान रखें कि जितना लोन आप ले रहे हैं उसमें आपके यूनिवर्सिटी या कॉलेज के फीस समेत सारे खर्च कवर हो जाएं। अगर ऐसा नहीं होता है तो आपको अपनी पढ़ाई के दौरान होने वाली दूसरी एक्टिविटीज के लिए अलग से पैसों का इंतजाम करना होगा। यह काफी सिरदर्दी वाला काम हो सकता है। इसलिए एजुकेशन लोन लेने से पहले पूरी पड़ताल कर लें।

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति