मध्य प्रदेश में आगामी लोकसभा चुनाव में नहीं लगेगी शिक्षकों की ड्यूटी



भोपाल। लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। चुनावी कार्य में ज्यादातर शिक्षकों से ही काम लिया जाता रहा है। ऐसे में शिक्षक विधानसभा चुनाव के बाद लोकसभा चुनाव के कार्यों में जुट गए हैं। लोकसभा चुनाव से पहले शिक्षकों के लिए फिलहाल राहत भरी खबर आई है।


मध्य प्रदेश राज्य शिक्षा केंद्र ने शिक्षकों को निर्वाचन कार्य से मुक्त रखने का आदेश जारी किया है।  भोपाल जिले में लोकसभा चुनाव की तैयारियों में करीब 2 हजार से ज्यादा शिक्षक लगे हुए हैं। शिक्षकों के निर्वाचन कार्य में लगे होने के चलते शैक्षणिक कार्य प्रभावित हो रहा है।


चुनावी कार्य में ड्यूटी के चलते स्कूलों में शिक्षकों की कमी हो गई है।  चुनावी ड्यूटी का बच्चों के रिजल्ट पर असर न पड़े, यही वजह है कि अब परीक्षाओं से ठीक पहले शिक्षकों को चुनावी ड्यूटी से मुक्त करने के निर्देश जारी किए गए हैं। शिक्षक संघ का कहना है कि आदेश कई बार जारी हुए हैं, लेकिन कभी जमीनी स्तर पर इनका पालन नहीं हुआ है। शिक्षकों के चुनावी कार्य में लगे होने से अब तक छात्रों का सिलेबस भी पिछड़ा हुआ था। जिला शिक्षा अधिकारियों का कहना है कि शिक्षकों को तत्काल चुनावी कार्य से मुक्त किया जाएगा। 

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति