खादीवाला परिवार ने मांगा लोकसभा का टिकट, कांग्रेस की बढ़ी मुसीबत!



भोपाल। मध्यप्रदेश के इंदौर स्थित कांग्रेस कार्यालय में एक बार फिर ताला लग सकता है। 75 साल से खादीवाला परिवार की बिल्डिंग में चल रहे कांग्रेस कार्यालय पर दोबारा ताला लगने के हालात बन रहे हैं, क्योंकि खादीवाला परिवार ने इस लोकसभा चुनाव में इंदौर से अपने परिवार को टिकट देने की मांग की है। इससे पहले भी राहुल गांधी के इंदौर दौरे के दौरान खादीवाला परिवार को नहीं बुलाने पर उन्होंने कांग्रेस कार्यालय पर ताला जड़ दिया था, जिसके बाद कांग्रेस नेताओं के माफी मांगने पर ताला खोला गया। लोकसभा चुनाव की सरगर्मी के दौर में कांग्रेस को अपनी ही पार्टी के लोग झटका देने की तैयारी में लग गए हैं। शहर के गांधी भवन ट्रस्ट की जिस बिल्डिंग में पार्टी दफ्तर चल रहा है उस ट्रस्ट के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी खादीवाला परिवार ने अपने लिए लोकसभा चुनाव का टिकट मांग लिया है।


परिवार का कहना है कि देश की स्वतंत्रता के पहले 1944 में इस भवन का निर्माण करवाया था। उसी समय से यह भवन कांग्रेस कार्यालय के संचालन के लिए दे दिया गया था। खादीवाला परिवार इस भवन का कोई किराया भी नहीं लेता है, लेकिन अब वो इसके बदले अपरने परिवार की महिला और गांधी भवन की ट्रस्ट की अध्यक्षा आशा गोविंद खादीवाला के लिए इंदौर लोकसभा से टिकट का मांग कर रहे हैं। इससे पहले भी खादीवाला परिवार से कन्हैयालाल खादीवाला 1957 में सांसद रह चुके हैं। रजवाड़े के पास प्रिंस यशवंत रोड पर बना गांधी भवन शहर की प्राइम लोकेशन पर है। कांग्रेस पार्टी के पास फिलहाल कोई विकल्प नहीं है। दूसरा भवन किराए पर लेने पर लाखों रुपये किराया देना पड़ेगा, ऐसे में वे गांधी भवन नहीं छोड़ सकते। चूंकी पार्टी के छोटे से लेकर बड़े कार्यक्रम इसी भवन में होते हैं यही कारण है कि इस मामले को आलाकमान तक पहुंचा दिया गया है।


कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और प्रदेश सहप्रभारी संजय कपूर का कहना है कि यह मामला गंभीर है, लेकिन कांग्रेस इसका हल निकाल लेगी और जहां तक इंदौर लोकसभा से खादीवाला परिवार को टिकट देने की बात है इस पर संगठन के लोगों से विचार विमर्श कर निर्णय लिया जाएगा। बहरहाल, अपने कार्यालय की समस्या से जूझ रही इंदौर कांग्रेस अब नई सरकार बनने के साथ ही नया दफ्तर बनाने की कवायद में जुट गई है। शहर कांग्रेस अध्यक्ष ने सरकार को भेजने के लिए एक प्रस्ताव तैयार किया है। उन्होंने एक से डेढ़ एकड़ जमीन की जरूरत बताई है। प्रस्ताव के साथ संदर्भ के तौर पर जावरा कंपाउंड में बने भाजपा आॅफिस के लीज के दस्तावेज भी लगाए गए हैं। आईडीए ने बीजेपी को कार्यालय बनाने के लिए जमीन एक रुपये लीज पर दी थी। शहर कांग्रेस ने भी अपने लिए उसी तरह की जगह स्थानीय प्रशासन से लीज पर देने की मांग की है, लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले इस पर फैसला होना मुश्किल है। ऐसे में खादीवाला परिवार की मांग ने कांग्रेस के स्थानीय से लेकर आला नेताओं के हाथ-पांव फुला दिए हैं।

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति