आर्थिक संकट में राज्य सरकार, वित्त विभाग का विभागों को आदेश, बची राशि तत्काल जमा कराएं



भोपाल। आर्थिक संकट से गुजर रही राज्य सरकार का प्रबंध गड़बड़ाता जा रहा है। वित्त विभाग ने वित्तीय प्रबंधन के लिए नए सिरे से दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसमें सभी विभागों से कहा गया है कि योजनाओं में जो राशि खर्च नहीं हुई है, उसे तत्काल राज्य सरकार के खजाने में जमा किया जाए। विभिन्न सरकारी उपक्रमों से भी सरकार के खजाने में राशि जमा करने को कहा गया है।


वित्त विभाग ने कहा है कि विभागीय अधिकारियों को व्यक्तिगत जमा खाता खोलने की अनुमति समय-समय पर दी गई है। इस खाते में विभिन्न योजनाओं की राशि रखी हुई है। योजना पूरी होने या चालू नहीं होने की स्थिति में राशि सरकार की संचित निधि में जमा करा देना चाहिए, लेकिन यह देखने में आया है कि कई विभागों ने राशि जमा नहीं कराई है।


इन खातों में रखी राशि को सरकार की संचित निधि में जमा कर तत्काल यह खाते बंद कर दिए जाएं। 28 मार्च को ऐसे खाते कोषालय स्तर से बंद कर दिए जाएंगे। इसके साथ ही जिन विभागों ने विभागाध्यक्ष स्तर पर चल रहे बैंक खातों के लिए वित्त विभाग से अनुमति प्राप्त नहीं की है, वे खाते भी बंद किए जाएंगे। इनका पैसा राज्य सरकार के खजाने में जमा किया जाए। जिन खातों के लिए अनुमति ली जा चुकी है, उनमें जमा पैसा भी संचित निधि में जमा किया जाए। निगम-मंडल, विश्वविद्यालय, आयोग यदि अपने स्रोत से प्राप्त राशि बैंक खातों में रखते हैं तो उन्ह 

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति