भाजपा छोड़ कांग्रेसी हुए कुसमरिया, कहा- भाजपा ने बुजुर्गों का किया अपमान



भोपाल। शिवराज सरकार में कृषि मंत्री रहे और संघ के खांटी स्वयंसेवक रामकृष्ण कुसमरिया शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। भोपाल का जंबूरी मैदान इसका गवाह बना। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। रामकृष्ण कुसमरिया ने भोपाल के जंबूरी मैदान में किसान आभार सभा में कहा, बीजेपी ने पार्टी के बुजुर्गों को धक्का देकर बाहर बैठा दिया है। पार्टी की रीति नीति बदलने के कारण उन्होंने बीजेपी को छोड़ना बेहतर समझा। उन्होंने कहा खुद को संस्कारित पार्टी कहने वाली बीजेपी के बारे में अब आप सब जानते हैं कि उसने हमारे बुजुर्गवार और सम्माननीयों का अपमान किया है।


उन्होंने कंस का उदाहरण देते हुए कहा जिस तरह कंस ने अपने पिता को जेल में डाल दिया था उसी तरह बीजेपी ने भी अपने बुजुर्गों का अपमान किया है। रामकृष्ण कुसमरिया ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुखातिब होते हुए याद किया कि इनकी दादी राजमाता विजयाराजे सिंधिया ने हमें आरएसएस का सदस्य बनवाया था, लेकिन अब पार्टी की रीति-नीति बदल गई है, इसलिए हमें भी दल बदलना पड़ा। अब हम राहुल गांधी और कमलनाथ के लिए काम करेंगे। कुसमरिया ने सीएम कमलनाथ की तारीफ में कसीदे पढ़े। साथ ही कहा कि यह एतिहासिक क्षण है कि एमपी की धरती पर जिन किसानों को हम भगवान का रूप मानते हैं, उनका आभार मानने राहुल गांधी आए हैं।


रामकृष्ण कुसमरिया ने कांग्रेस और खासतौर से कमलनाथ सरकार की तारीफ की। उन्होंने पेड़, किसान, खेती की रक्षा का वचन दिया है। कुसमरिया ने कहा कि, 'हमें उम्मीद है कि पार्टी इसे पूरा करेगी। अब लगता है कि भारत के अच्छे दिन आएंगे'। बीजेपी के पूर्व नेता रामकृष्ण कुसमरिया ने याद किया कि मोदीजी ने कहा था स्मार्ट सिटी, तब हमने कहा था कि स्मार्ट विलेज क्यों नहीं। किसानों पर सबसे बड़ा संकट है। किसान बचेंगे तो देश बचेगा। उम्मीद है कमलनाथ सरकार इस दिशा में काम करेगी। रामकृष्ण कुसमरिया ने किसानों को 10 एकड़ तक की खेती के लिए अनुदान में मदद करने का प्रस्ताव राहुल गांधी के सामने रखा। विधानसभा चुनाव में टिकट ना मिलने से नाराज रामकृष्ण कुसमरिया बागी हो गए थे, उसके बाद भाजपा ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया था।

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति