वर्ल्ड कप के लिए टीम इंडिया के ज्यादातर चेहरे तय, चंद जगहों की दावेदारी बाकी



नई दिल्ली। मई में शुरू हो रहे वनडे वर्ल्ड कप से पहले भारत को अब केवल छह मैच और खेलने हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ मौजूदा पांच मैचों की सीरीज में बचे एक मैच के अलावा टीम इंडिया आस्ट्रेलिया के खिलाफ होम ग्राउंड पर वनडे सीरीज खेलेगी। जाहिर है, वर्ल्ड कप के लिए टीम चयन का पैमाना इन्हीं मैचों का प्रदर्शन होगा। हालांकि जिन्हें अंतरराष्ट्रीय मैचों में मौका नहीं मिल रहा है वह घरेलू मैचों के जरिए भी अपना दावा ठोक रहे हैं। वैसे तो वर्ल्ड कप के लिए टीम लगभग तय है, फिर भी जिन एक-दो जगहों पर अभी संशय है, उसके लिए कई दावेदार हैं।  पृथ्वी पर गिल भारी लोकेश राहुल के टीम से बाहर होने के बाद पहली पसंद पृथ्वी साव थे। लेकिन, आॅस्ट्रेलिया दौरे पर लगी चोट से पूरी तरह नहीं उबर पाने के चलते चयनकतार्ओं ने उनकी जगह शुभमान गिल को पहली बार टीम में जगह दी। शुभमान को न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथे वनडे में मौका मिला लेकिन वह कुछ खास नहीं कर सके। हालांकि कप्तान विराट कोहली ने मैच से एक दिन पहले जिस तरह उनकी तारीफ की थी, उससे पृथ्वी पर उनका दावा मजबूत लग रहा है। देखना यह है कि पृथ्वी को आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ मौका मिलता है कि नहीं। दूसरी तरफ, राहुल इंडिया-ए की तरफ से इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ तीन मैचों में विफल रहे हैं। ऐसे में इस जगह पर इन तीनों के बीच होड़ रहेगी।


  हालिया प्रदर्शन:  पृथ्वी: अब तक एक भी वनडे नहीं खेला। मौजूदा सीजन विजय हजारे ट्रोफी में चार फिफ्टी प्लस स्कोर सहित 357 रन जड़े  शुभमान: गुरुवार को न्यू जीलैंड में वनडे डेब्यू किया। इस सीजन विजय हजारे ट्रोफी में पंजाब के टॉप स्कोरर (418 रन) रहे  उमेश भी होड़ में भारतीय टीम पिछले कुछ समय से अगर विदेशी दौरों पर जीत रही है तो उसमें तेज गेंदबाजों का भी अहम योगदान है। चार तेज गेंदबाजों का चुना जाना तय है। जसप्रीत बुमरा, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी की जगह तो लगभग पक्की है, बाकी बचे एक स्थान के लिए उमेश यादव, खलील अहमद और मोहम्मद सिराज में कड़ी टक्कर होगी। उमेश ने रणजी ट्रोफी सेमीफाइनल में जैसी घातक बोलिंग की उसके बाद उन्होंने इन दोनों पर दावा मजबूत कर लिया है।  हालिया प्रदर्शन: पिछले साल वेस्ट इंडीज के खिलाफ दो वनडे खेले, 1 ही विकेट ले सके  अश्विन स्कीम में नहीं  चाहे वेस्टइंडीज की पिच हो, इंग्लैंड की या कहीं और की आज हर जगह स्पिनर्स की भूमिका अहम हो गई है। भारतीय टीम भी कम से कम दो स्पिनर्स के साथ वर्ल्ड कप के लिए इंग्लैंड जाएगी। पिछले कुछ समय से कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल जिस तरह का प्रदर्शन कर रहे हैं, उसे देखते हुए अनुभवी आर अश्विन की जगह बनती नहीं दिख रही।&


  हालिया प्रदर्शन:मौजूदा सीजन के दौरान घरेलू वनडे टूनार्मेंट देवधर ट्रोफी में खेले और दो मैचों में तीन विकेट ही ले सके  रहाणे ठोक रहे दावा पिछली बार वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा रहे अजिंक्य रहाणे ने आखिरी वनडे पिछले साल फरवरी में खेला था। रोहित शर्मा और शिखर धवन की मौजूदगी में ओपनिंग में उनकी जगह बनती तो नहीं दिख रही लेकिन हाल के दिनों में घरेलू टूर्नमेंटों में किए गए बढ़िया प्रदर्शन की बदौलत वह भी अपना दावा ठोक रहे हैं।  हालिया प्रदर्शन: इस सीजन घरेलू वनडे विजय हजारे में दो अर्धशतक सहित 257 रन बनाए जबकि इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ 2 फिफ्टी सहित 150 रन बनाए  पंत को कड़ी चुनौती विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को वनडे में ज्यादा मौका तो नहीं मिला है लेकिन उन्होंने इंग्लैंड और आॅस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में जिस तरह की बल्लेबाजी की है, चयनकर्ता उनके नाम पर जरूर गौर करेंगे। इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ वनडे सीरीज में भी उनका बल्ला चला है। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी के रहते टीम में दूसरे विकेटकीपर के लिए जगह फिलहाल नहीं है। अतिरिक्त विकेटकीपर के तौर पर दिनेश कार्तिक को चयनकर्ता लगातार परख रहे हैं। इन दोनों के अलावा अंबाती रायुडू और केदार जाधव भी जरूरत पड़ने पर विकेट के पीछे मोर्चा संभालने की काबिलियत रखते हैं। ऐसे में पंत को इन दिग्गजों से कड़ी चुनौती मिलेगी। हालिया प्रदर्शन: 21 अक्टूबर 2018 को वेस्टइंडीज के खिलाफ डेब्यू किया। अब तक 3 वनडे खेले, 41 रन बनाए 21 के एवरेज से  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति