पाक शूटर्स को वीजा नहीं देने से भारत को झटका, इंटरनेशनल इवेंट्स की मेजबानी पर आईओसी ने लगाया बैन



नई दिल्ली। भारत को करारा झटका लगा जब पाकिस्तानी शूटर्स को विश्व कप के लिए वीजा नहीं देने के चलते अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति (आईओसी) ने भविष्य में उसके द्वारा किसी भी इंटरनेशनल खेल इवेंट की मेजबानी पर प्रतिबंध लगा दिया। इससे भारत के ओलिंपिक खेलों की मेजबानी की उम्मीदों को झटका लगा है। भारत ने विश्व कप के 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल इवेंट में हिस्सा लेने वाले दो पाकिस्तानी शूटर्स को वीजा देने से इंकार कर दिया था।


इसके बाद अंतरराष्ट्रीय औलिंपिक समिति ने दिल्ली विश्व कप में ओलिंपिक कोटा स्थान को 16 से घटाकर 14 कर दिया। इसके साथ ही आईओसी ने भारत को किसी भी अंतरराष्ट्रीय खेल इवेंट की मेजबानी करने से निलंबित कर दिया जब तक कि वे ओलिंपिक चार्टर का पालन करने की लिखित गारंटी नहीं देता है। आईओसी ने लुसाने में लंबी बैठक के बाद यह फैसला किया। पाकिस्तानी शूटर्स को वीजा नहीं देने की वजह से 25 मीटर रैपिट फायर पिस्टल वर्ग में इस विश्व कप के दौरान ओलिंपिक कोटा नहीं रहेगा। यह विश्व कप दिल्ली में खेला जा रहा है।


उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादियों के आत्मघाती हमले मे सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद से पूरे देश में गुस्सा है और पाकिस्तान के साथ सभी प्रकार के संबंध तोड़ने की मांग की जा रही है। दिल्ली में चल रहे शूटिंग विश्व कप में पाकिस्तान के जीएम बशीर और खलील अहमद को 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल इवेंट में हिस्सा लेना था लेकिन भारत ने इन दो शूटर्स और उनके कोच को वीजा नहीं दिया जिसके चलते आईओसी ने यह कदम उठाया और इस इवेंट को ओलिंपिक कोटा वापस ले लिया। आईओसी ने कहा कि जब तक भारत ओलिंपिक चार्टर के पालन की लिखित गारंटी नहीं देगा तब तक उसके ओलिंपिक से जुड़े इंटरनेशनल इवेंट्स की मेजबानी पर प्रतिबंध रहेगा। 

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति