राहुल ने मोदी पर तीखा हमला, कहा- पीएम की रैली में झूठ सुनने को मिलेगा, जबकि मेरी रैली में सच्चाई



लखनऊ। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को बदायूं में जनसभा की और यहां लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला। राहुल ने सभा में कहा, 'मोदी की रैली में झूठ सुनने को मिलेगा, जबकि मेरी रैली में सच्चाई। हम 15 लाख रुपये जैसे झूठे वादे नहीं करते हैं। हम भारत की गरीब जनता के साथ न्याय करेंगे


'  सभा में राहुल गांधी ने यह भी कहा कि उनकी सरकार बनने पर वह राफेल डील की जांच भी कराएंगे और उसमें कोई भी बच नहीं सकेगा। राहुल गांधी ने कहा, 'जैसे ही अनिल अंबानी का पैसा आएगा वैसे ही गरीबों को भेज दिया जाएगा। हिंदुस्तान की फैक्ट्रियां काम करना शुरू करेंगी तो लोगों को रोजगार मिलना शुरू हो जाएगा। इसीलिए हमने इस योजना का नाम 'न्याय' रखा है। कांग्रेस की सरकार बनते ही हम कानून में बदलाव करेंगे।


हिंदुस्तान का कोई भी किसान कर्ज न लौटाने की वजह से जेल में नहीं डाला जा सकेगा।'  उन्होंने आगे कहा कि एक तरफ अन्याय है और दूसरी तरफ न्याय है। इस चुनाव में यही लड़ाई है। पीएम मोदी पर तंज कसते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा कि चौकीदार ने जीएसटी लागू कर चोरों की जेब में हजारों करोड़ रुपये डाले। गरीबों से पैसा छीनकार नीरव मोदी और अनिल अंबानी को दे दिया। अनिल अंबानी से पैसा छीनकर गरीबों को दिया जाएगा।


  'एसपी, बीएसपी और बीजेपी ने उत्तर प्रदेश को किया बर्बाद'  बदायूं में जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने एसपी और बीएसपी पर भी हमला बोला। यह पहली बार था जब राहुल ने एसपी और बीएसपी को भी निशाने पर लिया। गांधी ने कहा कि एसपी और बीएसपी ने बीजेपी के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर दिया।


एसपी प्रमुख अखिलेश यादव और बीएसपी प्रमुख मायावती का नाम लिए बिना राहुल गांधी ने कहा, 'आप सभी ने देखा कि कांग्रेस बीजेपी के खिलाफ लड़ी और नारा दिया 'चौकीदार चोर है।' लेकिन क्या आपने कभी एसपी और बीसएपी के नेताओं को यह नारा बोलते हुए सुना या देखा है? आखिर उन्होंने अब तक क्यों यह नारा नहीं बोला? क्योंकि वे सभी मोदी जी से डरते हैं।'  वहीं राहुल गांधी ने अपनी योजना 'न्याय' की घोषणा के अलावा 10 करोड़ परिवारों के लिए खत भी लिखा, जिसे कांग्रेस अगले तीन दिनों के अंदर सभी संबंधित लोगों तक पहुंचाएगी। खत में लिखा गया है कि सरकार बनने पर हर साल उनके खाते में 72 हजार रुपए डाले जाएंगे और यह घर की महिला सदस्य के खाते में जाएंगे। इसका भी जिक्र है कि इसपर कोई टैक्स नहीं लगेगा। 

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति