प्रियंका का पहला दौरा आज, कांग्रेस के चमत्कारिक प्रदर्शन की डगर नहीं आसान



लखनऊ। कांग्रेस महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा की राजनीतिक एंट्री का मंच सज गया है। कांग्रेस कार्यकर्ता उत्साह में हैं। एयरपोर्ट से प्रदेश कांग्रेस कार्यालय तक जगह-जगह स्वागत के लिए नेताओं को जिम्मेदारी दे दी गई है। बकौल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर यह कांग्रेस के राजनीतिक इतिहास का स्वर्णिम दिन होगा। हालांकि, प्रियंका गांधी वाड्रा की राह में चुनौतियां कम नहीं हैं। प्रदेश में अपने बुरे दौर से गुजर रही कांग्रेस के चमत्कारिक प्रदर्शन की डगर इतनी आसान नहीं है।  प्रियंका के सामने 3 बड़ी चुनौतियां 1- प्रियंका गांधी वाड्रा के लिए सबसे बड़ी चुनौती यहां के संगठन को फिर से खड़ा करने की होगी। अब जबकि चुनाव करीब हैं तो इतने कम समय में यह बिल्कुल भी आसान नहीं होने जा रहा है। कांग्रेस के सूत्र बताते हैं कि कई जिलों में तो केवल कागजों पर ही संगठन चल रहा है। केवल अध्यक्ष के नाम तय हैं, लेकिन इसके बाद संगठन का अता-पता ही नहीं है।  2- प्रियंका के लिए पति रॉबर्ट वाड्रा पर लगने वाले आरोपों का सामना भी करना होगा। प्रियंका जब लोकसभा क्षेत्रों में जाएंगी, तो उन्हें वाड्रा पर उठ रहे सवालों के जवाब देने होंगे।


  3-पार्टी अपने उस दौर से जूझ रही है, जहां हर लोकसभा सीट पर उसके पास मजबूत उम्मीदवार भी नहीं हैं। ऐसे में प्रियंका को इस समस्या से भी निजात पानी होगी। कम से कम उन्हें ऐसे उम्मीदवार का चुनाव करना होगा जो पार्टी को कम से कम लड़ता हुआ दिखा सके।  नमस्कार! मैं प्रियंका बोल रही हूं...  रविवार देर शाम को प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया का एक आॅडियो वायरल होने लगा। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पर इसे सुनाया जाने लगा। इसमें प्रियंका गांधी ने कहा है, 'नमस्कार, मैं प्रियंका गांधी वाड्रा बोल रही हूं। कल आप सभी से मिलने मैं लखनऊ आ रही हूं। मेरे दिल में आशा है कि हम सब मिलकर एक नई राजनीति की शुरूआत करेंगे, ऐसी राजनीति जिसमें आपसब भागीदार होंगे। मेरे युवा दोस्त, मेरी बहनें और सबसे कमजोर व्यक्ति सबकी आवाज सुनाई देगी। आइए मेरे साथ मिलकर एक नए भविष्य, एक नई राजनीति का निर्माण करें।'  100 से ज्यादा स्वागत स्थल  एयरपोर्ट से प्रदेश कांग्रेस कार्यालय तक पहुंचने के बीच 100 से ज्यादा स्वागत स्थल चिह्नित किए गए हैं।


कानपुर, उन्नाव, सीतापुर, लखीमपुर, फैजाबाद, सुलतानपुर, अमेठी, रायबरेली, बाराबंकी, फैजाबाद आदि जिलों से कार्यकर्ता स्वागत के लिए पहुंचेंगे। इसके अलावा उत्तराखंड से एक विशेष दल तीनों नेताओं के स्वागत के लिए पहुंच गया है। कांग्रेस के लखनऊ प्रभारी विनोद मिश्र ने बताया कि अवध चौराहे के आगे लखनऊ के कार्यकर्ता स्वागत करेंगे।  रथ आया पंजाब से, सजा कांग्रेस कार्यालय  कांग्रेस कार्यालय को पूरी तरह सजा दिया गया है। कांग्रेस झंडे की पट्टियां पूरे कार्यालय पर लगा दी गई हैं। जिस रथ में तीनों नेता सवार होकर आएंगे, वह भी रविवार देर शाम पंजाब से पहुंचा। पूरे शहर में पोस्टर, बैनर और होडिंर्गें स्वागत के लिए लगा दी गई हैं।  प्रियंका और ज्योतिरादित्य 14 तक अपने-अपने प्रभार वाले लोकसभा क्षेत्र के संगठन और वरिष्ठ नेताओं से एक-एक करके मुलाकात करेंगे। इसके बाद दोनों नेता 18 से 21 तक 'ग्राउंड जीरो' से बैठक के दावों की हकीकत परखेंगे।  संपर्क करने पहुंचे नेता  सोमवार को होने वाले रोड शो में पहुंचने के लिए नेताओं ने जगह-जगह जनसंपर्क किया। पूरे शहर में अलग-अलग टोलियां बनाकर लोग जनता से मिलने पहुंचे और उन्हें रोड शो में शामिल होने की अपील की। पुराने लखनऊ में कृपाशंकर, सिराज मेंहदी, मारूफ खान समेत अन्य नेताओं ने लोगों से लालबाग की रैली में पहुंचने की अपील की।  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति