वाराणसी में पीएम मोदी 26 को दाखिल करेंगे नामांकन, करेंगे ऐतिहासिक रोड शो



वाराणसी। वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नामांकन और रोड शो को बीजेपी ऐतिहासिक बनाने की तैयारी में जुट गई है। मोदी 26 अप्रैल को यहां से अपना पर्चा दाखिल करेंगे। कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों की फौज यहां मोर्चा संभालने आ रही है। बीजेपी शासित तमाम राज्यों के सीएम के अलावा बिहार के सीएम नीतिश कुमार के आने की भी खबर है। कुछ केंद्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, पीयूष गोयल के आने का प्रोग्राम बन चुका है। मोदी के जनता दर्शन को कामयाब बनाने के लिए पार्टी काडर पूरे शहर में तैयारी कर रहा है।  मिनी इंडिया बन जाएगा बनारसी  2014 के चुनाव की तुलना में इस बार पीएम मोदी का रोड शो बेहद खास होगा। मिनी इंडिया के साथ बनारस की पहचान व संस्कृति से जुड़े हर रंग दिखाई देंगे। पांच लाख की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। कमल रथ पर सवार मोदी करीब 10 किलोमीटर की दूरी तय कर पर्चा भरने पहुंचेंगे।


  पिछली बार सांसद चुनने के अगले दिन मोदी गंगा तट पहुंचे थे, लेकिन इस बार नामांकन से पहले 25 अप्रैल को गंगा की पूजा करेंगे और आरती में शामिल होंगे। चुनावी रथ शहर के पुराने इलाकों से होते हुए गंगा तट पर खत्म होगा।  जुलूस में कमल रथ  पूरा शहर लगभग भगवा नजर आएगा। सभी राज्यों से मोदी समर्थक अपने पारंपरिक वेशभूषा में घंटा-घड़ियाल से लेकर शंख-डमरू बजाते हुए जुलूस का हिस्सा बनेंगे। एक खुली गाड़ी को पीएम मोदी के रथ के रूप में खासतौर पर कमल के फूलों से सजाया जाएगा। रास्ते में गुलाब की पखुंड़ियों की बौछार होगी। चुनाव प्रभारी एमएलसी लक्ष्मण आचार्य के मुताबिक बूथ स्तर के कार्यकर्ता से लेकर बड़े नेता तक मठ, मंदिर, प्रबुद्धजन, प्रभावशाली व अलग-अलग वर्ग के लोगों से मिलकर सपरिवार नामांकन जुलूस में आने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं।  बनारस के ज्योतिषियों की सलाह के अनुसार मोदी बेहद शुभ 'साध्य योग' में नामांकन करेंगे।


ज्योतिषियों का कहना है कि उस दिन भद्रा काल नहीं होगा तो सभी ग्रह-नक्षत्र अनुकूल होंगे। बीएचयू के ज्योतिष विभागाध्यक्ष प्रो. विनय कुमार पांडेय के मुताबिक साध्य योग अपने नाम के अनुसार ही फल देता है। अंक ज्योतिष के अनुसार मूलांक 8 यानी 26 तारीख पीएम मोदी के लिए शुभकारी है। मोदी ने 26 मई 2014 को शपथ ली थी तो 8 नवम्बर 2016 को नोटबंदी जैसा कड़ा फैसला सुनाया था। प्रमुख योजनाएं और कार्यक्रम शुरू करने के लिए भी मोदी 8, 26 और 17 तारीख ही चुनते रहे हैं।  डोम राजा से लेकर चाय-पान वाले तक इस शो को भव्य और ऐतिहासिक बनाने का खाका बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने खींचा है। रीवर व वीवर यानी निषाद और बुनकर के साथ बनारसी संस्कृति-परंपराओं से जुड़े तथा समाज के विभिन्न क्षेत्र में प्रभाव रखने वालों को जोड़ने की कवायद से पीएम मोदी के प्रस्तावक बनने वालों की सूची में काशी के डोम राजा के वंशज से लगायत मशहूर चाय-पान, मिठाई वालों के नाम शामिल किए गए हैं। प्रस्तावकों के नाम पर मुहर लगाने के लिए सूची बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को भेजने की तैयारी है।  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति