आजम खान ने फिर किया अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल, मोदी-योगी के खिलाफ दिया आपत्तिजनक बयान



रामपुर। बयानों की वजह से विवादों में रहने वाले आजम खान समाजवादी पार्टी (एसपी)-बीएसपी गठबंधन में रामपुर लोकसभा सीट से प्रत्याशी हैं। मायावती, अखिलेश शनिवार को आजम खान के समर्थन में रामपुर में रैली करने गए थे। यहां पर जनसभा के दौरान आजम खान ने भाषा की सारी मर्यादा तार-तार कर दी। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ आपत्तिजनक बयान दिया


 आजम खान ने कहा, 'तुझको मालूम है दुनिया तुझे क्या कहती है, हाथ रख लेती है कानों पर तेरे नामों के साथ। कुछ दिन और रहे गर यही हालात-ए-चमन, बैठ सकता सय्याद भी आराम के साथ।


....इंकलाब है जुल्म के खिलाफ, नाइंसाफी के खिलाफ, फ्रिज से गोश्त निकालकर इंसान की जान लेने वालों के खिलाफ, जानवर के जिस्म से खाल उताकर अपने बच्चों को रोटी देने वाले, इंसानों के जिस्म से खाल उतारने वाले दरिंदों के खिलाफ, इंकलाब है ये, एक ऐसा इंकलाब जिसमें आग बरसेगी आसमान से, जिसमें जमीन से पानी उगलेगा। जालिम को उसके एक-एक जुर्म का बदला चुकाना पड़ेगा। पिछले पांच बरस हिंदुस्तान के 125 करोड़ लोग खून के आंसू रोए हैं।


मजदूर रोया है, किसान रोया है, मां रोई है, बहन रोई है, बेटी रोई है, नंगा रोया है, भूखा रोया है। आओ इंतकाम लो, एक-एक आंसू का बदला लो। तुम्हारा उधार है। तुम्हारा कर्ज है।


'  माया-अखिलेश के सामने आजम का विवादित बयान  समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती के सामने आजम खान ने कहा, 'तुम्हारे साथ धोखा हुआ है, तुम्हें बर्बाद किया है, तुम्हें लूटा है, तुम्हारे साथ पांच साल तक जिल्लत हुई है। इंसानियत के कातिल हैं ये, जो इनसे बदला नहीं लेगा, जो जुल्म के खिलाफ नहीं लड़ेगा वह भी जालिम है। सोच लो यह पहला मौका मिला है 70 साल की आजादी के बाद, यह ख्वाब पहली बार शमिंर्दा-ए-ताबीर हुआ है। ऐ कमजोरों, ऐ जमाने के सताए हुए लोगों, वे लोग जिन्हें मंदिर की दहलीज तक नहीं जाने दिया गया। सदियों नाइंसाफी झेलने वाले लोग एक मंच पर आए हैं। आओ तारीख बदल दो।'  'तुम्हारे बगैर हिंदुस्तान की तकदीर का फैसला नहीं हो सकता' आजम खान ने कहा, 'हिंदुस्तान का मुकद्दर तुम्हारे हाथ में है। तुम्हारे सिरों का ये सैलाब हिंदुस्तान की तारीख बदलेगा। मैंने हमेशा कहा है कि इंसाफ करने वालों इंसाफ करो, इंसाफ नहीं करोगे तो आसमान वाला इंसाफ करेगा। जमीनें फट जाएंगी, आंधियां आएंगी, तूफान आएगा और लोग अपने गुनाहों की सजा पाएंगे। तुम्हारे बगैर कल के हिंदुस्तान की तकदीर का फैसला नहीं हो सकता है।'  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति