मणिकार्णिका ने मुझे एक महिला के तौर पर सशक्त किया है, फिल्म प्रखर राष्ट्रवाद की बात करती है - कंगना रनौत



मुंबई। फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने मुंबई में दिए एक इंटरव्यू में कहा कि फिल्म मणिकर्णिका द क्वीन ऑफ झांसी ने उन्हें एक महिला के तौर पर सशक्त किया है। गौरतलब है कि इस फिल्म में वह झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका निभा रही हैं


इस बारे में बताते हुए कंगना रनौत कहती हैं, 'किसी भी महिला, जिसमें जो भी कुछ कमी हो, उसकी भूमिका को निभाना आसान होता है लेकिन एक ऐसी महिला की भूमिका निभाना जोकि पूर्ण रूप से परिपूर्ण हो उसकी भूमिका निभाना बहुत कठिन काम होता है।


जब मैंने इस फिल्म पर काम करना शुरू किया तो शुरुआत में मुझे बहुत कठिनाई आई क्योंकि यह भूमिका बहुत ही विश्वास, श्रद्धा और भक्ति की मांग करती थी।


जब मैंने पहली बार फिल्म मणिकर्णिका साइन की थी तो सबसे पहले मुझे यही ख्याल दिमाग में आया था कि अब तक किसी ने झांसी की रानी लक्ष्मीबाई पर फिल्म क्यों नहीं बनाई। तब मुझे लगा कि यह मेरे नसीब में ही था, जिसके लिए मैं यह फिल्म कर रही हूं।


इस फिल्म के माध्यम से हमने इतिहास को उतना ही वर्तमान रखने का प्रयत्न किया है जितना कि वह रहा है। यह फिल्म प्रखर राष्ट्रवाद की बात करता है और उसे बहुत अच्छे तरीके से दर्शाता भी है। फिल्मों में अब तक प्यार मध्य में रखकर फिल्में बनाई जाती थी लेकिन इस फिल्म के माध्यम से हमने उससे आगे की बात कही है।' फिल्म मणिकर्णिका द क्वीन ऑफ झांसी 25 जनवरी को रिलीज होने वाली है। इस फिल्म में सोनू सूद और अंकिता लोखेंडे की भी अहम भूमिका है।

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति