न्यूजीलैंड में गोलीबारी के बाद भारतीय मूल के 9 लोगों के लापता होने की खबरें



वेलिंगटन/नई दिल्ली। न्यू जीलैंड के क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में हुई गोलीबारी के बाद भारतीय नागरिकता वाले या भारतीय मूल के कम से कम नौ लोगों के लापता होने की खबरें हैं। गोलीबारी की इन घटनाओं में 49 लोग मारे गए हैं। अपुष्ट खबरों के मुताबिक, इस गोलीबारी में दो भारतीयों के घायल होने की भी खबर है।  अधिकारियों ने बताया कि किसी भी प्रकार की सहायता और जानकारी के लिए न्यू जीलैंड में भारतीय उच्चायोग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। ये हेल्पलाइन नंबर 021803899 और 021850033 हैं। हमले में घायल हुए भारतीयों के परिवारवालों को न्यू जीलैंड के वीजा भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। आपको बता दें कि न्यूजीलैंड में तकरीबन दो लाख भारतीय और भारतीय मूल के लोग रहते हैं। भारतीय उच्चायोग के आंकड़ों के अनुसार इस देश में 30 हजार से अधिक भारतीय छात्र हैं।


  भारतीय उच्चायुक्त संजीव कोहली ने ट्वीट किया, 'कई सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, भारतीय नागरिकता/भारतीय मूल के नौ लोग लापता हैं। आधिकारिक पुष्टि का अभी भी इंतजार किया जा रहा है। मानवता के खिलाफ भारी अपराध। उनके परिवारों के लिए हमारी प्रार्थना।' उन्होंने कहा, 'क्राइस्टचर्च के उस समुदाय के सदस्यों के प्रति मेरी गहरी कृतज्ञता, जो आज के भयावह हमले के पीड़ितों के बारे में हमारे लिए जानकारी जुटाने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। इस समर्पण और एकजुटता से बेहतर कोई दूसरा उदाहरण नहीं हो सकता।'  अभी तक कोई आधिकारिक बयान नहीं  हालांकि किसी भी अधिकारी ने इस मामले में आधिकारिक पुष्टि नहीं की है। न्यू जीलैंड में रहने वाले दो भारतीय मूल के लोगों के रिश्तेदारों ने कहा कि उन्हें उनके घायल होने की खबर मिली है।


इनमें से अहमद इकबाल जहांगीर हैदराबाद के रहने वाले हैं और वह क्राइस्टचर्च में एक रेस्ट्रॉन्ट चलाते हैं। वहीं महबूब खोखर अहमदाबाद के रहने वाले हैं। जहांगीर के रिश्तेदार मोहम्मद अहमद जुबेर ने बताया कि उन्हें इस घटना की जानकारी न्यू जीलैंड में रहने वाले जहांगीर के एक दोस्त से मिली। वहीं 65 वर्षीय महबूब अहमदाबाद के जुहापुरा के रहने वाले हैं। महबूब गुजरात विद्युत बोर्ड के एक रिटायर्ड कर्मचारी हैं और वह दो महीने पहले अपनी पत्नी के साथ बेटे से मिलने न्यू जीलैंड गए थे। उनका बेटा इमरान क्राइस्टचर्च के फिलिपस्टाउन में रहता है।  जुहापुरा में रहने वाले महबूब के रिश्तेदार हाफिज ने हमारे सहयोगी समाचार पत्र टाइम्स आॅफ इंडिया से कहा, 'इमरान ने बताया कि उनके पिता अल नूर मस्जिद में हुई गोलीबारी में घायल हो गए हैं।' स्थानीय अधिकारी महबूब को हॉस्पिटल ले गए लेकिन वे परिवारवालों को उनकी हालत के बारे में कुछ नहीं बता रहे हैं। इमरान 2010 में उच्च शिक्षा के लिए न्यू जीलैंड गए थे और फिर पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने वहीं कूरियर और ट्रांसपोर्ट सर्विस कंपनी का सेटअप तैयार कर लिया था।  

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति