मोदी-शाह के गृहराज्य में सेंध लगाने की तैयारी में कांग्रेस, 13 लोस सीटें जीतने रखा लक्ष्य



अहमदाबाद। हिंदी हार्टलैंड के तीन राज्यों में सरकार बनाने के बाद आत्मविश्वास से लबरेज कांग्रेस की नजरें अब गुजरात पर हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के गृहराज्य गुजरात में कांग्रेस ने पिछली हार को भूलते हुए 13 लोकसभा सीटें जीतने का लक्ष्य बनाया है। 2014 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस यहां एक भी सीट जीतने में नाकाम रही थी।   बताया जा रहा है कि गुजरात की 26 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस ने मिशन 50 फीसदी का प्लान बनाया है और उन 13 सीटों की पहचान कर ली है जहां से उसे जीत की उम्मीद है। इसके लिए पार्टी ने जमीनी स्तर पर बूथ लेवल कमिटी के साथ काम शुरू कर दिया है और प्रतिबद्ध पार्टी कार्यकतार्ओं की खोज की जा रही है।


  विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार, मिशन 50 फीसदी 13 लोकसभा सीटों पर नजर बनाए हुए है। ये सीटे हैं- आणंद, अमरेली, बनासकांठा, साबरकांठा, पाटन, जूनागढ़, दाहोद, बारडोली, सुरेंद्रनगर, जामनगर, पोरबंदर, भरूच और मेहसाणा। इन सीटों की पहचान पिछले दो विधानसभा चुनाव और दो लोकसभा चुनाव के परिणामों पर बारीकी से अध्ययन करने के बाद की गई है। नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक वरिष्ठ कांग्रेस पदाधिकारी ने बताया, 'ये निर्वाचन क्षेत्र ज्यादातर ग्रामीण इलाकों में आते हैं या फिर आरक्षित हैं जहां कांग्रेस की पकड़ रही है और अधिक समर्थन प्राप्त करने की उम्मीद है।'  पार्टी ने इन विधानसभा क्षेत्रों के अंतर्गत प्रत्येक सीट पर एक गुजरात कांग्रेस सचिव को नियुक्त किया है।


सचिवों को योजना के अनुसार काम करने के लिए कहा गया है जिसमें बूथ स्तरीय कार्यकतार्ओं को ढूंढना, उन्हें उचित कमिटी में शामिल करना, पूरे विधानसभा क्षेत्र में प्रत्येक सक्रिय कांग्रेस कार्यकर्ता की पहचान करना और पार्टी कार्यकतार्ओं के साथ मीटिंग करना शामिल है। पार्टी पदाधिकारी ने कहा, 'यह योजना प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के तहत आने वाले करीब 270 बूथों में लागू की जाएगी।' कांग्रेस नेतृत्व ने उम्मीदवारों की एक विस्तृत सूची को अंतिम रूप दिया है। एक पदाधिकारी ने बताया, 'इनमें से कई अपने-अपने इलाकों में काम शुरू भी कर चुके हैं। हालांकि लिस्ट की घोषणा चुनाव के नजदीक आने पर की जाएगी।'  जमीनी स्तर के पूरे काम की निगरानी प्राइवेट कंसेल्टेंसी द्वारा भी की जाएगी जो डेटा को प्रमाणित करेगा और अपने स्तर पर कार्यकतार्ओं को समर्थन देगा। फिलहाल गुजरात कांग्रेस के प्रभारी जितेंद्र बघेल और बिश्वरंजन मोहंती मिशन 50 फीसदी की निगरानी कर रहे हैं।

loading...



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति